Home विदेश अमेरिका में मतदान जारी, राष्‍ट्रपति ट्रंप बोले- यह सियासत है यहां कुछ भी नहीं कहा जा सकता

अमेरिका में मतदान जारी, राष्‍ट्रपति ट्रंप बोले- यह सियासत है यहां कुछ भी नहीं कहा जा सकता

वाशिंगटन। अमेरिका में राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए वोटिंग जारी है। न्‍यूयॉर्क, न्‍यूजर्सी और वर्जीनिया में पोलिंग स्‍टेशनों के बाहर लोग मतदान के लिए अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं। इस बीच चुनाव के दिन हिंसा की आशंका को देखते हुए सुरक्षा के पुख्‍ता बंदोबस्‍त किए गए हैं। व्हाइट हाउस समेत प्रमुख वाणिज्य क्षेत्रों और बाजारों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

ट्रंप बोले, राजनीति में कुछ भी कहा नहीं जा सकता 

- Advertisement -

ट्रंप ने कहा है कि मैंने जीत या हार के भाषण को लेकर कोई तैयारी नहीं की है। आखिर में हम दोनों (ट्रंप या बिडेन) में से कोई एक तो ऐसा करेगा। जीत आसान होती है लेकिन हार कठिन, खास तौर पर मेरे लिए तो हार बिल्कुल भी आसान नहीं है। रैलियों को देखिए तो वहां जबर्दस्त भीड़ हो रही है। लोग हमें भरपूर प्यार दे रहे हैं और बेजोड़ एकजुटता दिखा रहे हैं। हम शानदार जीत दर्ज करने वाले हैं लेकिन यह राजनीति है और यहां कुछ भी नहीं कहा जा सकता है।

बैलेट पहुंचने में हुई देर तो अदालत ने दिए आदेश 

- Advertisement -

अमेरिका में जारी चुनाव के बीच एक अजीब वाकया पेश आया है। पेंसिलवेनिया और फ्लोरिडा जैसे राज्‍यों में बैलेट्स के पहुंचने में देरी की शिकायत सामने आई है। यह मामला तुरंत अदालत पहुंचा और न्‍यायाधीश ने अमेरिकी पोस्‍टल सेवा को कहा कि इन क्षेत्रों में जल्‍द से जल्‍द मतदाताओं के लिए उक्‍त सेवा मुहैया कराई जाए। उक्‍त आदेश के दायरे में केंद्रीय पेंसिल्वेनिया, उत्तरी न्यू इंग्लैंड, दक्षिण कैरोलिना, दक्षिण फ्लोरिडा, कोलोराडो, एरिज़ोना, अलबामा और व्योमिंग, अटलांटा, ह्यूस्टन, फिलाडेल्फिया, डेट्रायट और लेकलैंड, फ्लोरिडा के शहर आएंगे

बिडेन के लिए गागा ने मांगा वोट 

- Advertisement -

लेडी गागा ने अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के प्रतिद्वंद्वी जो बिडेन के लिए वोट मांगा। इस दौरान स्‍टेज पर उनकी अदा देखने लायक थी। पिट्सबर्ग और पेनसिल्वेनिया में एक चुनावी रैली में उन्‍होंने लोगों से बड़ी संख्‍या में मतदान की अपील की और कहा कि आप सभी का जीवन इसी चुनाव पर टिका हुआ है।

हैरिस बोलीं, बिडेन के पास नस्लीय अन्याय से लड़ने का साहस 

कमला हैरिस ने मतदाताओं से कहा कि अमेरिका में लंबे समय से जारी नस्लीय अन्याय के बारे में सोचें। जो बिडेन के पास इससे लड़ने का साहस है। वह समझते हैं कि इसके बारे में सोचना, बोलना और सुनना मुश्किल हो सकता है लेकिन हम चीजों की सच्चाई का सामना कर सकते हैं। मौजूदा वक्‍त में अमेरिका को नस्‍लीय विषमताओं से निपटने की सख्‍त जरूरत है। बता दें कि बीते दिनों आए एक सर्वे में एशियाई-अमेरिकी और अश्‍वेत मतदाताओं ने बिडेन पर भरोसा जताया था।

बिल और हिलेरी क्लिंटन ने डाले वोट 

अमेरिका में वोटिंग की प्रक्रिया जारी है। पूर्व राष्‍ट्रपति बिल क्लिंटन और उनकी पत्‍नी हिलेरी क्लिंटन ने डेमोक्रेटिक पार्टी से राष्‍ट्रपति और उपराष्‍ट्रपति पद के उम्‍मीदवार जो बिडेन और कमला हैरिस के लिए मतदान किया है। इससे पहले अमेरिका की प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप ने फ्लोरिडा में अपना वोट डाला… मौजूदा अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप पहले ही मतदान कर चुके हैं…

यह भी पढ़े :  अमेरिका में कई स्थानों पर भारतीय-अमेरिकियों ने मनाया छठ पर्व

ट्रंप के दावे पर बोलीं हैरिस, मतदान अभी खत्‍म नहीं हुआ 

अमेरिकी चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से उपराष्‍ट्रपति पद की उम्‍मीदवार कमला हैरिस ने भी अपनी जीत का दावा किया है। हैरिस ने कहा है कि दिन अभी खत्‍म नहीं हुआ है। मतदान खत्‍म हो जाने दीजिए इसके बाद मुझसे पूछिएगा तब शायद मेरे पास बेहतर कहने के लिए कुछ होगा। फिलहाल मैं यहां लोगों को मतदान करने के लिए याद दिला रही हूं क्‍योंकि यह अभी जारी है… ‍

यह भी पढ़े :  बाइडन के शासन में और अधिक मजबूती से आगे बढ़ेंगे भारत और अमेरिका, पीएम मोदी ने जताई उम्‍मीद

ट्रंप ने महत्‍वपूर्ण राज्‍यों में उम्‍दा प्रदर्शन का दावा किया 

राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने वर्जीनिया में अपनी जीत का दावा करते हुए कहा कि मैंने सुना है कि हम फ्लोरिडा में बहुत अच्‍छा कर रहे हैं। एरिजोना और टेक्‍सास में भी हमारा प्रदर्शन बढ़िया है। हम इन महत्‍वपूर्ण राज्‍यों में उम्‍दा प्रदर्शन कर रहे हैं। मैं समझता हूं कि हम एक महान नाइट सेलिब्रेशन की ओर जा रहे हैं। इससे भी बड़ी बात यह कि हम महान कार्यकाल की ओर बढ़ रहे हैं।

ट्रंप बोले, कमला हैरिस का उपराष्ट्रपति बनना महिलाओं के लिए खतरनाक 

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कहा है कि कमला हैरिस का उपराष्ट्रपति के तौर पर निर्वाचित होना महिलाओं के लिए बहुत खतरनाक होगा। उन्‍होंने लोगों से मतदान की अपील करते हुए कहा कि आपको उन लोगों से निपटना है जो धोकेबाज हैं। इससे पहले ट्रंप ने दावा किया कि हैरिस देश की पहली महिला राष्ट्रपति बनाना चाहती हैं। यह कारण काफी है कि आप बिडेन के पक्ष में मतदान नहीं करें।

नाइट पार्टी में अतिथियों की संख्‍या घटाई, मेलेनिया ने दिया यह जवाब 

सीएनएन ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि व्‍हाइट हाउस में चुनाव के दिन होने वाली नाइट पार्टी में अतिथियों की संख्‍या घटाकर 250 कर दी गई है। वहीं बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, वोट डालने के बाद संवाददाताओं ने जब मेलानिया ट्रंप से पूछा कि आपने अपने पति के साथ मतदान क्यों नहीं किया। इस पर उन्‍होंने कहा कि मैं चाहती थी कि पोलिंग बूथ पर आकर मतदान करूं… सनद रहे कि ट्रंप एक हफ्ते पहले ही बैलेट के जरिए मतदान कर चुके हैं…

बिना मास्क के वोट डालने पहुंचीं मेलानिया  

अमेरिका की प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप ने फ्लोरिडा में अपना वोट डाला। वह बिना मास्क के वोट डालने जाती नजर आईं… फ्लोरिडा कांटे के मुकाबले वाले प्रांतों में शुमार है। फ्लोरिडा के साथ साथ पेंसिलवेनिया, टेक्सॉस और मिशिगन में भी बिडेन और राष्‍ट्रपति ट्रंप के बीच काफी कड़ा मुकाबला माना जा रहा है। बता दें कि अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप ने फ्लोरिडा और एरिजोना में अपनी जीत का भरोसा जताया है।

राष्ट्रीय सर्वेक्षणों में बिडेन आगे 

वोटिंग के शुरुआती दौर में ही बड़ी संख्या में लोगों के मतदान करने की खबरें हैं। पेनसिल्वेलिया में सैकड़ों लोग वोटिंग शुरू होने से पहले ही पोलिंग बूथों के बाहर कतारों में नजर आए। राष्ट्रीय सर्वेक्षणों में मौजूदा राष्‍ट्रपति ट्रंप के लिए निराशाजनक खबरें आ रही हैं। इन सर्वेक्षणों में जो बिडेन के ट्रंप से आगे रहने का अनुमान लगाया जा रहा है। बिडेन राष्ट्रपति ट्रंप से 6.7 फीसद वोटों से आगे चल रहे हैं।

यह भी पढ़े :  बाइडन के शासन में और अधिक मजबूती से आगे बढ़ेंगे भारत और अमेरिका, पीएम मोदी ने जताई उम्‍मीद

मतदान केंद्रों के बाहर लंबी कतारें 

अमेरिका में मतदान को लेकर चूंकि अलग अलग राज्‍यों में अलग अलग टाइमिंग तय की गई है। वर्जीनिया, न्‍यूयॉर्क, न्‍यूजर्सी, कैलिफोर्निया में लंबी लाइनें नजर आ रही हैं। ओपीनियन पोल्‍स में बिडेन को लीड का आकलन किया गया है। ट्रंप ने कहा है कि मैं जीत की उम्‍मीदों को देखकर बहुत अच्‍छा महसूस कर रहा हूं। उन्‍होंने उम्‍मीद जताई कि फ्लोरिडा और एरिजोना में उनकी जीत होगी।

ट्रंप ने भी लोगों से की मतदान की अपील 

ट्रंप ने ट्वीट कर लोगों से बड़ी संख्‍या में मतदान करने की अपील की है। उन्‍होंने कहा, ‘मेरे सभी समर्थकों को तहेदिल से शुक्रिया। आप सभी शुरुआत से जुड़े रहे हैं। मैं भी आपको निराश नहीं करूंगा। आपकी उम्मीदें, मेरी उम्मीदें हैं… आपके सपने मेरे सपने हैं। मैं आपके भविष्य के लिए जूझ रहा हूं। बिडेन के लिए डाला गया वोट सरकार का नियंत्रण कम्युनिस्टों के हाथों में दे देगा। आएं अमेरिका को फिर से महान बनाने के मतदान करें…

पेलोसी बोलीं, संसद राष्ट्रपति का फैसला करने को तैयार

यह भी पढ़े :  नगरोटा पर पाकिस्‍तान को घेरने की पूरी तैयारी, श्रृंगला ने संभाली कमान, राजदूतों को बुला कर दी जानकारी

चुनाव नतीजों के बाद बवाल की आशंका को देखते हुए अमेरिका के प्रमुख वाणिज्यिक संस्थानों की सुरक्षा भी कड़ी कर दी गई है। अमेरिकी प्रतिनिधि सभा के अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी ने कहा है कि यदि नतीजों को लेकर कोई विवाद होता है तो संसद राष्ट्रपति का फैसला करने को तैयार है।

बिडेन और हैरिस ने लोगों से वोट डालने की अपील की 

डोमेक्रेटिक पार्टी से राष्‍ट्रपति पद के उम्‍मीदवार जो बिडेन, उपराष्‍ट्रपति पद की उम्‍मीदवार कमला हैरिस ने ट्वीट कर लोगों से बड़ी संख्‍या में मतदान की अपील की। बिडेन ने कहा, ‘आज चुनाव का दिन है। जाइये और अमेरिका के लिए मतदान करिए।’ कमला हैरिस ने कहा कि पूरे अमेरिका में मतदान शुरू हो गए हैं। मास्‍क प‍हनिए और जाइए अपने मतदान केंद्र पर वोट डालिए।

न्यू हैम्पशायर में डाला गया पहला वोट, डिक्सविले नॉच में सभी पांच वोट बिडेन को

पूर्वोत्तर राज्य न्यू हैम्पशायर के कस्बों डिक्सविले नॉच और मिल्सफील्‍ड में पहले वोट डाले गए। मतदाताओं ने अमेरिकी राष्ट्रपति और न्यू हैम्पशायर के राज्यपाल और संघीय और राज्य विधानसभा सीटों के लिए अपने पसंदीदा उम्मीदवारों को चुनने के साथ की। बिडेन ने न्यू हैम्पशायर के डिक्सविले नॉच में सभी पांच वोट जीत लिए हैं। यहां सबसे पहले नतीजे आए हैं। 

हाई अलर्ट पर सभी खुफिया संस्‍थान

इन चुनावों को हालिया इतिहास के सबसे विभाजनकारी चुनावों में से एक बताया जा रहा है। सभी महत्‍वपूर्ण सरकारी प्रतिष्ठान हाई अलर्ट पर हैं। सीक्रेट सर्विस ने व्हाइट हाउस को किले में तब्दील कर दिया है। इसके बाद राष्ट्रपति के आवास के परिसर के चारों तरफ एक अस्थाई तौर पर ऊंची दीवार खड़ी की गई है। हिंसा की आशंका को देखते हुए कामगार प्रमुख दुकानों और स्टोरों पर सुरक्षा के लिए फ्रेम लगाए गए हैं।

यह भी पढ़े :  Google, Facebook और Twitter ने दी Pakistan छोड़ने की धमकी, नए डिजिटल मीडिया कानून पर बवाल

भारत में जहां चुनाव आयोग मतदान के बाद अंतिम परिणाम घोषित करता है वहीं अमेरिका में इसके उलट हर अमेरिकी राज्य गणना करता है और मतदान खत्‍म होने के बाद परिणाम घोषित करता है। कई राज्‍यों में वोटिंग के बाद मतगणना शुरू हो जाएगी। चूंकि इस बार लोगों ने बड़ी संख्‍या में मेल इन बैलेट और पोस्टल बैलेट के जरिए मतदान किया है। इसलिए माना जा रहा है कि पोस्टल बैलेट की गिनती के कारण इस बार चुनाव परिणाम में देरी होगी।

ट्रंप या बिडेन कोई जीते भारत के साथ मजबूत रिश्‍ते रहेंगे बरकरार 

अमेरिका में राष्ट्रपति कोई भी बने लेकिन भारत के साथ उसके रणनीतिक संबंध ना केवल मजबूत होंगे बल्कि बढ़ते रहेंगे। ऐसा संकेत प्रत्याशियों के दस्तावेजों से मिलता है। ट्रंप भारत के सबसे अच्छे दोस्त के रूप में उभरे हैं। वह दोनों देशों के रिश्तों को एक नए मुकाम पर ले गए हैं। वहीं बिडेन ने भी भारत के साथ बेहतर संबंधों की वकालत की है।

अब तक का सबसे बड़ा सट्टेबाजी इवेंट बना यह चुनाव

अमेरिका का अगला राष्‍ट्रपति कौन होगा यह तो नतीजों के बाद पता चलेगा लेकिन यह चुनाव सट्टेबाजों के लिए एक बड़ा मौका बनकर आया है। सट्टा कंपनियों का कहना है कि मौजूदा अमेरिकी चुनाव अब तक का सबसे बड़ा सट्टेबाजी इवेंट बनने जा रहा है। इस चुनाव को लेकर सट्टेबाजी का आलम यह है कि एक खिलाड़ी ने तो जो बिडेन की जीत पर एक मिलियन पाउंड का रिकॉर्ड सट्टा लगाया है।

अर्ली वोटिंग में पौने दस करोड़ मतदान

अर्ली वोटिंग और डाक मतपत्र के माध्यम से अब तक पौन दस करोड़ लोग वोट डाल चुके हैं। अमेरिका में जीत सिर्फ पॉपुलर वोट से नहीं होती है। यह संख्या वर्ष 2016 में डाले गए वोटों का लगभग 68 फीसद है। इस चुनाव में कोरोना संकट, रोजगार, अश्‍वेत हिंसा समेत कई मुद्दे उछले हैं।

ऐसे होता है अमेरिकी राष्ट्रपति का चुनाव

अमेरिका में जीत सिर्फ पॉपुलर वोट से नहीं होती है। राष्ट्रपति बनने के लिए दोनों प्रत्याशियों में से किसी एक को 538 इलेक्टोरल कॉलेज में से 270 में जीत हासिल करनी होगी। यह चुनाव कैसे होता है? इसके क्‍या तौर तरीके हैं? भारत से यह चुनावी प्रक्रिया किस तरह से अलग है? आइए, हम आपको पूरी चुनावी प्रक्रिया सरल तरीके से समझाते हैं।

यह भी पढ़े :  Google, Facebook और Twitter ने दी Pakistan छोड़ने की धमकी, नए डिजिटल मीडिया कानून पर बवाल

अब तक ऐसा रहा है जीत का अंतर

ट्रंप का दावा है कि उनकी इलेक्टोरल कॉलेज जीत रोनाल्ड रीगन के बाद सबसे बड़ी होगी। वहीं आंकड़े दिखाते हैं कि ट्रंप की इलेक्टोरल कॉलेज जीत सिर्फ जॉर्ज डब्ल्यू बुश से ही ज्यादा है। बुश ने वर्ष 2000 में 271 मतों और 2004 में 286 मतों से जीत हासिल की थी। अमेरिका के इतिहास में अब तक ऐसा 16 बार हो चुका है, जब राष्ट्रपति दूसरी बार पद पर बने रहने का मौका मिला है।

- Advertisement -

Leave a Reply

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Khabar Satta Deskhttps://khabarsatta.com
खबर सत्ता डेस्क, कार्यालय संवाददाता

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

11,261FansLike
7,044FollowersFollow
787FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

संजय दत्त से कंगना रनौत ने की हैदराबाद में मुलाकात

हैदराबाद : कंगना रनौत एक पहेली हैं! एक ओर, उसने हाल ही में संजय दत्त की नशीली दवाओं की लत के...

कोरोना काल में MP के कड़कनाथ मुर्गे की बढ़ी मांग, शासन ने तैयार की कड़कनाथ पालन योजना

भोपाल , मध्यप्रदेश : कोरोना काल में प्रदेश के प्रसिद्ध कड़कनाथ की देश में बढ़ती माँग को देखते हुए राज्य शासन ने इसके उत्पादन...

नरोत्तम बोले- लव जिहाद कानून पर अपनी स्थिति स्पष्ट करे कांग्रेस, किसान आंदोलन पर भी साधा निशाना

भोपाल: मध्य प्रदेश के राजनीति में अहम भूमिका निभाने वाले गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा इन दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गुणगाण करते नजर आ रहे...

नेता प्रतिपक्ष को लेकर कमलनाथ वर्सेस दिग्विजय ! खुलकर सामने आई तकरार…पूरा विश्लेषण

भोपाल: प्रदेश की सियासत बहुत कुछ या यूं कहें, कि सबकुछ गंवाने के बाद भी कांग्रेस अपनी गलतियों से कोई सीख नहीं ले रही...

लालू यादव की जमानत पर सुनवाई टली, कस्टडी को सत्यापित करने के लिए मांगा समय

रांची। लालू प्रसाद यादव की जमानत पर आज हाई कोर्ट में सुनवाई हुई। इस दौरान लालू के अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने सीबीआइ के जवाब...
x