Saturday, April 17, 2021

Bhopal Indore Night Curfew: कोरोना केस कम नहीं हुए तो सोमवार से लगेगा रात का कर्फ्यू – मुख्यमंत्री शिवराज

Must read

Shubham Sharmahttps://khabarsatta.com
Editor In Chief : Shubham Sharma
- Advertisement -

भोपाल। भोपाल (Bhopal) और इंदौर (Indore) में कोरोना के प्रकरणों में अगले तीन दिन में कमी नहीं आती है तो सोमवार से रात का कर्फ्यू (Bhopal Indore Night Curfew) लगाया जाएगा। स्कूल-कालेजों में मास्क का उपयोग अनिवार्य होगा। शारीरिक दूरी का पालन भी संस्थाओं को सुनिश्चित कराना होगा।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने की कोरोना संक्रमण के रोकथाम की समीक्षा

ये निर्देश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना संक्रमण की स्थिति और रोकथाम की तैयारियों की समीक्षा करते हुए कलेक्टरों को दिए।

मास्क लगाने के प्रति लापरवाही, शारीरिक दूरी का पालन सुनिश्चित हो: मुख्यमंत्री

उन्होंने कहा मास्क लगाने के प्रति लापरवाही बरती जा रही है। दुकानदार दुकानों पर शारीरिक दूरी का पालन सुनिश्चित कराएं। जो दुकानदार बिना मास्क दुकान पर बैठेंगे या बिना मास्क लगाए सामान देंगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने इंदौर और भोपाल के अधिकारियों को निर्देश दिए कि रोको–टोको अभियान तत्काल प्रारंभ करें।

मुख्यमंत्री ने कहा- शैक्षणिक संस्थाओं में मास्क का उपयोग अनिवार्य

- Advertisement -

शासकीय और अशासकीय शैक्षणिक संस्थाओं में मास्क का उपयोग अनिवार्य करें। शारीरिक दूरी का पालन होना चाहिए।

सीएम शिवराज ने कहा- कोरोना प्रकरणों में गिरावट नहीं हुई तो आठ मार्च से लगेगा कर्फ्यू

भोपाल और इंदौर में बढ़ रहे प्रकरणों पर चिंता जताते हुए उन्होंने कहा तीन दिन में कोरोना के प्रकरणों में गिरावट नहीं हुई तो आठ मार्च सोमवार से रात का कर्फ्यू लगाया जाएगा। बैठक में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग सहित अधिकारी मौजूद थे।

महाराष्ट्र से आने वालों को निगेटिव रिपोर्ट लेकर ही आना होगा 

- Advertisement -

मुख्यमंत्री ने कहा कि भोपाल, इंदौर, जबलपुर, बैतूल, छिंदवाड़ा, उज्जैन और महाराष्ट्र से लगे जिलों में कोरोना प्रभावित प्रकरणों की संख्या बढ़ रही है। इसके मद्देनजर तय किया है कि वहां से आने वाले यात्रियों के लिए कोरोना निगेटिव की रिपोर्ट लाना अनिवार्य होगा। बस आपरेटर रिपोर्ट के आधार पर ही यात्रियों को बस में प्रवेश दें। महाराष्ट्र की सीमा से लगे सभी जिले लगातार निगरानी रखें।

मार्च अंत तक 5,955 केंद्रों पर टीकाकरण

प्रदेश में अभी 469 केंद्रों पर टीकाकरण हो रहा है। मार्च अंत तक 5,595 केंद्रों पर टीकाकरण की सुविधा मिलेगी। अभी तक 6,68,693 कोरोना से ल़़डने का जोखिम उठा रहे कर्मचारियों को टीका लग चुका है। साठ साल से अधिक आयु वर्ग के प्राथमिकता वाले आयु समूह के 1,03,911 व्यक्तियों को भी टीका लगाया जा चुका है। मुख्यमंत्री ने सामाजिक संगठनों से अपील की है कि वे टीकाकरण केंद्रों पर चाय, पानी, शरबत आदि की व्यवस्था में सहयोग करें।

- Advertisement -
- Advertisement -

More articles

- Advertisement -

Latest article

_ _