नये साल का जमकर जश्न मनाया लोगों ने

0
38

सिवनी ||नये साल का पहला दिन अधिकांश लोगों ने प्रकृति की गोद में बिताया। जिले के लगभग सभी पिकनिक स्पॉट में बड़ी संख्या में सैलानी पहुँचे। सुबह से देर रात तक पिकनिक स्पॉट में भारी भीड़ रही। कुछ पिकनिक स्पॉट में पुलिस तैनात थी, जबकि अधिकांश जगह सैलानियों की सुरक्षा के लिये प्रशासन ने कोई व्यवस्था नहीं की थी। हालांकि किसी भी पिकनिक स्पॉट में किसी घटना की सूचना नहीं मिली।

वैष्णवी धाम में उमड़े श्रद्धालु
शहर से लगे वैष्णवी देवी धाम (सीलादेही) में श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रही। साल का पहला दिन मनाने बड़ी संख्या में लोग यहाँ पहुँचे। बच्चों के झूले, विभिन्न सामग्रियों की दुकानों व प्राकृतिक सौन्दर्य का आनंद उठाने के साथ वैष्णो देवी, दुर्गाजी, पद्मनाभ स्वामी के दर्शन किये गये। पलारी टेकरी स्थित शनि मंदिर में भी श्रद्धालु बड़ी संख्या में पहुँचे।

अंबामाई में लगा जमावड़ा : कटंगी रोड पर स्थित पिकनिक स्पॉट अम्बामाई में लोगों ने साल का पहला दिन गुजारा। प्राचीन मंदिर में मातारानी के दर्शन के बाद लोगों ने प्राकृतिक सौन्दर्य का आनंद लिया। परिवार के साथ पहुँचे लोगों ने दूधिया पानी व प्राकृतिक सौन्दर्य के बीच अपना दिन बिताया।

लोगों ने बताया कि प्रकृति के बीच आकर मन को शांति मिलती है। मिट्टी से बने एशिया के सबसे बड़े भीमगढ़ बाँध को देखने दूर-दूर से सैलानी पहुँचे। मुख्यालय समेत दूर-दूर से सैलानी यहाँ पहुँचे। डेम में लबालब भरे पानी और पहाड़ी पर स्थित रेस्ट हाऊस के आसपास घने जंगल को देखकर सैलानी उत्साहित हुए।

यह भी पढ़े :  स्टेट बैंक के सामने दिन दहाड़े शातिर उड़ा ले गए 20 हजार!

धार्मिक स्थलों में पहुँचे लोग : जिले के धार्मिक स्थानों में भी बड़ी संख्या में मंगलवार को श्रद्धालु पहुँचे। वर्ष 2018 को अलविदा कहकर नये साल में चैन व अमन की प्रार्थना की। जिले के गुरु रत्नेश्वर धाम दिघोरी में स्थापित एशिया के सबसे बड़े स्फटिक शिवलिंग के दर्शन करने दूर-दूर से श्रद्धालु पहुँचे।

यहाँ जगतगुरु स्वरूपानंद महाराज ने विधि विधान से शिवलिंग की स्थापना करायी थी। इसके अलावा सांईपुरम, मठघोघरा, प्राचीन आष्टा काली मंदिर, मुण्डारा, डोंगरदेव, महाकालेश्वर आदि धार्मिक स्थानों में सुबह से शाम तक श्रद्धालुओं की खासी भीड़ रही। लखनादौन के मठघोघरा में प्राकृतिक सौन्दर्य, झरने व पहाड़ी के बीच विराजमान शिवलिंग के श्रद्धालुओं ने दर्शन किये।

धार्मिक स्थानों के अलावा प्राकृतिक सौन्दर्य से भरपूर विभिन्न पिकनिक स्पॉटों को देखकर यहाँ पहुँचे श्रद्धालु भाव विभोर हो गये। ड्यूटीघाट, गौशाला डैम, सोनावानी, सिद्धघाट, मोर्चागढ़, पण्डरापानी, बबरिया डैम, पायली नान्ही कन्हार, बावनथड़ी आदि पिकनिक स्थलों में दूर-दूर से सैलानी पहुँचे। इसके अलावा पर्यटन स्थल पायली में भी बड़ी संख्या में दूर-दूर से सैलानी पहुँचे। बरगी डेम के कारण इस क्षेत्र में नर्मदा नदी का अथाह जल व बीच में स्थित छोटे टापू से सैलानी आकर्षित हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.