UPSC में ​नेत्रहीन बेटे की सफलता में मां बनी ढाल, NOTES किए तैयार तब कड़ी मेहनत के बाद बेटा IAS

Mother became a shield in the success of a blind son in UPSC, prepared NOTES, then after hard work, son IAS

Must read

Shubham Sharma
Shubham Sharma
Shubham Sharma is an Indian Journalist and Media personality. He is the Director of the Khabar Arena Media & Network Private Limited , an Indian media conglomerate, and founded Khabar Satta News Website in 2017.
- Advertisement -

यूपीएससी ने 2021 परीक्षा परिणाम घोषित कर दिए हैं। जिसमें कई युवाओं ने कड़ी मेहनत के बाद बाजी मारी है। इसमें कई युवा पहले प्रयास में ही पास हो गए हैं जिससे उनकी खुशी का ठिकाना नहीं है।

वहीं कहीं युवा ऐसे भी हैं जो कई दिनों से मेहनत कर रहे हैं, लेकिन इसके बावजूद भी सफलता हासिल नहीं कर पाए हैं। ऐसे में हम यूपीएससी एग्जाम में सफलता हासिल करने वाले एक ऐसे युवा के बारे में बताने जा रहे हैं।

- Advertisement -

जिसने काफी मेहनत और लगन के बाद सफलता हासिल कर परचम लहराया है। यह उम्मीदवार उन सभी से हटके हैं क्योंकि यह नेत्रहीन है, लेकिन इसके बावजूद भी इस तरह की सफलता अपने नाम की है।

20 साल के सम्यक जैन ने 7वीं रैंक की हासिल

दरअसल यूपीएससी परीक्षा में इस बार 685 उम्मीदवारों ने बाजी मारी है जिसमें एक कैंडिडेट जिसने सातवीं रैंक हासिल कर सफलता का परचम लहराया है। यह उम्मीदवार दिव्यांग है और उन्हें आंखों से दिखाई नहीं देता है, लेकिन इसके बावजूद सम्यक जैन ने 7वी रैंक हासिल कर ली है।

- Advertisement -

उनकी उम्र 20 साल है। वहां अपने जीवन में हमेशा बहुत सारी चीजों से डरते हैं, लेकिन सम्यक जैन ने ऐसा नहीं किया बल्कि उन्होंने मेहनत करके इतनी बड़ी सफलता हासिल कर ली उसे हासिल करना हर किसी की बस की बात नहीं है।

दिल्ली के इस विद्यालय से की पढ़ाई

सम्यक जैन ने यह साबित कर दिया कि अगर आंख नहीं है तो भी उन्होंने देखने वाले लोगों को पीछे छोड़ दिया है। उन्होंने व्यक्ति को दिखा दिया कि अगर कुछ करने की ठान लो तो उनके सामने कितनी भी मुसीबतें क्यों ना आ जाए नामुमकिन को भी मुमकिन बना सकते हैं, लेकिन इसके लिए हौंसले की ताकत होना चाहिए। ऐसे ही अब सम्यक जैन ने किया है ।

- Advertisement -

उन्होंने अपनी पारंपरिक शिक्षा मुंबई से की है। दिल्ली विश्वविद्यालय से एसओएल से इंग्लिश ऑनर्स में स्थान तक की डिग्री ली। इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मास कम्युनिकेशन से इंग्लिश जनरेशन में सर्टिफिकेट हासिल किया। वहीं जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में इंटरनेशनल रिलेशन से m.a. की डिग्री हासिल की है।

बता दें कि सम्यक जैन ने पहली बार यूपीएससी की परीक्षा नहीं दी है। इससे पहले उन्होंने 2020 में भी दी थी, लेकिन सफल नहीं हो पाए थे इसके बाद अब उन्होंने दूसरी बार इस परीक्षा को दी है। जिसमें उन्हें सफलता मिली है इस परीक्षा में उनकी मां ने काफी मेहनत की है उनके लिए यह सफलता इतनी आसान नहीं थी।

मां और दोस्तों ने की मदद

उनके दोस्त और उनकी मां ने उनके लिए नोट्स बनाएं और काफी मदद की तब कहीं जाकर उन्हें सफलता मिली है। दोस्तों ने किताबों का रेंज किया और पढ़ने के लिए लाकर दी तब कहीं जाकर अब उन्हें इस तरह की सफलता मिली है। सम्यक जैन ने इस सफलता को हासिल करने के लिए सात से लेकर 8 घंटे तक पढ़ाई की तैयारी के लिए उन्होंने ऑनलाइन क्लास लेना भी शुरू की तब कहीं जाकर अब वहां आईएएस अधिकारी बने हैं।

- Advertisement -

Latest article