MP के राजगढ़ में जमीन के हिस्से को लेकर भतीजे ने दोस्तों के साथ मिलकर की हत्या

Nephew along with friends murdered over land share in MP's Rajgarh

Must read

Shubham Sharma
Shubham Sharma
Shubham Sharma is an Indian Journalist and Media personality. He is the Director of the Khabar Arena Media & Network Private Limited , an Indian media conglomerate, and founded Khabar Satta News Website in 2017.
- Advertisement -

राजगढ़। जिले की सारंगपुर थाना पुलिस ने एक सप्ताह पहले ग्राम बालोड़ी में हुए अंधे कत्ल का पर्दाफाश करते हुए मृतक के भतीजे सहित तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया है, जिन्होंने जमीन के हिस्से को लेकर व्यक्ति पर लोहे की राॅड से प्रहार कर मौत के घाट उतारा था।

पुलिस ने पूछताछ के आरोपितों को अदालत में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेजा।

- Advertisement -

एएसपी मनकामना प्रसाद ने गुरुवार को जिला पुलिस कार्यालय पर आयोजित प्रेसवार्ता में अंधे कत्ल का खुलासा करते हुए बताया कि 26 मई को ग्राम बालोड़ी निवासी नरेन्द्रसिंह राजपूत (42) साल ने रिपोर्ट की, मेरा बड़ा भाई बख्तावरसिंह (60) साल खेत पर झोपड़ी बनाकर रहता है, बीती शाम को भाई बख्तावरसिंह को खेत पर काम करते हुये देखा था, दूसरे दिन खेत पर साफ-सफाई करने गया था, तब देखा कि अज्ञात व्यक्ति ने उसके भाई की हत्या कर दी है।

पुलिस ने फरियादी की रिपोर्ट पर अज्ञात के खिलाफ धार 302 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया।

- Advertisement -

विवेचना के दौरान वरिष्ठ अफसरों के मार्गदर्शन में गठित टीम ने मुखबिर व साइबर सेल की मदद से तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया।

पूछताछ पर ज्ञात हुआ कि बख्तावरसिंह और नरेन्द्रसिंह दो भाई थे, जिनके बीच में नौ बीघा जमीन थी, वहीं मृतक के बच्चे नही थे, जिस पर वह अपना हिस्सा भांजे धारासिंह को देना चाहता था, यह बात मृतक के भतीजे पहलवानसिंह को खटकने लगी थी। इस बात पर दोनों के बीच आए दिन झगड़ा हुआ करता था।

- Advertisement -

घटना दिनांक को भी दोनों के बीच इसी बात को लेकर विवाद हुआ था, जिस पर रात्रि में पहलवानसिंह और उसके दोस्त जितेन्द्र नायक, विकास मालवीय खेत पर पहुंचे, उन्होंने खटिया पर सो रहे बख्तावरसिंह के सिर व हाथ-पैर में लोहे के सब्बल से प्रहार कर दिए, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

पुलिस ने आरोपित पहलवानसिंह, उसके दोस्त जितेन्द्र और विकास को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेजा गया।

- Advertisement -

Latest article