OTT प्लेटफार्मों पर अश्लील सामग्री के खिलाफ कार्रवाई: सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने 19 वेबसाइट, 10 ऐप्स, 57 सोशल मीडिया हैंडल पर लगाया बैन

By SHUBHAM SHARMA

Published on:

Follow Us
OTT-BAN

Join WhatsApp

Join Now

Join Telegram

Join Now

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने हाल ही में ओटीटी प्लेटफार्मों पर अश्लील, अश्लील, और अन्य असंगत सामग्री के खिलाफ कठोर कार्रवाई का ऐलान किया है। केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर की कई चेतावनियों के बाद अश्लील और अश्लील सामग्री के लिए 18 ओटीटी प्लेटफॉर्म ब्लॉक कर दिए गए. देशभर में ओटीटी प्लेटफॉर्म की 19 वेबसाइट, 10 ऐप्स, 57 सोशल मीडिया हैंडल ब्लॉक किए गए

सूचना और प्रसारण मंत्रालय (I&B) ने अश्लील, अश्लील और कुछ मामलों में अश्लील सामग्री प्रकाशित करने वाले 18 ओटीटी प्लेटफार्मों को ब्लॉक करने के लिए विभिन्न मध्यस्थों के साथ समन्वय में कार्रवाई की है। 19 वेबसाइटें, 10 ऐप्स (Google Play Store पर 7, Apple App Store पर 3), और इन प्लेटफ़ॉर्म से जुड़े 57 सोशल मीडिया अकाउंट भारत में सार्वजनिक पहुंच के लिए अक्षम कर दिए गए हैं।

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री अनुराग सिंह ठाकुर ने बार-बार ‘रचनात्मक अभिव्यक्ति’ की आड़ में अश्लीलता और दुर्व्यवहार का प्रचार न करने के लिए प्लेटफार्मों की जिम्मेदारी पर जोर दिया है। 12 मार्च, 2024 को श्री ठाकुर ने घोषणा की कि अश्लील और अश्लील सामग्री प्रकाशित करने वाले 18 ओटीटी प्लेटफार्मों को हटा दिया गया है।

हालिया निर्णय भारत सरकार के अन्य मंत्रालयों/विभागों और मीडिया और मनोरंजन, महिला अधिकारों और बाल अधिकारों में विशेषज्ञता वाले डोमेन विशेषज्ञों के परामर्श से सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम, 2000 के प्रावधानों के तहत लिया गया था।

List of OTT Platforms

Dreams FilmsVooviYessmaUncut AddaTri FlicksX Prime
Neon X VIPBesharamsHuntersRabbitXtramoodNuefliks
MoodXMojflixHot Shots VIPFugiChikooflixPrime Play

इन प्लेटफार्मों पर होस्ट की गई सामग्री का एक महत्वपूर्ण हिस्सा अश्लील, अश्लील और महिलाओं को अपमानजनक तरीके से चित्रित करने वाला पाया गया। इसमें विभिन्न अनुचित संदर्भों में नग्नता और यौन कृत्यों को दर्शाया गया है, जैसे कि शिक्षकों और छात्रों के बीच संबंध, अनाचारपूर्ण पारिवारिक रिश्ते, आदि। सामग्री में यौन संकेत शामिल थे और, कुछ उदाहरणों में, किसी भी विषयगत या सामाजिक से रहित अश्लील और यौन रूप से स्पष्ट दृश्यों के लंबे खंड शामिल थे। प्रासंगिकता।

सामग्री को प्रथम दृष्टया आईटी अधिनियम की धारा 67 और 67ए, आईपीसी की धारा 292 और महिलाओं के अश्लील प्रतिनिधित्व (निषेध) अधिनियम, 1986 की धारा 4 का उल्लंघन माना गया था।

महत्वपूर्ण दर्शक संख्या

ओटीटी ऐप्स में से एक को 1 करोड़ से अधिक डाउनलोड मिले, जबकि दो अन्य को Google Play Store पर 50 लाख से अधिक डाउनलोड मिले। इसके अतिरिक्त, इन ओटीटी प्लेटफार्मों ने दर्शकों को अपनी वेबसाइटों और ऐप्स पर आकर्षित करने के उद्देश्य से ट्रेलरों, विशिष्ट दृश्यों और बाहरी लिंक को प्रसारित करने के लिए बड़े पैमाने पर सोशल मीडिया का उपयोग किया। संबंधित ओटीटी प्लेटफार्मों के सोशल मीडिया खातों पर 32 लाख से अधिक उपयोगकर्ताओं की संचयी फ़ॉलोअरशिप थी।

सोशल मीडिया प्लेटफार्म

Social Media PlatformNumber of Accounts
Facebook12
Instagram17
X (formerly Twitter)16
YouTube12

ओटीटी प्लेटफॉर्म्स के साथ लगातार जुड़ाव

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय बैठकों, वेबिनार, कार्यशालाओं आदि के माध्यम से आईटी नियम, 2021 के तहत स्थापित ओटीटी प्लेटफार्मों और उनके स्व-नियामक निकायों के साथ लगातार संवेदीकरण प्रयास करता है।

भारत सरकार ओटीटी उद्योग की वृद्धि और विकास को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है। इस संबंध में कई उपाय किए गए हैं, जिनमें 54वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में वेब सीरीज के लिए उद्घाटन ओटीटी पुरस्कार की शुरुआत, मीडिया और मनोरंजन क्षेत्र में ओटीटी प्लेटफार्मों के साथ सहयोग और हल्के स्पर्श नियामक ढांचे की स्थापना शामिल है। आईटी नियम, 2021 के तहत स्व-नियमन पर जोर।

क्या इस कदम से स्वतंत्रता की मान्यता पर असर होगा?

नहीं, यह कदम केवल अश्लीलता के खिलाफ है।

क्या यह सामाजिक मुद्दा है या नहीं?

हां, यह एक महत्वपूर्ण सामाजिक मुद्दा है जिस पर सरकार को कदम उठाना चाहिए।

क्या इससे क्या असर होगा ओटीटी प्लेटफार्मों पर?

इससे ओटीटी प्लेटफार्मों को सावधान होना होगा और सामग्री को जांचने में ज्यादा ध्यान देना होगा।

क्या यह अभिव्यक्ति की चुनौती है?

हां, लेकिन सामजिक समर्थन के साथ सरकारी कदम लिया जा रहा है।

क्या ओटीटी प्लेटफार्मों पर किसी और कदम की संभावना है?

हां, सरकार सक्रिय रूप से समस्या का समाधान करने के लिए और कदम उठा सकती है।

अब आप सोशल मीडिया पर इस लेख को शेयर करें और अपने विचार जानें।

SHUBHAM SHARMA

Khabar Satta:- Shubham Sharma is an Indian Journalist and Media personality. He is the Director of the Khabar Arena Media & Network Private Limited , an Indian media conglomerate, and founded Khabar Satta News Website in 2017.

Leave a Comment