Home देश Happy Birthday PM Narendra Modi : जब PM Modi ने भारत-पाक युद्ध में जवानों को पिलाई थी चाय

Happy Birthday PM Narendra Modi : जब PM Modi ने भारत-पाक युद्ध में जवानों को पिलाई थी चाय

Happy Birthday PM Narendra Modi: 17 सितंबर को भारत के 15वें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) का जन्मदिन (BirthDay) है। Happy Birthday PM Narendra Modi इस खास दिन पर हम आपको पीएम मोदी की जिंदगी से जुड़ा एक किस्सा लेकर बताते है . जिसके जरिए आप जान सकेंगे कि पीएम मोदी ने अपने बचपन में सेना के जवानों को भी चाय पिलाई थी।

पीएम मोदी की जिंदगी से जुड़े कई किस्से हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि साल 1965 में भारत-पाक युद्ध के दौरान मोदी जी ने स्टेशन से गुजर रहे भारतीय सेना के जवानों को चाय पिलाई थी। साल 2014 में पीएम पद मिलने के बाद पहली बार अपने गृह नगर में यात्रा के दौरान उन्होंने पत्रकारों को वाड नगर रेलवे स्टेशन पर चाय के उस स्टाल की तस्वीरें भी दिखाई थी। जहां वो चाय बेचा करते थे।

- Advertisement -

पीएम मोदी के नाम है ये रिकॉर्ड वैसे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम कई बड़े रिकॉर्ड हैं। लेकिन भारत के ऐसे पहले प्रधानमंत्री हैं, जिन्होंने मां के जिंदा रहते पीएम पद को ग्रहण किया था। उनकी मां हीराबेन अभी भी जिंदा हैं। नरेंद्र मोदी उत्तर गुजरात के मेहसाणा जिले के एक छोटे छोटे से गांव वडनगर के रहने वाले हैं। वडनगर में हैं कई इतिहास छुपे पीएम का जन्म 17 सितंबर 1950 को गुजरात में हुआ था। भारत की आजादी मिलने के 3 साल बाद उनका जन्म हुआ था।

PM Narendra Modi Birthday Special

नरेंद्र मोदी दामोदरदास मोदी और हीरा मोदी के छठे बच्चों में से तीसरे हैं। वडनगर एक ऐसा शहर है, जो इतिहास में डूबा हुआ है। पुरातत्व खुदाई से पता चलता है कि यह सीखने और आध्यात्मिकता का एक जीवंत केंद्र रहा था। इस शहर में चीनी यात्री ह्वेन त्सांग ने वडनगर का दौरा किया था। 17 साल की उम्र में लिया था ये फैसला उन्होंने 17 साल की उम्र में अपने करियर के बारे में सोच लिया था। लेकिन उस उम्र में नरेंद्र मोदी के लिए चीजें बहुत अलग थीं।

यह भी पढ़े :  किसानों का 'दिल्ली चलो' विरोध प्रदर्शन आज, दिल्ली- हरियाणा बॉर्डर पर भारी पुलिस बल तैनात, ड्रोन से रखी जा रही नजर
- Advertisement -
यह भी पढ़े :  विजय सिन्‍हा चुने गए स्‍पीकर ,पक्ष में पड़े 126 वोट, विपक्ष में 114

17 साल की उम्र में उन्होंने एक असाधारण निर्णय लिया। जिसने उनके जीवन को ही बदल कर रख दिया। उन्होंने घर छोड़ने और पूरे भारत में यात्रा करने का फैसला लिया था। वो एक सन्यास की तरह जीवन जीना चाहते थे। लेकिन उनके इस फैसले को सुनकर उनका परिवार हैरान था। लेकिन उन्होंने नरेंद्र की इच्छा को स्वीकार कर लिया। यह उनके लिए आध्यात्मिक जागृति का समय भी था। जो उन्हें एक ऐसे व्यक्ति से जोड़ता था, जिसकी वह हमेशा प्रशंसा करते थे स्वामी विवेकानंद।

Telegram News Group में ऐड होने के लिए यहाँ क्लिक करें

- Advertisement -

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Shubham Sharmahttps://khabarsatta.com
Editor In Chief : Shubham Sharma

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

11,262FansLike
7,044FollowersFollow
787FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

संजय दत्त से कंगना रनौत ने की हैदराबाद में मुलाकात

हैदराबाद : कंगना रनौत एक पहेली हैं! एक ओर, उसने हाल ही में संजय दत्त की नशीली दवाओं की लत के...
यह भी पढ़े :  IBPS Clerk Prelims exam 2020 admit card released; यहाँ देखे कैसे करें डाउनलोड

कोरोना काल में MP के कड़कनाथ मुर्गे की बढ़ी मांग, शासन ने तैयार की कड़कनाथ पालन योजना

भोपाल , मध्यप्रदेश : कोरोना काल में प्रदेश के प्रसिद्ध कड़कनाथ की देश में बढ़ती माँग को देखते हुए राज्य शासन ने इसके उत्पादन...

नरोत्तम बोले- लव जिहाद कानून पर अपनी स्थिति स्पष्ट करे कांग्रेस, किसान आंदोलन पर भी साधा निशाना

भोपाल: मध्य प्रदेश के राजनीति में अहम भूमिका निभाने वाले गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा इन दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गुणगाण करते नजर आ रहे...

नेता प्रतिपक्ष को लेकर कमलनाथ वर्सेस दिग्विजय ! खुलकर सामने आई तकरार…पूरा विश्लेषण

भोपाल: प्रदेश की सियासत बहुत कुछ या यूं कहें, कि सबकुछ गंवाने के बाद भी कांग्रेस अपनी गलतियों से कोई सीख नहीं ले रही...

लालू यादव की जमानत पर सुनवाई टली, कस्टडी को सत्यापित करने के लिए मांगा समय

रांची। लालू प्रसाद यादव की जमानत पर आज हाई कोर्ट में सुनवाई हुई। इस दौरान लालू के अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने सीबीआइ के जवाब...
x