WHO ने खान-पान पर जारी की गाइडलाइन, जानें- क्या करें, क्या नहीं

- Advertisement -

कोरोना वायरस को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन की तरफ से कई गाइडलाइन जारी की जा चुकी हैं. सफाई और सुरक्षा को लेकर कई तरह के दिशानिर्देश जारी किए जा रहे हैं. इसी क्रम में WHO की तरफ से फूड सेफ्टी को लेकर कुछ और टिप्स दिए गए हैं. साथ ही यह बताया गया है कि यह क्यों जरूरी है. आइए जानते हैं कि खाने को सुरक्षित रखने के लिए किन 5 तरीकों का इस्तेमाल किया जा सकता है.

सफाई का विशेष ध्यान रखें

खाना बनाने या कोई भी खाद्य सामग्री छूने से पहले हाथों को अच्छी तरह साफ कर लें. टॉयलेट के बाद हाथों को अच्छे से धोएं. खाना बनाने के लिए इस्तेमाल होने वाली सारी सतह को अच्छे से धोएं और सैनिटाइज कर लें. किचन एरिया को किसी भी तरह के कीड़े-मकोड़े और जानवरों से दूर रखें.

- Advertisement -

क्यों है जरूरी?
अधिकांश सूक्ष्मजीव बीमारी का कारण नहीं होते हैं लेकिन गंदी जगहों, पानी और जानवरों में खतरनाक सूक्ष्मजीव व्यापक रूप से पाए जाते हैं. यह सूक्ष्मजीव बर्तन पोंछने, किचन के अन्य कपड़ों और कटिंग बोर्ड में आसानी से आ जाते हैं जो हाथों के जरिए खानों में पहुंच सकते हैं. इससे कई तरह के खाद्य जनित रोग हो सकते हैं.

कच्चा और पका हुआ खाना अलग-अलग रखें

यह भी पढ़े :  क्या मच्छर मक्खियों से Corona Virus फैलता है ? सच्चाई जानिए
- Advertisement -

कच्चे मीट, चिकन या सी फूड्स को अन्य खाद्य पदार्थों से दूर रखें. कच्चे भोजन के लिए सामग्री और बर्तन अलग रखें. कच्चे भोजन में इस्तेमाल होने वाले कटिंग बोर्ड्स और चाकू का इस्तेमाल फिर दूसरा खाना बनाने में ना करें. कच्चे और पके भोजन के बीच दूरी बनाने के लिए उन्हें किसी बंद बर्तन में रखें.

क्यों है जरूरी?

- Advertisement -

कच्चे भोजन, विशेष रूप से मांस, पोल्ट्री, सी फूड्स और उनके जूस में खतरनाक सूक्ष्मजीव हो सकते हैं. खाना बनाने के दौरान यह एक से दूसरे भोजन में भी जा सकते हैं इसलिए इन्हें अलग-अलग रखना जरूरी है.

यह भी पढ़े :  क्या मच्छर मक्खियों से Corona Virus फैलता है ? सच्चाई जानिए

खाना अच्छे से पकाएं
खाना अच्छी तरह से पकाएं खासतौर से मीट, अंडे, पोल्ट्री और सी फूड्स. इन्हें 70 डिग्री सेल्सियस पर धीरे-धीरे उबालकर अच्छे से पकाएं. इनका सूप बनाते समय इस बात का ध्यान रखें कि यह गुलाबी रंग का ना दिखे. यह पकने के बाद बिल्कुल साफ दिखना चाहिए. तापमान चेक करने के लिए आप थर्मामीटर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं. पके हुए भोजन को खाने से पहले एक बार फिर से अच्छे से गर्म करें.

क्यों है जरूरी?
अच्छी तरह खाना पकाने से सारे कीटाणु मर जाते हैं. स्टडी से पता चलता है कि 70 डिग्री सेल्सियस तापमान पर पका खाना खाने में सुरक्षित होता है. खाना पकाने में जिन पर खास ध्यान देने की जरूरत है वो हैं कीमा, मीट और पोल्ट्री फूड.

यह भी पढ़े :  क्या मच्छर मक्खियों से Corona Virus फैलता है ? सच्चाई जानिए

खाने को सुरक्षित तापमान पर रखें

कमरे के तापमान पर पके हुए खाने को 2 घंटे से अधिक न छोड़ें. पके हुए खाने को उचित तापमान पर फ्रिज में रखें. भोजन परोसने से पहले उसे कम से कम 60 डिग्री सेल्सियस तापमान पर अच्छे से गर्म करें. खाने को फ्रिज में बहुत देर तक ना रखें.

क्यों है जरूरी?
कमरे के तापमान पर रखे खाने में सूक्ष्मजीव बहुत तेजी से बढ़ते हैं.  5 डिग्री से कम और 60 डिग्री से ज्यादा तापमान में यह सूक्ष्मजीव पनपने बंद हो जाते हैं हालांकि कुछ खतरनाक कीटाणु 5 डिग्री से भी कम तापमान पर बढ़ते हैं.

साफ पानी का इस्तेमाल करें

पीने और खाने बनाने में हमेशा साफ पानी का इस्तेमाल करें. हो सके तो पानी को पीने से पहले उबाल लें. सब्जियों और फलों को अच्छे से धोएं. ताजा और पौष्टिक खाद्य पदार्थों लें. सुरक्षा के लिहाज से पाश्चराइज्ड मिल्क बेहतर होते हैं. एक्सपायरी डेट से आगे के खाने का इस्तेमाल ना करें.

क्यों है जरूरी?
कच्चे सामग्री यहां तक कि पानी और बर्फ में भी कई बार खतरनाक सूक्ष्मजीव पाए जाते हैं जो पानी को जहरीला बना देते हैं. कच्चे खाद्य पदार्थों की खरीदारी सावधानी से करें और उन्हें अच्छे से धोकर ही छीलें या काटें. इससे ये कीटाणुरहित हो जाते हैं.

यह भी पढ़े :  क्या मच्छर मक्खियों से Corona Virus फैलता है ? सच्चाई जानिए
- Advertisement -

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Short Stories

Leave a Reply

यह भी पढ़े :  क्या मच्छर मक्खियों से Corona Virus फैलता है ? सच्चाई जानिए

PUBG Mobile : बेटे ने उड़ा दी पिता के जीवनभर की कमाई, बैंक से 16 लाख रुपये निकाले

नई दिल्ली। ऑनलाइन गेम पबजी (प्लेयर अननोन बैटलग्राउंड्स) का नशा आजकल के...

बन्दर को उम्रकैद : शराबी बन्दर को उम्रकैद, हरकतें जानकर आप भी होंगे हैरान

आपने अक्सर लोगों को उम्रकैद की सजा मिलने की खबर सुनी होगी,...

क्या 21 जून 2020 को खत्म हो जाएगी दुनिया? माया कैलेंडर पर चौंकाने वाला खुलासा

क्या 21 जून 2020 को खत्म हो जाएगी दुनिया? माया कैलेंडर पर चौंकाने वाला खुलासा अब दुनिया...

Corona Mata : महिलाओं-किन्नरों के सपने में आईं कोरोना माता, बोली – मेरी पूजा करो

कोरोना माता (Corona Mata) महिलाओं-किन्नरों के सपने में आईं कोरोना माता, बोली - मेरी पूजा करो

एक साथ 25 सरकारी स्कूलों में पढ़ा रही थी, साल भर में कमाए एक करोड़, फूर गया भांडा

आपको बता दें कि हर जिले के एक ब्लॉक में एक कस्तूरबा गांधी स्कूल होता है। यह...

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

7,105FansLike
7,044FollowersFollow
491FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

आखिर किस आरोप में जांच के दायरे में आया राजीव गांधी फाउंडेशन , जानिए

नई दिल्लीः देश की सबसे प्राचीन पार्टी का गौरव रखने वाली कांग्रेस ने...
यह भी पढ़े :  क्या मच्छर मक्खियों से Corona Virus फैलता है ? सच्चाई जानिए

राजीव गांधी फाउंडेशन : जांच के लिए कमेटी तैयार, 3 ट्रस्ट की होगी जांच

नई दिल्ली: राजीव गांधी फाउंडेशन की जांच के लिए एक कमेटी गठित की गई है. ये कमेटी राजीव...

SEONI CORONA NEWS : जिले में मिला एक और कोरोना पॉजिटिव मरीज

सिवनी : मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के.सी .मेशराम द्वारा जानकारी देते दिए बताया गया कि लखनादौन...

Seoni Corona News : हड्डी गोदाम के कोरोना मरीज का निधन – सिवनी कलेक्टर ने की पुष्टि

सिवनी । नागपुर उपचारार्थ सिवनी नगरीय क्षेत्र के हड्डी गोदाम निवासी 68 वर्षीय पुरुष की कोरोना पॉजिटिव...

Atal Pension Yojana : अटल पेंशन योजना में केंद्र सरकार ने किया बदलाव

नई दिल्ली: देश में कोरोना के मरीजों की संख्या सात लाख के पार हो गयी है. मोदी सरकार...