बेटियों से सीखें, मुकाबले की मिसाल बनी बेटिया

Must Read

Coronavirus In Hollywood: हॉलीवुड पहुंचा कोरोना वायरस

Coronavirus In Hollywood: कोरोना वायरस का असर पूरी दुनिया पर पड़ रहा है।...

Holi के दिन Colour से बचने के लिए लोगों के अतरंगी जुगाड़, हंसी नहीं रोक पाओगे

Holi के दिन Colour से बचने के लिए लोगों के अतरंगी जुगाड़, हंसी नहीं रोक पाओगे

अजब गजब : यह शहर कहलाता है भारत का फ्रांस

अजब गजब : विश्व के नक्शे पर फ्रांस को देखकर अगर आपका...

क्या आप जानते है ? घड़ी के विज्ञापन में समय 10:10 ही क्यों रखा जाता है

चाहे वो रोलेक्स घडी हो या टाइटन सबके विज्ञापन में हमेशा समय...

खाने से पहले उसके चारों तरफ क्यों छिड़कते हैं पानी ! Did You Know ?

भारतीय परंपराओं का हमेशा से ही दुनिया में अलग स्थान रहा है, शायद...
- Advertisement -

छेड़छाड़ होने पर लोकलाज से डरकर जिंदगी को समाप्त करने की जितनी घटनाएं समाज में हो रही हैं, उनका मुकाबला करने वालों की संख्या भी उतनी ही अधिक है। हमारे आसपास कई ऐसे उदाहरण हैं, जब बेटियों ने दरिंदों से पहले अपने स्तर पर मुकाबला किया, फिर कानून का सहारा लेकर उन्हें सीखचों के पीछे पहुंचाया। घर-परिवार के सदस्यों ने भी मदद की और इस हौसले को देखकर समाज आगे आया। तो, जो डरता नहीं, वह मरता नहीं और जो मुकाबला करता है, वह जीतता है। आज पढ़िए बेटियों के साहस भरे किस्से, जिन्होंने उनकी अस्मत पर बुरी नजर डालने वालों को सबक सिखाया।


दुनिया में माता-पिता से अच्छा दोस्त हो ही नहीं सकता। वे जीवनभर अपने बच्चों की बेहतरी के लिए सब कुछ करते हैं। गलतियां होने पर वे जितना डांटते हैं, उससे कहीं ज्यादा वे आपसे प्यार करते हैं। किसी भी तरह की ‘गलती’ होने पर किसी और की सलाह लेने के बजाय लड़कियों को अपने मातापिता को सब कुछ बता देना चाहिए। वे जो भी फैसला करते हैं, उसमें बच्चे का ही हित छिपा रहता है। यह कहना है आधी रात को पीछा कर छेड़छाड़ कर रहे मनचलों से मुकाबला करने वाली सगी बहनों का।

इसमें से 9वीं की छात्रा ने तो मनचले की बाइक पर लात मारकर उसकी चाबी निकाल ली थी। चाबी से मिले सुराग से ही पुलिस आरोपितों को गिरफ्तार करने में कामयाब हो पाई थी। पेशे से एक इवेंट कंपनी में एंकर इस 24 वर्षीय युवती का कहना है कि मुझे केवल इस बात का अफसोस है कि आज भी शहर में यदि लड़के आधी रात को घूमते हैं, मौज- मस्ती करते हैं तो कोई कुछ नहीं कहता लेकिन रात में यह शहर (भोपाल) लड़कियों के लिए कतई सुरक्षित नहीं है।

दो बहनों ने इस तरह दिखाया था साहस

16 फरवरी की रात करीब 12 बजे युवती अपनी छोटी बहन के साथ स्कूटी से घर लौट रही थी। करीब 12:15 बजे प्रगति पेट्रोल पंप के पास से बाइक सवार दो युवकों ने छेड़छाड़ करते हुए उनका पीछा करना शुरू कर दिया था। करीब डेढ़ किमी तक पीछा करते हुए वे सावरकर सेतु तक उनके पीछे गए थे। इस दौरान अमर नाम के युवक ने युवतियों की मदद करनी चाही तो मनचलों ने मारपीट शुरू कर दी थी। तब लड़कियों ने साहस दिखाते हुए उनसे मोर्चा लेना शुरू कर दिया। इस दौरान छोटी बहन ने बाइक की चाबी निकाल ली और बड़ी बहन ने पुलिस को फोन कर दिया था।

सभ्य समाज में सम्मानजनक जीवन का हक सभी को है लेकिन कुछ असामाजिक तत्वों के कारण बेटियों को बहुत परेशानी झेलना पड़ती है। छेड़छाड़ से लड़ाई को आम बनाने का समय आ चुका है। यदि इस बारे में आपके कोई सुझाव, विचार हों तो हमें नीचे दिए कमेंट बॉक्स में जानकारी दे ।


- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

सिवनी : कोरोना वायरस से निपटने के लिए जंग जारी, जिला रेडक्रॉस सोसाइटी को महामारी से निपटने मिल रहा जनसहयोग

सिवनी : वैश्विक महामारी से जूझ रहे लोगों की मदद के लिए सुश्री नीलिमा तिवारी, उपसंचालक शासकीय...

सिवनी : CM शिवराज ने नहीं दिया गोली मारने का आदेश, Fake अपील करने वाले गिरफ्तार

सिवनी : ऐसे माहौल में जब पूरी दुनिया संकट में है. लोग घरों में रहने को मजबूर हैं. कुछ असामाजिक तत्व झूठ का...

CM शिवराज बड़ा फैसला, 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षा की डेट बढ़ी, इन्हें जनरल प्रमोशन

भोपाल: कोरोना वायरस की वजह से किए गए लॉकडाउन का असर बोर्ड परीक्षाओं में भी पड़ता दिख रहा है. इस कारण मध्य प्रदेश...

लॉकडाउन में खुले शराब दुकान : ऋषि कपूर

ऋषि कपूर (Rishi Kapoor) ने इस संबंध में एक के बाद एक ट्वीट किए हैं. उनका ट्वीट काफी सुर्खियों में है.

लोकसभा स्पीकर की अपील, कहा- कोरोना से लड़ने दें एक-एक करोड़

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला (Om Birla) ने सभी सांसदों से आग्रह किया है कि वे कोरोना वायरस की महामारी से...

Stay connected

4,873FansLike
6,483FollowersFollow
407FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

More Articles Like This