Home देश नोएडा में धारा 144 रहेगी 30 अप्रैल तक सभी तरह के कार्यक्रम प्रतिबंधित

नोएडा में धारा 144 रहेगी 30 अप्रैल तक सभी तरह के कार्यक्रम प्रतिबंधित

गौतमबुद्ध नगर के अपर पुलिस उपायुक्त (Law And Order) आशुतोष द्विवेदी ने बताया कि कोविड-19 के मद्देनजर जनपद में 5 अप्रैल तक धारा 144 लागू जिसे बढ़ाने का फैसला लिया गया.

नोएडा. कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण की रफ्तार को कम करने और सोशल डिस्‍टेंसिंग को बरकरार रखने के लिए गौतमबुद्ध नगर जिला प्रशासन ने बड़ा फैसला लिया है. जिला प्रशासन ने धारा 144 के अमल को 30 अप्रैल तक बढ़ाने का फैसला किया है. COVID-19 को रोकने के लिए पहले 5 अप्रैल तक धारा 144 लागू की गई थी, लेकिन बदले हालात में अब इसे बढ़ाने का फैसला किया गया है. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, पूर्व में लिए गए फैसले के तहत इसकी मियाद रविवार 5 अप्रैल को ही समाप्‍त हो रही थी.

दूसरी तरफ, गौतमबुद्ध नगर के डीम सुहास एलवाई ने उत्‍तर प्रदेश आपदा प्रबंधन अधिनियम-2005 के प्रावधानों के तहत दिए गए अधिकारों का इस्‍तेमाल करते हुए शैक्षणिक संस्‍थानों द्वारा फीस वसूली की प्रक्रिया को रोकने का आदेश दिया है. बता दें कि इससे उन लोगों को राहत मिलेगी जिनके बच्‍चे निजी स्‍कूलों में पढ़ते हैं. स्‍कूलों समेत अन्‍य शैक्षणिक संस्‍थानों में आमतौर पर 1 अप्रैल से नया शैक्षणिक सत्र शुरू हो जाता है.

- Advertisement -

5 अप्रैल तक धारा 144 लागू थी
अपर पुलिस उपायुक्त (कानून एवं व्यवस्था) आशुतोष द्विवेदी ने बताया कि कोविड-19 के मद्देनजर जनपद गौतम बुध नगर में 5 अप्रैल तक धारा 144 लागू थी. उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए धारा 144 को 30 अप्रैल तक बढ़ाया गया है. द्विवेदी ने बताया कि देश में लागू लॉकडाउन की अवधि समाप्त होने के पश्चात भी जिले में 30 अप्रैल तक सभी राजनैतिक, सांस्कृतिक, धार्मिक, खेल संबंधित आयोजन, हर प्रकार की प्रदर्शनी, रैलियां, जुलूस तथा इस प्रकार के अन्य सभी कार्यक्रमों को प्रतिबंधित किया जाता है. उन्होंने बताया कि जो भी व्यक्ति इस आदेश का उल्लंघन करेगा उसके विरुद्ध भारतीय दंड कानून की धारा 188 के अंतर्गत कार्रवाई की जाएगी.

योगी ने दिए लॉकडाउन खत्‍म करने के संकेत
उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने प्रदेश में लॉकडाउन खत्‍म करने के संकेत दिए हैं. उन्‍होंने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये सांसदों और विधायकों से से बात करते हुए 15 अप्रैल को लॉकडाउन खत्‍म करने के संकेत दिए. रविवार को यूपी के सभी सांसदों और विधायकों के साथ हुई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में उन्होंने यह संकेत दिए. मुख्यमंत्री ने कहा कि 15 अप्रैल को लॉकडाउन खत्म होने पर चुनौती बड़ी होगी. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन खुलने के बाद भी सोशल डिस्टेंस का अनुपालन करवाना सभी की जिम्मेदारी होगी. मुख्यमंत्री ने कहा, ’15 अप्रैल से लॉकडाउन समाप्त होगा. तो मैं चाहूंगा कि अगर हम 15 तारीख से लॉकडाउन खोलेंगे तो एकाएक भीड़ निकलेगी. इसे रोकने के लिए आप लोगों का सहयोग चाहिए, क्योंकि अगर अचानक भीड़ सड़कों पर निकलेगी तो स्थिति अनियंत्रित हो सकती है. इसकी वजह से सारी मेहनत पर पानी फिर जाएगा. इसके लिए हमें एक व्यवस्था बनानी होगी. ऐसे में आप सभी लोग अपना-अपना सुझाव मुझे दें.’

- Advertisement -

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Shubham Sharmahttps://khabarsatta.com
Editor In Chief : Shubham Sharma

Leave a Reply

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

11,007FansLike
7,044FollowersFollow
794FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

संकल्प पत्र पर बोली कांग्रेस- सिंधिया को कांग्रेस का दुल्हा बताने वाली BJP खुद बाराती भी नहीं बना रही है

भोपाल: विधानसभा उपचुनाव के लिए बीजेपी ने चुनावी रणनीति के तहत 28 अक्टूबर को एक साथ पूरे 28 विधानसभा...

दिग्विजय का सिंधिया से सवाल- राज्यसभा सांसद तो कांग्रेस भी बनाती थी फिर दुश्मन के सामने क्यों झुके

अशोकनगर: विधानसभा उपचुनाव के मद्देनजर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह दो दिवसीय दौरे पर अशोकनगर के मुंगावली पहुंचे। वहां नुक्कड़ सभा में सीएम शिवराज सिंह चौहान...

निकिता हत्याकांड पर फूटा कंगना का गुस्सा, कहा- इस्लाम स्वीकार नहीं किया तो लड़की को उतार दिया मौत के

हरियाणा के फरीदाबाद जिले के बल्लभगढ़ शहर में कॉलेज से पेपर देकर बाहर निकली एक छात्रा निकिता तोमर(21) की मुस्लिम समुदाय के एक युवक...

स्वास्थ्य मंत्रालय बोला-भारत प्रति 10 लाख की आबादी पर सबसे कम केस वाले देशों में शामिल

भारत प्रति दस लाख की आबादी पर कोरोना वायरस संक्रमण और इससे होने वाली मौतों के सबसे कम मामलों वाले देशों की सूची में...

लद्दाख को चीन के भूभाग के तौर पर दिखाना : ट्विटर का जवाब पर्याप्त नहीं : मीनाक्षी लेखी

नयी दिल्ली: लद्दाख को चीन के भूभाग के तौर पर दिखाने के संबंध में संसदीय समिति के सामने माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर का स्पष्टीकरण पर्याप्त नहीं...
x