Homeदेशसंसद में चर्चा से इन्कार करने वाले विपक्षी दल सड़क पर लोकतंत्र...

संसद में चर्चा से इन्कार करने वाले विपक्षी दल सड़क पर लोकतंत्र और संसदीय परंपराओं का हितैषी बता रहे

- Advertisement -

कोरोना संकट के कारण संसद का मानसून सत्र तय समय से पहले खत्म हो गया, लेकिन यह उल्लेखनीय है कि कम अवधि वाले इस सत्र में करीब दो दर्जन विधेयक पारित किए गए। इनमें कृषि सुधार संबंधी तीन महत्वपूर्ण विधेयकों के साथ श्रम सुधारों को आगे ले जाने वाले विधेयक भी शामिल हैं। इसके अलावा दिवालिया संहिता संबंधी संशोधन विधेयक पारित हुआ और विदेशी चंदे संबंधी विधेयक पर भी मुहर लगी। इतने कम समय में इतनी अधिक संख्या में विधेयक इसीलिए पारित हो सके, क्योंकि संसद में देर रात भी काम हुआ और रविवार के दिन भी। संसदीय कामकाज के प्रति के सांसदों के इस समर्पण की सराहना होनी चाहिए, लेकिन अच्छा होता कि जो महत्वपूर्ण विधेयक पारित हुए उन पर गहन चर्चा भी होती।

भले ही विपक्ष व्यापक चर्चा के बगैर महत्वपूर्ण विधेयकों के पारित होने को लेकर सत्तापक्ष पर दोष मढ़े, लेकिन इस स्थिति के लिए वह खुद भी जिम्मेदार है। यह देखना दयनीय है कि वह अपने नकारात्मक रवैये पर विचार करने के बजाय धरना-प्रदर्शन कर स्वयं को सही साबित करने की कोशिश कर रहा है। विपक्ष और खासकर कांग्रेस को सबसे ज्यादा आपत्ति कृषि सुधारों पर केंद्रित विधेयकों पर है, लेकिन क्या इन विधेयकों के जरिये वही नहीं किया गया, जिसकी वकालत उसने अपने घोषणा पत्र में की थी?

- Advertisement -

क्या कांग्रेस लोकसभा चुनाव के अवसर पर जारी किए गए अपने घोषणा पत्र को वापस लेने को तैयार है, जिसमें कहा गया था कि यदि वह सत्ता में आई तो एपीएमसी एक्ट को खत्म कर देगी? यदि नहीं तो फिर उसे धरना-प्रदर्शन करने के बजाय यह स्पष्ट करना चाहिए कि आखिर उसके विरोध का औचित्य क्या है? कांग्रेस और कुछ अन्य विपक्षी दल अब यह दम भर रहे हैं कि वे सड़कों पर उतरने के साथ राष्ट्रपति से यह अनुरोध करने जाएंगे कि वे कृषि संबंधी विधेयकों पर हस्ताक्षर न करें। क्या संसदीय नियम-कानून और परंपराएं इसकी अनुमति देती हैं कि संसद से पारित विधेयकों को राष्ट्रपति मंजूरी देने से इन्कार कर दें?

साफ है कि विपक्ष केवल दिखावे की राजनीति कर रहा है। उसने यही काम नागरिकता संशोधन कानून को लेकर भी किया था। तब वह यह चाह रहा था कि संसद से पारित विधेयक इस कारण खारिज कर दिया जाए, क्योंकि वह सड़क पर उतरकर हंगामा कर रहा है। यह सस्ती राजनीति के अलावा और कुछ नहीं कि संसद में चर्चा से इन्कार करने वाले विपक्षी दल संसद के बाहर शोर-शराबा कर खुद को लोकतंत्र और संसदीय परंपराओं का हितैषी बता रहे हैं। यदि राज्यसभा में विपक्ष का संख्याबल पहले जैसा नहीं रहा तो इसका यह मतलब नहीं कि वह अपनी खीझ सड़कों पर निकाले।

- Advertisement -
spot_img
spot_img
Shubham Sharma
Shubham Sharma is an Indian Journalist and Media personality. He is the Director of the Khabar Arena Media & Network Private Limited , an Indian media conglomerate, and founded Khabar Satta News Website in 2017.

Popular (Last 7 Days)

bihar-viral-fever

बिहार में जानलेवा दिखाई दे रहा वायरल फीवर, अब तक 13 की मौत

0
शुभम शर्मा @shubham-sharma पटना । बिहार में इस समय वायरल बुखार का प्रकोप बच्चों के लिए जानलेवा साबित हो रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने...

Shehnaaz Gill की मां से मिले Abhinav Shukla ने बयां किया दर्द, बताया अब...

0
टीवी एक्टर सिद्धार्थ शुक्ला (Sidharth Shukla) को गुजरे हुए आज 12 दिन बीत गए हैं.
munmun-datta

TMKOC: मुनमुन दत्ता ने राज अनादकट के साथ अपने रिलेशन की अफवाहों के बाद...

0
तारक मेहता का उल्टा चश्मा के अभिनेता राज अनादकट उर्फ ​​टप्पू और मुनमुन दत्ता उर्फ ​​बबीता डेटिंग की अफवाहों ने इंटरनेट पर तूफान ला...
Vidyut Jamwal Engagement

Vidyut Jamwal Engagement: विद्युत जामवाल ने फैशन डिजाइनर नंदिता महतानी से की सगाई

0
बॉलीवुड के एक्शन हीरो विद्युत् जामवाल ने हाल ही में फैशन डिजाइनर नंदिता महतानी से सगाई कर ली है और अब इस खबर को...
Whatsapp New Feature

WhatsApp Add to Cart Feature: व्हाट्सएप यूजर्स को Shopping के लिए Whatsapp पर मिलेगी...

0
नई दिल्ली, शुभम शर्मा : WhatsApp Add to Cart Feature: व्हाट्सएप यूजर्स को Shopping के लिए Whatsapp पर मिलेगी 'Add to Cart' बटन व्हाट्सएप ने...

Big Breaking: भूपेंद्र पटेल होंगे गुजरात के नए मुख्यमंत्री, विधायक दल की बैठक में...

0
गुजरात के नए मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल बनाए गए हैं.
seoni-kisan-satyagrah

सिवनी: 4 साल से नहर में पानी के इन्तेजार के बाद अब सैंकड़ो किसानों...

0
सिवनी : पेंच परियोजना सिवनी जिले के लिए एक वरदान साबित हो सकती थी, किंतु भ्रष्टाचार और घटिया राजनीति के चलते ये योजना भी...

Kota Factory Season 2 का ट्रेलर रिलीज

0
जितेंद्र कुमार (Jitendra Kumar) एक बार फिर वेब सीरीज कोटा फैक्ट्री (Kota Factory Season 2 ) से धमाल मचाने के लिए तैयार है.
tarun-patel

सिवनी: टीम आरोपण ने सफलतापूर्वक किया 500 वृक्षों का वृक्षारोपण

0
सिवनी: दिनांक 11/09/2021 ऋषि पंचमी के उपलक्ष में ग्राम हिवरा में 100 सागौन के वृक्षों का किया वृक्षारोपण एवम ग्राम हिवरा के निवासी...
MP Police GK In Hindi 2020

MP Police GK In Hindi 2020 : म0प्र0 पुलिस भर्ती के लिए जरूरी जनरल...

0
MP Police GK In Hindi 2020 : म0प्र0 पुलिस जनरल नॉलेज 2020 MP Police GK In Hindi 2020 Hindi | मध्य प्रदेश पुलिस सामान्य...
- Advertisment -