मतदाता अपने मोबाइल से डाल सकेंगे अपना वोट, चुनाव आयोग ई-वोटिंग पर कर रहा है विचार

- Advertisement -

यदि आप उस राज्य में रह रहे हैं जहां के आप पंजीकृत मतदाता नहीं है तो आपको मतदान के दिन निराश नहीं होना पड़ेगा, क्योंकि चुनाव आयोग ऐसे मतदाताओं को ई-वोटिंग के जरिये मताधिकार प्रयोग की सुविधा देने के विकल्पों पर विचार कर रहा है। आयोग की इस भावी पहल से मतदान प्रतिशत बढ़ाने और चुनाव संपन्न कराने के खर्च में कमी आने के भी आसार हैं।

आयोग इसके लिए ई-वोटिंग के जरिए दूरस्थ मतदान (रिमोट वोटिंग) की सुविधा मुहैया कराने के विकल्पों को विकसित कर रहा है। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने हाल ही में इस व्यवस्था के बारे में खुलासा किया था कि आईआईटी चेन्नई के सहयोग से विकसित की जा रही मतदान की इस पद्धति के तहत किसी भी राज्य में पंजीकृत मतदाता किसी अन्य राज्य से मतदान कर सकेगा। 

एक अनुमान के मुताबिक, देश में लगभग 45 करोड़ प्रवासी लोग हैं जो रोजगार आदि के कारण अपने मूल निवास स्थान से अन्यत्र निवास करते हैं। इनमें से कई मतदाता विभिन्न विवशताओं के कारण मतदान वाले दिन अपने उस चुनाव चुनाव क्षेत्र में नहीं पहुंच पाते हैं जहां के वे पंजीकृत मतदाता हैं। 

- Advertisement -

इस परियोजना से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि दूरस्थ मतदान का प्रयोग ई-वोटिंग के रूप में सबसे पहले 2010 में गुजरात के स्थानीय निकाय चुनाव में किया गया था। इसमें राज्य के प्रत्येक स्थानीय निकाय के एक एक वार्ड में ई-वोटिंग का विकल्प मतदाताओं को दिया गया था। 

यह भी पढ़े :  शाहरुख पठान की जमानत पर HC इंकार, याचिका में बोले- अम्मी-अब्बू की तबीयत खराब...

गुजरात में हुई थी ई-वोटिंग
इसके बाद 2015 में गुजरात राज्य निर्वाचन आयोग ने अहमदाबाद और सूरत सहित छह स्थानीय निकायों के चुनाव में मतदाताओं को ई-वोटिंग की सुविधा से जोड़ा था। हालांकि व्यापक प्रचार न हो पाने के कारण इस चुनाव में 95.9 लाख पंजीकृत मतदाताओं में से सिर्फ 809 मतदाताओं ने ही ई-वोटिंग का इस्तेमाल किया था।

- Advertisement -

देशव्यापी स्तर पर ई-वोटिंग को लागू करने के लिये पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत के कार्यकाल में मतदाता पहचान पत्र को ‘आधार’ से जोड़कर सीडेक के सहयोग से ई-वोटिंग सॉफ्टवेयर विकसित करने की परियोजना को आगे बढ़ाया था। 

यह भी पढ़े :  Indian Navy लद्दाख में सेना के लिए भेज रही यह 'हथियार', पैंगोंग पर चीन की हरकत होगी नाकाम

‘वोटर लिस्ट को आधार से जोड़ने की मिली मंजूरी’
इस परियोजना से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि आधार को मतदाता पहचान पत्र से लिंक करने को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देने के कारण यह परियोजना लंबित थी, लेकिन हाल ही में कोर्ट ने आधार संबंधी पूर्वनिर्धारित दिशानिर्देशों के तहत इसे मतदाता पहचान पत्र से जोड़ने की मंजूरी दे दी है।

- Advertisement -

उन्होंने बताया कि लगभग 31 करोड़ मतदाता पहचान पत्र को आधार से पहले ही लिंक किया जा चुका है। देश में फिलहाल पंजीकृत कुल 91.12 करोड़ मतदाताओं में अब लगभग 61 करोड़ मतदाताओं के मतदाता पहचान पत्र को आधार से जोड़ना बाकी है। 

यह भी पढ़े :  Indian Navy लद्दाख में सेना के लिए भेज रही यह 'हथियार', पैंगोंग पर चीन की हरकत होगी नाकाम

गुजरात मॉडल के तहत ई-वोटिंग के लिये मतदाता को आयोग की वेबसाइट पर ई वोटर के रूप में खुद को पंजीकृत करने का विकल्प दिया गया था। ऑनलाइन पंजीकरण आवेदन में दिये गये तथ्यों की जांच में पुष्टि के बाद पंजीकृत मतदाता को एसएमएस और ईमेल के जरिए एक पासवर्ड मिलता था। मतदान के दिन निश्चित अवधि में मतदाता को पासवर्ड की मदद से ई बैलेट पेपर भरकर ऑनलाइन मतदान करने का विकल्प दिया गया था।

भारत में झारखंड और दिल्ली विधानसभा चुनाव में ई-वोटिंग की सुविधा सर्विस वोटर को इलेक्ट्रॉनिक डाक मतपत्र के रूप में मुहैया करायी गयी है। गत आठ फरवरी को हुये दिल्ली विधानसभा चुनाव में 80 साल से अधिक उम्र वाले मतदाताओं, दिव्यांग और रेल, चिकित्सा एवं अन्य आपात सेवा कर्मियों को डाक मतपत्र के जरिये घर से ही मतदान की सुविधा देने की शुरुआत हुई है।

सूत्रों के अनुसार आगामी 18 फरवरी को चुनाव आयोग और कानून मंत्रालय के आला अधिकारियों की प्रस्तावित बैठक में इन पहलुओं पर विचार हो सकता है। 

- Advertisement -

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Short Stories

Leave a Reply

यह भी पढ़े :  डोनल्ड ट्रंप को पसंद है 'योगी मॉडल', जानिए पूरा मामला

बन्दर को उम्रकैद : शराबी बन्दर को उम्रकैद, हरकतें जानकर आप भी होंगे हैरान

आपने अक्सर लोगों को उम्रकैद की सजा मिलने की खबर सुनी होगी,...

क्या 21 जून 2020 को खत्म हो जाएगी दुनिया? माया कैलेंडर पर चौंकाने वाला खुलासा

क्या 21 जून 2020 को खत्म हो जाएगी दुनिया? माया कैलेंडर पर चौंकाने वाला खुलासा अब दुनिया...

Corona Mata : महिलाओं-किन्नरों के सपने में आईं कोरोना माता, बोली – मेरी पूजा करो

कोरोना माता (Corona Mata) महिलाओं-किन्नरों के सपने में आईं कोरोना माता, बोली - मेरी पूजा करो

एक साथ 25 सरकारी स्कूलों में पढ़ा रही थी, साल भर में कमाए एक करोड़, फूर गया भांडा

आपको बता दें कि हर जिले के एक ब्लॉक में एक कस्तूरबा गांधी स्कूल होता है। यह...

मुसलमानों के लिए शराब पीने में कोई बुराई नहीं – मौलवी

पाकिस्तान के इस मौलवी ने दारू पीने वालों के लिहाज से ये कमाल की बात कह दी...

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

5,576FansLike
7,044FollowersFollow
486FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

दिल्ली दंगे : दिल्ली दंगो में स्पेशल सेल ने किया बड़ा खुलासा, मिले विदेशी फंडिंग…

दिल्ली दंगो की जांच में स्पेशल सेल ने बड़ा खुलासा किया है. जांच में उसे विदेशी फंडिंग...
यह भी पढ़े :  TikTok अकेले बंद होने से चीन को लगेगा 100 करोड़ का झटका, 59 बैन होने से तो होगा हजारों करोड़ का नुकसान

Kanpur Encounter : विकास दुबे की मां ने कहा मेरे बेटे का पकड़ कर एनकाउंटर कर दो -बहुत बुरा किया मेरे बेटे ने

विकास दुबे की मां ने कहा कि वह काफी समय से विकास के साथ नहीं रह रही हैं और अपने दूसरे बेटे...

PM मोदी के लद्दाख दौरे से ‘बौखलाए’ चीन , रिएक्शन आया सामने

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के सीमा पर औचक दौरे से चीन बौखलाया है. चीन ने पीएम...

SEONI : भारी बारिश से उफान पर आई वैनगंगा

सिवनी : पिछले वर्ष की तुलना में इस साल जिले मे मानसून लगभग 1 माह पूर्व ही...

SEONI कलेक्टर की अपील : “Sarthak Lite App” सभी सार्थक लाइट एप करें डाउनलोड

सिवनी : सिवनी कलेक्टर राहुल हरिदास फटिंग (Dr Rahul Haridas Fating) द्वारा अपील की गयी है की...