Tuesday, August 16, 2022
Homeअजब गजबजानवर अगर बोल सकते, तो ज़रूर Thanks बोलते उनके लिए सब कुछ...

जानवर अगर बोल सकते, तो ज़रूर Thanks बोलते उनके लिए सब कुछ करने वाले इन Super Humans को

- Advertisement -

वो सड़कों पर घूमते हैं, हमारे करीब आने की कोशिश करते हैं, हमारे आस-पास ही रहते हैं लेकिन अकसर हम उन्हें देखकर भी अनदेखा कर देते हैं. कुछ लोग तो उनके बगल से निकल जाते हैं, तो कुछ उन्हें रौंदते हुए गुज़र जाते हैं. कुछ उनकी आवाज़ को दबाने के लिए उनपर अत्याचार करते हैं, तो कुछ छत से फेंक से देते हैं. हम बात कर रहे हैं जानवरों की.

जानवरों को अकसर कमज़ोर समझकर बहुत से लोग उनके साथ अमानवीय व्यवहार करते हैं. लेकिन इन अमूकों की रक्षा के लिए भी बहुत से लोग कार्यरत हैं.

- Advertisement -

कुछ लोग और संस्थायें जो जानवरों के लिए कार्य करते हैं-

1. Hotel For Dogs

- Advertisement -

श्रवण कृष्णन और टी.ए.अधीश्वर ने चेन्नई में Dogs का पहला होटल खोला है. श्रवण कृष्णन सिर्फ़ Dogs को ही Rescue नहीं करते, बल्कि दूसरे जानवरों की भी जान बचातेहैं और उनकी देखरेख के लिए भी काम करते हैं.

अधिक जानकारी के लिए Website पर क्लिक करें- http://www.hotelfordogs.in/

- Advertisement -

2. Animal Aid Unlimited

2002 में उदयपुर राजस्थान में Erika, Jim और Claire ने इस ट्रस्ट की स्थापना की. इतने लंबे अरसे से ये तीनों भारत में ही रह रहे हैं और जानवरों की सेवा कर रहे हैं. इस संस्थान का एक अस्पताल भी है, जहां अब तक हज़ारों पशुओं की चिकित्सा हो चुकी है.

अधिक जानकारी के लिए Website पर क्लिक करें- https://animalaidunlimited.org/

3. Pratima Devi, Saket, Delhi

दिल्ली के साकेत क्षेत्र में रहने वाली प्रतिमा देवी रोज़ाना तकरीबन 400 Dogs को खाना खिलाती हैं. इनमें से 200 Dogs तो उनके ही घर के पास रहते हैं. प्रतिमा जिन कुत्तों का ध्यान रखती हैं, सारे Stray Dogs हैं, लेकिन सभी Vaccinated और Sterilized हैं. प्रतिमा बीमार Dogs की देखभाल भी करती हैं. प्रतिमा ने दिल्ली के संगम विहार में घर तो ले लिया है, लेकिन वहां उनके गोद लिये बच्चे(Dogs) का प्रवेश निषेध है, इसलिये वे अपने घर में भी नहीं रहती.

4. Friendicoes

Friendicoes 35 से ज़्यादा वर्षों से जानवरों की रक्षा के लिए कार्य कर रहा है. Geeta Seshamani और Gautam Barat ने इस Organisation की नींव रखी थी. इस Shelter में 24 घंटे ज़ख़्मी जानवरों की देखभाल की जाती है.

अधिक जानकारी के लिए Website पर क्लिक करें- https://friendicoes.org/

5. PAWS (Plant and Animal Welfare Society)

2002 में मुंबई की इस संस्था की स्थापना हुई थी. मुंबई जैसे शहर में काम करना आसान नहीं है, लेकिन फिर भी ये संस्था हर साल हज़ारों जानवरों की जान बचाती है और उन्हें नयी ज़िन्दगी देती है.

अधिक जानकारी के लिए Website पर क्लिक करें- http://www.pawsindia.org/

6. People For Animals

इस संस्था के देशभर में 26 अस्पताल हैं. बीमार और ज़ख़्मी जानवरों की देखभाल करने वाली इस संस्था से लाखों लोग जुड़े हुए हैं. देश के हर ज़िले में एक यूनिट खोलना इस संस्था का मकसद है.

अधिक जानकारी के लिए Website पर क्लिक करें- https://www.peopleforanimalsindia.org/

7. Charlie’s Animal Rescue Centre

जनवरी 2013 में इस संस्था की स्थापना की गई. इस सेंटर का नाम, एक Dog Charlie के नाम पर रखा गया. इस केयर सेंटर में कुत्तों के अलावा, बिल्लियों, खरगोश, Pigs, Guinea Pigs, बतख आदि की भी देखभाल की जाती है.

अधिक जानकारी के लिए Website पर क्लिक करें- https://charlies-care.com/

देश में ऐसे कई संस्थायें हैं, जो जानवरों की सुरक्षा और उन्हें एक अच्छी ज़िन्दगी देने के लिए काम करती है. अगर आप चाहें तो उनसे जुड़ सकते हैं. अगर ऐसा करने में असमर्थ हैं, तो पक्षियों के लिए अपनी बालकनी या छत पर पानी और दाना रखें. बचे खाने को फेंकने के बजाये सड़क पर भूखे घूमने वाले Dogs को दे दें. अगर हो सके तो कभी उनकी आंखों में देखें, उनकी आंखें बहुत कुछ कहती हैं.

- Advertisement -
Shubham Sharma
Shubham Sharma
Shubham Sharma is an Indian Journalist and Media personality. He is the Director of the Khabar Arena Media & Network Private Limited , an Indian media conglomerate, and founded Khabar Satta News Website in 2017.
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

WhatsApp Join WhatsApp Group