Home » देश » Breaking: चंद्रयान बटा 2 हिस्सों में, अब चांद है सिर्फ 100 किलोमीटर दूर! विक्रम लैंडर चंद्रयान-3 से हुआ अलग

Breaking: चंद्रयान बटा 2 हिस्सों में, अब चांद है सिर्फ 100 किलोमीटर दूर! विक्रम लैंडर चंद्रयान-3 से हुआ अलग

By SHUBHAM SHARMA

Published on:

Follow Us
Chandrayaan-3-Update
Breaking: चंद्रयान बटा 2 हिस्सों में, अब चांद है सिर्फ 100 किलोमीटर दूर! विक्रम लैंडर चंद्रयान-3 से हुआ अलग

Join WhatsApp

Join Now

Join Telegram

Join Now

चंद्रयान 3: भारत के चंद्रयान-3 मिशन के लिए आज बेहद अहम दिन है. चंद्रयान-3 चंद्रमा की सबसे नजदीकी कक्षा में पहुंच गया है. 17 अगस्त को दोपहर 1 बजे प्रोपल्शन यूनिट से अलग होने के बाद, विक्रम लैंडर ने चंद्रमा की ओर अपनी यात्रा शुरू की। 

यानी आज से विक्रम लैंडर रोवर प्रज्ञा के साथ धीरे-धीरे चांद की ओर बढ़ेगा. इसके बाद चंद्रयान योजना के मुताबिक 23 अगस्त को चंद्रमा पर उतरेगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस बार इसरो में मौजूद रहेंगे. 

पूरी दुनिया का ध्यान अपनी ओर खींचने वाले चंद्रयान-3 ने आज एक और अहम पड़ाव पूरा कर लिया है। विक्रम लैंडर को चंद्रयान 3 के प्रोपल्शन मॉड्यूल से सफलतापूर्वक अलग कर दिया गया है। 

अब चंद्रयान को सिर्फ 100 किलोमीटर की दूरी तय करनी है. चंद्रमा का दो बार चक्कर लगाने के बाद यह उसकी ऊंचाई और गति को कम करना चाहता है। इसके बाद लैंडर 23 अगस्त की शाम 6 बजे चंद्रमा की सतह पर उतरेगा। 

Breaking: चंद्रयान बटा 2 हिस्सों में, अब चांद है सिर्फ 100 किलोमीटर दूर! विक्रम लैंडर चंद्रयान-3 से हुआ अलग

इसरो ने दोपहर 1 बजे प्रोपल्शन और लैंडर मॉड्यूल को अलग करने का काम पूरा किया। वहीं इसके बाद विक्रम लैंडर गोलाकार कक्षा में नहीं घूमेगा। यह फिर से अण्डाकार कक्षा में घूमेगा। इसके बाद 8 और 20 अगस्त को डीऑर्बिटिंग करके विक्रम लैंडर को 30 किमी पेरिल्यून और 100 किमी अपोलोन कक्षाओं में स्थापित किया जाएगा।

पेरिल्यून का अर्थ है चंद्रमा की सतह से सबसे कम दूरी, जबकि अपोलोन का अर्थ है चंद्रमा की सतह से अधिकतम दूरी। लेकिन ईंधन, चंद्र वातावरण, गति आदि के आधार पर यह कक्षा थोड़ी भिन्न हो सकती है। 

लेकिन इससे अभियान पर कोई असर नहीं पड़ेगा. लेकिन एक बार 30 किमी x 100 किमी की कक्षा पर पहुंचने के बाद, इसरो के लिए सबसे कठिन चरण शुरू हो जाएगा। यानी सॉफ्ट लैंडिंग.

30 किलोमीटर की दूरी तक पहुंचने के बाद विक्रम लैंडर की गति धीमी हो जाएगी. चंद्रयान-3 धीमी गति से चंद्रमा की सतह पर उतरेगा. ये सबसे कठिन दौर होगा. 

SHUBHAM SHARMA

Khabar Satta:- Shubham Sharma is an Indian Journalist and Media personality. He is the Director of the Khabar Arena Media & Network Private Limited , an Indian media conglomerate, and founded Khabar Satta News Website in 2017.

Leave a Comment

HOME

WhatsApp

Google News

Shorts

Facebook