Home विदेश बिहार में PM मोदी का नया पंच, 'डबल इंजन' बनाम 'डबल युवराज'

बिहार में PM मोदी का नया पंच, ‘डबल इंजन’ बनाम ‘डबल युवराज’

पटना।  ‘डबल इंजन’ बनाम ‘डबल युवराज।’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने चुनावी भाषण में रविवार को एक नया पंच दिया। दूसरी ओर सनातन आस्था का लोकपर्व छठ और गंगा का घाट। ये दोनों ही एक दूसरे के पर्याय हैं। बिहार में चुनावी घमासान है और परिणाम के कुछ ही दिनों बाद छठ। मोदी ने अपने भाषण के दौरान पूरे बिहार को इसी बहाने कई संदेश देने की कोशिश की। इसमें रोटी, रोजगार और भयमुक्त बिहार था। वहीं, ‘डबल इंजन की सरकार’ बनाम ‘डबल युवराज’ का नया पंच देते हुए बिना नाम लिए तेजस्वी यादव और राहुल गांधी पर सीधा हमला बोला।

भिखारी ठाकुर से लेकर रामकलावन तक को किया याद

- Advertisement -

भोजपुरी से ही संबोधन शुरू करते हुए लोगों को सीधे जोड़ने की कोशिश की। ‘अंबिका भवानी माई के भूमि के नमन करऽ तानी…,’ यह उनके संबोधन की शुरुआत थी। आमी में मां अंबिका भवानी के मंदिर से न सिर्फ छपरा, बल्कि बिहार और देश की सनातन आस्था जुड़ी है। यहां की विभूतियों से जुड़ी लोगों की भावनाओं के तार को झंकृत करते हुए देश के प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद और भोजपुरी के महान लोक कलाकार भिखारी ठाकुर को भी याद किया। हाल ही में सेशेल्स के राष्ट्रपति चुने गए वैवेल रामकलावन को भी मंच से बधाई दी, जिनके पूर्वज गोपालगंज के थे

बिहार के गौरव का कराया अहसास, जंगलराज की दिलाई याद

- Advertisement -

मोदी इन सबका उल्लेख करते हुए एक ओर बिहार के गौरव का अहसास कराते दिखे तो दूसरी ओर बार-बार ‘जंगलराज’ कहते हुए परोक्ष रूप से लालू प्रसाद और महागठबंधन पर हमलावर दिखे। उन्होंने किसी का नाम लिए बिना उत्तर प्रदेश के चुनाव का भी जिक्र किया कि वहां भी दो युवराज सिंहासन बचाने को साथ थे। सीधा इशारा अखिलेश यादव और राहुल गांधी पर। बिहार में भी डबल युवराज और इनमें एक तो जंगलराज का युवराज…। इशारा लालू प्रसाद के पुत्र तेजस्वी पर था। दूसरे युवराज मतलब महागठबंधन के घटक दल कांग्रेस के नेता राहुल गांधी। मोदी ने नाम भले न लिया हो, पर आरोपों की झड़ी में निशाने पर यही थे।

यह भी पढ़े :  महान फुटबॉलर डिएगो माराडोना की 60 वर्ष की उम्र में म्रत्यु | Diego Maradona Dies Aged 60
यह भी पढ़े :  पाक मंत्री ने इमैनुअल मैक्रों के खिलाफ नाजी संबंधी बयान लिया वापस, फ्रांस सरकार ने जताई थी कड़ी आपत्ति

महागठबंधन से दूर रहने की नसीहत देने की दी नसीहत

- Advertisement -

उन्होंने नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए सरकार के 15 साल और उससे पहले के 15 साल के कार्यकाल की तुलना करते हुए खास तौर से युवाओं और महिलाओं से संवाद की कोशिश की। उन्होंने युवाओं से यह कहा कि शायद बचपन याद हो, जब मां घर से बाहर नहीं निकलने कहती थी, क्योंकि कब किसका अपहरण हो जाए कहा नहीं जा सकता था। इन आरोपों के साथ वे उन्हें महागठबंधन से दूर रहने की नसीहत देने की कोशिश करते दिखे।

बिहार की विरासत के साथ ही रोजगार व विकास की भी बात

उन्होंने कोरोना काल का जिक्र करते हुए यह भी जोड़ा कि छठ तक घर बैठे अनाज की व्यवस्था की गई है। गंगा का पानी भी निर्मल हो रहा है, क्योंकि सफाई हो रही है। मोदी पूरे भाषण के दौरान बिहार की सांस्कृतिक विरासत के साथ ही रोजगार और विकास की बात करते दिखे।

- Advertisement -

Leave a Reply

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Khabar Satta Deskhttps://khabarsatta.com
खबर सत्ता डेस्क, कार्यालय संवाददाता

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

11,263FansLike
7,044FollowersFollow
785FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

उत्तर प्रदेश में धर्मांतरण संबंधी कानून आज से लागू, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने दी मंजूरी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विधि विरुद्ध धर्म परिवर्तन प्रतिषेध अध्यादेश 2020 लागू हो गया है। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने...
यह भी पढ़े :  COVID-19: WHO की चेतावनी- मामलों में कमी के बावजूद सावधान रहें देश, अभी खत्‍म नहीं हुआ है संक्रमण

राज्यों सरकारों से सुप्रीम कोर्ट नाराज, कहा- राजनीति से ऊपर उठकर कोविड-19 को करो काबू

देश में कोरोना के लगातार बिगड़ रहे हालात को लेकर  उच्चतम न्यायालय ने राज्य सरकारों का फटकार लगाई। कोर्ट ने कहा क कोविड-19 के...

PM मोदी के अहंकार ने जवान और किसान को आमने सामने खड़ा कर दिया: राहुल गांधी

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने किसानों को दिल्ली आने से रोकने के लिए सैनिकों के इस्तेमाल की आलोचना करते हुए कहा है...

CM शिवराज के निर्देश के बाद ईरानियों के अवैध कब्जे पर चला बुल्डोजर, भारी पुलिस बल तैनात

भोपाल: भोपाल में ईरानियों के अवैध कब्जे पर आज जिला प्रशासन की टीम बड़ी कार्रवाई कर रही है। इसके मद्देनजर पुलिस की टीम ने...

सरकार की सख्ती पर भड़के किसान, जैजी बी और दिलजीत ने ‘वाहेगुरु’ के आगे की अरदास

जालंधर: केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ 'दिल्ली चलो' मार्च के तहत किसानों का आंदोलन जारी है। इस बीच दिल्ली सरकार ने...
x