Thursday, December 8, 2022
Homeमध्य प्रदेशबेहतर कार्य करते हुए मप्र को विकास के पथ पर करें अग्रसर:...

बेहतर कार्य करते हुए मप्र को विकास के पथ पर करें अग्रसर: शिवराज

मुख्यमंत्री ने की अनूपपुर जिले की समीक्षा, कहा- शासकीय कार्यों के प्रति सकारात्मक भाव से अपने कर्तव्य के प्रति समर्पित रहें

- Advertisement -

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हम बेहतर कार्य करते हुए प्रदेश को विकास के पथ पर अग्रसर करें और प्रदेशवासियों को जन-कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन से बेहतर और सुखी जीवन प्रदान करने के लिए निरंतर सक्रिय रहें।

नवरात्रि के पावन पर्व के आरंभ पर देवी माँ से प्रदेश और देश पर कृपा बनाए रखने तथा सबका मंगल करने की कामना और प्रार्थना है।

- Advertisement -

मुख्यमंत्री चौहान सोमवार सुबह अनूपपुर जिले की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने उपस्थित सभी जन-प्रतिनिधियों और अधिकारियों को नवरात्रि की शुभकामना दी।

बैठक में मंत्री मीना सिंह और बिसाहूलाल सिंह, मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, विभिन्न विभागों के अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव तथा शहडोल कमिश्नर राजीव शर्मा वर्चुअली शामिल हुए। कलेक्टर सोनिया मीना जिला अधिकारियों सहित अनूपपुर से वर्चुअली शामिल हुईं।

- Advertisement -

मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास कार्य गुणवत्तापूर्ण हों, कार्य समय सीमा में हों, जन-कल्याणकारी योजनाओं का लाभ सभी पात्र हितग्राहियों को मिले और शासकीय कार्यों तथा गतिविधियों के प्रति जन-सामान्य में सकारात्मक भाव रहे, इस संकल्प के साथ हम अपने कर्तव्य के प्रति समर्पित रहें।

सदा से ही बेहतर कार्य करने वालों को प्रोत्साहित और सम्मानित करने का भाव रहा है और इसे क्रियान्वित भी किया जाता रहा है। परंतु विलंब, मनमानी और अनियमितता के प्रकरणों में दंड और विधिक कार्यवाही करना पड़ती है, जिसका मुझे भी दुख होता है। हमारा प्रयास यह हो कि विकास और जन-कल्याण के कार्य सकारात्मक वातावरण में ही हों।

- Advertisement -

उन्होंने अनूपपुर जिले में शिशु मृत्यु दर में सुधार और टीबी के प्रबंधन में जिले द्वारा राज्य में प्रथम स्थान पर प्राप्त करने पर प्रसन्नता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि यह संपूर्ण टीम के परिश्रम और प्रभावी समन्वय से ही संभव हुआ है। उन्होंने कहा कि अमरकंटक में माँ नर्मदा के उद्गम स्थल के संरक्षण के लिए अतिक्रमण को रोकना आवश्यक है। उन्होंने जल जीवन मिशन, प्रधानमंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान, अमृत सरोवर, एक जिला-एक उत्पाद, विद्युत व्यवस्था, कानून-व्यवस्था, सड़कों की स्थिति, आँगनवाड़ी में पोषण आहार वितरण, पथ विक्रेता योजना, मुख्यमंत्री राशन आपके द्वार योजना आदि की समीक्षा की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जल जीवन मिशन के क्रियान्वयन में ग्रामवासियों को विश्वास में लेकर योजना का क्रियान्वयन किया जाए। जिन गाँवों में पानी के स्त्रोत नहीं है, वहाँ भू-जल स्तर बढ़ाने के लिए चैक डेम, स्टॉप डेम और तालाब विकसित करने की योजना बनाकर, क्रियान्वयन किया जाए। प्रधानमंत्री आवास योजना में तकनीकी कारणों से कोई गरीब वंचित न रहे, यह सुनिश्चित करना आवश्यक है। उन्होंने इस संबंध में प्रमुख सचिव उमाकांत उमराव को फोन पर इस समस्या के कारणों को चिन्हित करने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि आवश्यक हुआ तो इन बिन्दुओं पर केन्द्र सरकार स्तर पर चर्चा की जाएगी। अमृत सरोवरों का निर्माण प्रधानमंत्री मोदी की मंशा के अनुरूप हो। प्रभारी मंत्री और जन-प्रतिनिधि नियमित रूप से निर्माणाधीन अमृत सरोवरों का निरीक्षण करें। उन्होंने फरवरी-मार्च माह में 10 आँगनवाड़ी केन्द्रों में पोषण आहार नहीं पहुँचने के कारणों की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कलेक्टर को पोषण आहार वितरण की निरंतर क्रास चेकिंग के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि एक जिला-एक उत्पाद योजना की गतिविधियों को गंभीरता से लिया जाए। योजना केवल कागजी न रहे। जिले के उत्पादों के माध्यम से जिले में उद्यमिता विकसित करने और जिले की पहचान स्थापित करने के सशक्त प्रयास हों।

जिन नगरीय निकायों में नगर पालिका अधिकारी पदस्थ नहीं हैं, वहाँ तत्काल अधिकारियों की पदस्थापना की जाए। उन्होंने अनूपपुर से राजेन्द्र ग्राम को जाने वाली मुख्य सड़क के भू-स्खलन से क्षतिग्रस्त हो जाने की समस्या का तकनीकी परीक्षण कर स्थाई समाधान निकालने के निर्देश प्रमुख सचिव लोक निर्माण नीरज मंडलोई को दूरभाष पर दिए। उन्होंने कहा कि दो माह बाद पुन: जिले की गतिविधियों की समीक्षा की जाएगी।

जानकारी दी गई कि जल जीवन मिशन में 577 ग्रामों में कार्य किया जाना है, जिनमें से 77 योजनाओं में पानी आना शुरू हो गया है। मंत्री बिसाहूलाल सिंह द्वारा कार्य के प्रति असंतोष व्यक्त करने पर मुख्यमंत्री ने 15 दिन में पुन: इन गाँवों की रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। बताया गया कि प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी में 35 प्रतिशत और ग्रामीण क्षेत्र में 92 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो गया है। जनवरी तक शेष बचे आवास पूर्ण कर लिए जाएंगे।

बताया गया कि मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान में जिले में 221 शिविर लगाए गए। इनमें 11 हजार आवेदन प्राप्त हुए, इसमें से 967 का निराकरण कर लिया गया है। ऊर्जा साक्षरता अभियान में सभी छात्रावासों को जोड़ा जा रहा है। जिले में 107 अमृत सरोवरों का निर्माण किया जाना है,जिसमें से 81 का कार्य आरंभ हो चुका है।

जिले के गैर कृषि फीडर्स से 23 घंटे 35 मिनिट और मिश्रित फीडर्स से 21 घंटे 36 मिनिट बिजली की आपूर्ति की जा रही है। एडाप्ट एन आँगनवाड़ी अभियान में जिले की 1145 आँगनवाडी केन्द्रों को जन-प्रतिनिधि और अधिकारियों ने गोद लिया है। जिले के 190 आँगनवाड़ी केन्द्रों की बाउण्ड्रीवाल बनाने का कार्य जारी है।

मुख्यमंत्री राशन आपके द्वार योजना में 283 गाँवों के 35 हजार परिवारों को 20 वाहनों के माध्यम से राशन उपलब्ध कराया जा रहा है। जिले में लगभग 85 एकड़ भूमि में लेमन ग्रास लगाने के लिए विशेष अभियान चलाया गया है। एक जिला-एक उत्पाद में गुल बकावली, टमाटर और कोंदो की पैकेजिंग और ब्रांडिंग के लिए कार्य किया जा रहा है।

- Advertisement -
Shubham Sharma
Shubham Sharmahttps://shubham.khabarsatta.com
Shubham Sharma is an Indian Journalist and Media personality. He is the Director of the Khabar Arena Media & Network Private Limited , an Indian media conglomerate, and founded Khabar Satta News Website in 2017.
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments