मध्य प्रदेश : धान, ज्वार एवं बाजरा खरीदी के लिए किसान पंजीयन 15 सितम्बर से MP Kisaan App Download

सिवनी, मध्य प्रदेश : खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में समर्थन मूल्य पर धान, ज्वार एवं बाजरा खरीदी के लिए किसान पंजीयन की प्रक्रिया 15 सितम्बर से प्रारंभ हो रही है। यह पंजीयन 15 अक्टूबर तक एमपी किसान एप (MP KISAAN APP), ई-उपार्जन पंजीयन एप (E Uparjan Panjiyan App) एवं सबंधित समितियों के माध्यम से किया जा सकता है। जिला आपूर्ति अधिकारी द्वारा जानकारी दी गई कि जिले में कुल 83 किसान पंजीयन केन्द्र स्थापित किये गये है। जिले की पात्र समितियों को किसान पंजीयन केन्द्र का कार्य दिया गया है जिनके माध्यम से कृषक उनका पंजीयन करा सकते हैं।

शासन द्वारा पंजीयन के साधनों को विस्तारित किया गया है, जिसमे मोबाइल एप्लीकेशन (MP KISAAN APP , E Uparjan Panjiyan App) एवं वेब एप्लीकेशन (E- Uparjan Portal) भी सम्मिलित है। इसके अतिरिक्त ई-उपार्जन किओस्क कॉमन सर्विस सेंटर/ लोक सेवा केन्द्र उपलब्ध हैं। एमपी किसान एप एवं ई-उपार्जन पंजीयन एप को ई-उपार्जन एन्ड्रायड बेस्ड मोबाइल पर गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। एप डाउनलोड होने के उपरांत किसान पंजीयन हेतु सर्वप्रथम ग्राम एवं खसरा का चयन करना होगा इससे भी पंजीयन किया जा सकेगा।

- Advertisement -

विगत खरीफ एवं रबी विपणन मौसम में जिन किसानों द्वारा समर्थन मूल्य पर खाद्यान्न विक्रय करने हेतु ई-उपार्जन पोर्टल पर पंजीयन कराया गया था ऐसे किसानों को खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में पंजीयन हेतु दस्तावेज देने की आवश्यकता नहीं है। वनाधिकार पट्टाधारी/सिकमीदार किसानों को पंजीयन हेतु वनपट्टा एवं सिकमी अनुबंध की प्रति समिति संचालित पंजीयन केन्द्र पर उपलब्ध कराना होगी। जिन किसानों द्वारा विगत रबी एवं खरीफ में पंजीयन नहीं कराया गया था एवं ई-उपार्जन पोर्टल पर उनका डाटाबेस उलब्ध नहीं है ऐसे किसानों को समिति स्तर पर पंजीयन हेतु आधार नं., बैंक खाता नं., मोबाईल नं. की जानकारी पंजीयन केन्द्र पर उपलब्ध कराना होगा। पंजीयन के समय किसान को उपज विक्रय करने की संभावित 3 दिनांक दर्ज करानी होगी। किसानों को भुगतान सीधे बैंक खाते में किया जाना है। इस कारण पंजीयन में केवल राष्ट्रीयकृत एवं जिला केन्द्रीय बैंक की शाखाओं के एकल खाते ही मान्य होंगे। जन-धन, ऋण, नाबालिग, बंद एवं अस्थाई रूप से रोके गये खाते (विगत 6 माह से क्रियाशील नहीं हों) आदि पंजीयन में मान्य नहीं होगें।

दावा आपत्ति: किसान गिरदावरी में दर्ज भूमि एवं बोई गई फसल से संतुष्ट न होने पर संशोधन हेतु गिरदावरी दावा आपत्ति करनी होगी जिसके निराकरण एवं ई-उपार्जन पोर्टल पर जानकारी संशोधित होने पर पंजीयन किया जा सकेगा। किसान भाईयों से अनुरोध है कि उक्त साधनों का उपयोग करते हुए अधिक से अधिक संख्या में अपना स्व-पंजीयन करें।

MP KISAN APP से करें फसलो का रजिस्ट्रेशन : यहाँ से करें Download क्लिक करें

- Advertisement -

किसानों की सुविधा के लिए एमपी किसान एप MP KISAN APP शुरू किया गया है। इस MP KISAN APP से किसान अपनी भूमि /खेत की जानकारी, खसरा, खतौरी एवं नक्शे की प्रतिलिपि प्राप्त कर सकते हैं। साथ ही बोई गई फसलों की स्वघोषणा, शासन द्वारा समय-समय पर जारी सलाह आदि तथा आधार नंबर द्वारा खाता नंबर भी लिंक कर सकते हैं। इस एप्प को नीचे दी गई लिंक से DOWNLOAD / INSTALL किया जा सकता है।

शासन द्वारा किसानों को सशक्त बनाते हुए डाटा एन्ट्री आपरेटर पर निर्भरता तथा पंजीयन केन्द्रों के दबाव को कम करने के लिये इस वर्ष में पंजीयन के तकनीकी साधनों को विस्तारित किया गया है, जिसके तहत एमपी किसान एप, ई-उपार्जन मोबाईल एप, पब्लिक डोमेन में ई-उपार्जन पोर्टल तथा विगत वर्ष के खरीफ उपार्जन केन्द्रों पर किसान पंजीयन की सुविधा उपलब्ध कराई गई है, किसान चाहे तो मोबाईल एप्लीकेशन एवं वेब एप्लीकेशन पर स्वंय अपना पंजीयन कर सकते है। किन्तु सिकमी एवं वन पट़टाधारी किसानों का पंजीयन मात्र पंजीयन केन्द्रों पर ही हो सकेगा।

- Advertisement -

उन्होंने बताया कि विगत खरीफ एवं रबी विपणन वर्ष में जिन किसानों द्वारा समर्थन मूल्य पर फसल विक्रय करने हेतु पोर्टल पर पंजीयन कराया गया था एवं जिनके द्वारा अपनी मूलभूत जानकारी जैसे किसान का नाम एवं भूमि का खसरा/सर्वे /मोबाईल नम्बर/बैंक खाता में कोई परिवर्तन नहीं किया जाना है, ऐसे किसानों को इस वर्ष खरीफ विपणन वर्ष में पंजीयन दस्तावेज देने की आवश्यकता नही है ।

अपने MOBILE में MP KISAAN APP DOWNLOAD / INSTALL करने के लिए यहां क्लिक करें

लेकिन ऐसे किसानों को गत वर्ष के पंजीयन डाटा के आधार पर समर्थन मूल्य पर धान एवं मोटा अनाज विक्रय हेतु पंजीयन कराना आवश्यक होगा। जिसके लिए मोबाइल नंबर, समग्र आईडी नंबर, विगत खरीफ मौसम के किसान पंजीयन कोड दर्ज करना होगा |

यदि किसान को विगत वर्ष के पंजीयन में उल्लेखित आधार नम्बर, बैंक खाता, मोबाईल नंबर में किसी प्रकार के परिवर्तन, संशोधन की आवश्यकता होने पर संबंधित दस्तावेज प्रमाण स्वरूप पंजीयन केन्द्र पर लाने होंगे, जिनको देखकर पंजीयन में दर्ज डाटा सत्यापित किया जा सके।

अपने MOBILE में MP KISAAN APP DOWNLOAD / INSTALL करने के लिए यहां क्लिक करें

किसान पंजीयन में बैंक खाता में संशोधन एवं नवीन खातों की प्रविष्टि की कार्यवाही OTP आधारित e-authentication प्रक्रिया के माध्यम से किया जायेगा। इस वर्ष किसान से उपज के विक्रय की संभावित मात्रा एवं विक्रय की 3 तिथि प्राप्त की जायेगी, जिसे पंजीयन के समय दर्ज किया जायेगा।

शासन द्वारा इस वर्ष धान कॉमन का समर्थन मूल्य 1815 प्रति क्विंटल, धान ग्रेडः-ए 1835 प्रति क्विंटल ज्वार 2550 प्रति क्विंटल एवं बाजरा का समर्थन मूल्य 2000 प्रति क्विटल घोषित किया गया है। किसान भाईयों से अनुरोध है कि निर्धारित समयावधि में अपना पंजीयन कराकर समर्थन मूल्य का लाभ प्राप्त करें।

 

- Advertisement -

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

10,740FansLike
7,044FollowersFollow
519FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

मधुमक्खियों के हमले से व्यक्ति की मौत, डॉक्टर नहीं मिलने से ग्रामीणों में नाराजगी

लातेहारः झारखंड के मनिका प्रखंड के पल्हेया गांव निवासी पिंटू प्रसाद (45) की रविवार को मधुमक्खी के डंक मारने के...

नोएडा: सेक्टर-21 में फिल्म सिटी बसाने का प्रस्ताव, UP सरकार को भेजी योजना

नई दिल्ली/नोएडाः गौतम बुद्ध नगर प्रशासन ने नोएडा या जेवर अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के पास यमुना एक्सप्रेसवे पर फिल्म सिटी बनाने के लिये दो प्रस्ताव उत्तर...

अब घर बैठे प्राप्त करें माता वैष्णो देवी का प्रसाद, करानी होगी ऑनलाइन बुकिंग

जम्मूः श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने देश भर में श्रद्धालुओं को उनके घर पर पूजा का प्रसाद पहुंचाने की सेवा सोमवार को औपचारिक...

BJP ने राज्यसभा सासंदों के लिए जारी किया थ्री-लाइन व्हिप, सरकार का समर्थन करने के दिए निर्देश

नई दिल्लीः भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने मंगलवार को अपने सांसदों को राज्यसभा में मौजूद रहने के लिए तीन लाइन का व्हिप जारी किया है।...

लोकसभा ने महामारी संशोधन विधेयक को मंजूरी दी, स्वास्थ्य कर्मियों को मिलेगा संरक्षण

नई दिल्लीः संसद ने सोमवार को महामारी (संशोधन) विधेयक को मंजूरी दे दी, जिसमें महामारियों से जूझने वाले स्वास्थ्य कर्मियों को संरक्षण प्रदान करने का...
x