Home देश उत्तर प्रदेश सहकारी ग्राम विकास बैंक बोर्ड पर 17 वर्ष बाद भाजपा काबिज, विरोधियों ने छोड़ा मैदान

उत्तर प्रदेश सहकारी ग्राम विकास बैंक बोर्ड पर 17 वर्ष बाद भाजपा काबिज, विरोधियों ने छोड़ा मैदान

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सहकारी ग्राम विकास बैंक बोर्ड पर 17 वर्ष बाद फिर से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का कब्जा होगा। प्रबंध समिति के 14 पदों पर बुधवार को नामांकन पत्र दाखिल किए गए, लेकिन इस दौरान विरोधी गायब रहे। लगभग तीन दशक तक सहकारी बैंक की राजनीति में अपनी धमक बनाए रखने वाले मुलायम सिंह यादव परिवार के समर्थक भी मैदान छोड़ गए। कोई विरोधी न होने के कारण 14 भाजपा समर्थकों ने पर्चे भरे। जितने पद उतने ही नामांकन होने से सभी सदस्यों का निर्विरोध निर्वाचित होना तय है। गुरुवार को नाम वापसी की औपचारिकता पूरी होने के बाद प्रबंध समिति के गठन की विधिवत घोषणा हो जाएगी।

करीब छह माह से चल रही भाजपा की रणनीतिक तैयारी बुधवार को फलीभूत हुई। भाजपा का पहला बोर्ड वर्ष 1999 में गठित हुआ था, तत्कालीन सहकारिता मंत्री रामकुमार वर्मा के भाई सुरजन लाल वर्मा अक्टूबर 2003 तक सभापति रहे। इस कालखंड को छोड़ दें तो नब्बे के दशक से अब तक समाजवादियों का ही दबदबा बना रहा।

- Advertisement -

बुधवार को नामांकन कराने से पहले सभी उम्मीदवार भाजपा मुख्यालय में एकत्रित हुए। प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह व अन्य पदाधिकारियों के साथ बैठक के बाद माल एवेन्यू स्थित बैंक मुख्यालय पहुंचे और नामाकंन पत्र जमा कराने की प्रक्रिया पूरी की।

नामांकन करने वाले उम्मीदवार : सत्यवती-अलीगढ़, संदीप भदौरिया उर्फ श्याम भदौरिया-आगरा, मुक्तेश्वर सिंह- बलिया आजमगढ़, रामसरन-कानपुर, इंद्रपाल-बांदा झांसी, जमुना प्रसाद -अंबेडकरनगर देवीपाटन, राम पलट-प्रयागराज, रविंद्र सिंह राठौर- बरेली, महेंद्र कुमार धनौरिया-बिजनौर मुरादाबाद, कृष्णपाल मलिक-बड़ौत मेरठ, बम्बालाल-उन्नाव लखनऊ एक, सुधीर कुमार सिंह-बाराबंकी-लखनऊ दो, अंजना श्रीवास्तव-जौनपुर वाराणसी।

- Advertisement -
यह भी पढ़े :  ग्रेनेड संभालते समय हुए विस्फोट में सेना का कैप्टन घायल, CRPF हेड कांस्टेबल ने संदिग्ध परिस्थितियों में की आत्महत्या

संतराज होंगे सभापति, केपी मलिक उपसभापति : प्रबंध समिति सदस्यों का निर्विरोध निर्वाचन होने के बाद सभापति और उपसभापति का चयन भी आम सहमति से होगा। सभापति व उपसभापति का चुनाव 23 सितंबर को होगा, जिसमें गोरखपुर के संतराज का सभापति और बड़ौत निवासी विधायक केपी मलिक का उपसभापति निर्वाचित होना लगभग तय है।

- Advertisement -

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Shubham Sharmahttps://khabarsatta.com
Editor In Chief : Shubham Sharma

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

11,255FansLike
7,044FollowersFollow
781FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

याेगी सरकार ने लव जिहाद कानून काे दी मंजूरी, साधू संतों ने फैसले का किया स्वागत

प्रयागराज: उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने जबरन धर्म परिवर्तन मामले को लेकर सख्त है। इसे देखते हुए सरकर ने...
यह भी पढ़े :  धुंध ने रोकी दिल्ली की रफ्तार, जहरीली हवा से लोगों को सांस लेने में हो रही दिक्कत

विजय सिन्‍हा चुने गए स्‍पीकर ,पक्ष में पड़े 126 वोट, विपक्ष में 114

पटना ।  बिहार के संसदीय इतिहास में अरसे बाद विधानसभा अध्यक्ष पद का आज चुनाव हुआ है। प्रोटेम स्‍पीकर जीतन राम मांझी ने विजय...

सिवनी कलेक्टर द्वारा जिले के क्रेशर संचालकों, डम्फर संचालकों से अप्रत्‍याशित परिस्थितियों में नागरिकों की जान -माल की सुरक्षा के लिए त्वरित राहत बचाव...

सिवनी : कलेक्टर डॉ राहुल हरिदास फटिंग द्वारा मंगलवार 25 नवम्बर को जिले के क्रेशर संचालकों, डम्‍फर संचालकों की बैठक लेकर अप्रत्याशित आपदा से...

नगरोटा साजिश के पीछे था पाक का हाथ! आतंकियों के पास से मिले डिवाइस ने खोले कई राज

भारतीय सुरक्षा बलों द्वारा 19 नवंबर को जम्मू कश्मीर के नगरोटा में एक बड़े आतंकी हमले की साजिश को नाकाम करने के बाद सेना...

राहुल गांधी ने किए तरुण गोगोई के अंतिम दर्शन, बोले- मैंने अपने गुरु को खो दिया

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई के पार्थिव शरीर को बुधवार को श्रद्धांजलि दी और कहा कि गोगोई उनके...
x