Homeउत्तर प्रदेशUP मस्जिदों से उतरे 11000 लाउडस्पीकर, 35000 की आवाज कम; मौलवियों ने...

UP मस्जिदों से उतरे 11000 लाउडस्पीकर, 35000 की आवाज कम; मौलवियों ने केवल घर, मस्जिदों में ‘अलविदा नमाज’ अदा करने के लिए कहा

- Advertisement -

लाउडस्पीकरों के इस्तेमाल को लेकर चल रहे विवाद के बीच मुस्लिम मौलवियों ने लोगों से अपील की है कि रमजान के आखिरी शुक्रवार के मौके पर तय जगहों पर ही अलविदा की नमाज अदा करें ताकि दूसरों को कोई असुविधा न हो.

इस बीच प्रशासन ने संवेदनशील माने जा रहे कई स्थानों पर सुरक्षा कड़ी कर दी है।

- Advertisement -

अलविदा नमाज के लिए जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार लोग घर पर या मस्जिदों में ही नमाज अदा कर सकते हैं। साथ ही लाउडस्पीकरों की आवाज निर्धारित मानकों के अनुरूप रखने की भी सलाह दी गई है। यह पहला मौका है जब मुस्लिम धर्मगुरु आगे आ रहे हैं और लोगों से सड़कों पर नमाज नहीं पढ़ने की अपील कर रहे हैं।

दारुल उलूम फरंगी महल के सुन्नी मौलवी सूफियान निजामी ने कहा है कि नमाज सड़क पर नहीं मस्जिद परिसर के अंदर पढ़ी जानी चाहिए। लाउडस्पीकर की आवाज भी मानक के अनुसार ही रखनी चाहिए।

- Advertisement -

वहीं, एडीजी लॉ एंड ऑर्डर यूपी प्रशांत कुमार ने कहा है, ‘सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पिछले हफ्ते ही जुमे की नमाज को लेकर दिशा-निर्देश जारी किए थे, जिसके बाद पूरे राज्य में यह व्यवस्था की गई है.

डीजीपी मुख्यालय के मुताबिक शुक्रवार को 19,949 मस्जिदों, 7,436 ईदगाहों और 2,846 अन्य जगहों पर अलविदा की नमाज होनी है. इन 2,846 स्थानों को संवेदनशील के रूप में चिह्नित किया गया है। इसके अलावा 2,705 जगहों को भी संवेदनशील माना गया है। इन सभी जगहों पर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं।

- Advertisement -

जिलों में स्थानीय पुलिस के अलावा 46 कंपनी पीएसी और सात कंपनी सीएपीएफ को तैनात किया गया है. दो पुलिस उपाधीक्षकों को भी मुरादाबाद और प्रयागराज भेजा गया है। इसके साथ ही 1,492 पुलिस प्रशिक्षु सुरक्षा व्यवस्था की ड्यूटी में भी लगे रहेंगे। रेंज के सभी जोनल एडीजी और आईजी-डीआईजी को निर्देश दिया गया है कि वह जिलों के पुलिस कप्तानों के साथ समन्वय कर हरसंभव सहयोग करें.

- Advertisement -
Shubham Sharma
Shubham Sharma
Shubham Sharma is an Indian Journalist and Media personality. He is the Director of the Khabar Arena Media & Network Private Limited , an Indian media conglomerate, and founded Khabar Satta News Website in 2017.
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments