सिवनी : जब भैरोगंज से हटाया गया सालो से किया गया पक्का अतिक्रमण : VIDEO

0
2062

सिवनी न्यूज़ , खबर सत्ता : नगर पालिका क्षेत्र में अतिक्रमण हटाओ (Atikraman hatao) अभियान के अंतर्गत 2 दिसंबर 2019 को भैरोगंज क्षेत्र (Bhairoganj seoni) में अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही की जा रही है । अतिक्रमण हटाओ अभियान में राजस्व विभाग, पुलिस विभाग, नगरपालिका, विद्युत मंडल एवं अन्य विभागों के अधिकारियों की संयुक्त टीम द्वारा लगातार कार्यवाही की जा रही है । यह अभियान आगामी दिनों में भी सतत रूप से चलेगा ।

जिला कलेक्टर प्रवीण सिंह के सफल मार्गदर्शन में विगत सोमवार से जिला मुख्यालय के विभिन्न मार्गों पर वर्षो से किये गए कच्चे एवं पक्के अतिक्रमण हटाने हेतु कार्यवाही जारी है। लगभग 27 साल बाद प्रशासन द्वारा व्यापक तौर पर प्रभावी तरीके से चलाए जा रहे इस अभियान में राजस्व,पुलिस ,नगर पालिका ,विधुत विभाग एवं अन्य विभागों द्वारा आम जनता के सहयोग से सफलता पूर्वक सेकड़ो एकड़ सरकारीं भूमि से अतिक्रमण हटाया जा चूका है,वही आज 30 नवंबर को अभियान के तहत छिन्दवाड़ा रोड एवं डुंडा सिवनी के शेष बचे अतिक्रमण हटाये गये है।

मालुम हो की इससे पूर्व भी इसी तरह के अतिक्रमण हटाये तो गये लेकिन निगरानी ना होने से अवैध निर्माण कार्य होते रहे हे जिससे नगर पुनः अतिक्रमण युक्त हो जाता था। आम जनता से मिले सुझावों एवं नगर को सुगम यातायात व्यवस्था उपलब्ध कराने के लिए कृत संकल्पित कलेक्टर प्रवीण सिंह दवारा पुनः अतिक्रमण ना हो इस पर निगरानी एवं कार्यवाही करने हेतु आज 30 नवंबर को आदेश जारी कर एक उच्च स्तरीय निगरानी समिति का गठन किया है।

जारी आदेश के अनुसार इस समिति मे सँयुक्त कलेक्टर श्याम वीर सिंह ,अनुविभागीय अधिकारी राजस्व जे पी सैयाम, तहसीलदार सिवनी प्रभात मिश्रा,सी एम ओ नपा सिवनी मनोज श्रीवास्तव, होंगे। वही तकनीकी समिति में ई ई लोक निर्माण विभाग के पी लखेरा,सहायक यंत्री नपा शैलेंद्र कौरव,अविनाश तिवारी सहायक यंत्री मध्यप्रदेश गृह निर्माण मंडल सिवनी को शामिल किया गया है।

समिति का कार्य अतिक्रमण के बाद खाली हुई जगह पर जन उपयोग के लिये निर्माण करना एवं खाली जगहों पर पुनः कोई अतिक्रमण ना हो इस पर सतत निगरानी रखने की होगी। ऊक्त दोनों समिति प्रति दिन किये गये कार्यो का विवरण जिला कलेक्टर को देगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.