Home विदेश भारतीय सीमा में घुस आए चीनी सैनिक को भारत ने छोड़ा, पेश की इंसानियत की मिसाल

भारतीय सीमा में घुस आए चीनी सैनिक को भारत ने छोड़ा, पेश की इंसानियत की मिसाल

बीजिंग। भारत ने चीन के सैनिक को छोड़ दिया है। यह सैनिक पूर्वी लद्दाख (Laddakh) में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर गलती से भारतीय सीमा में प्रवेश कर गया था। सैनिक को छोड़े जाने की जानकारी चीन की सरकारी मीडिया ग्‍लोबल टाइम्‍स द्वारा दी गई है। ग्लोबल टाइम्स के संपादक ने कहा कि एक चीनी सैनिक, जो पूर्वी लद्दाख के डेमचोक सेक्टर में एलएसी पर भटक गया था, उसे बुधवार सुबह भारत द्वारा चीनी सेना को सौंप दिया गया है।

याक को खोजने में कर रहा था मदद

इससे पहले भारतीय सेना ने एक बयान जारी कर बताया था कि पकड़े गए सैनिक की पहचान चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के कॉरपोरल वांग या लांग के रूप में हुई है। औपचारिकताएं पूरी करने के बाद उसे चुशुल-मोल्डो सीमा प्वाइंट पर चीनी सेना के हवाले कर दिया जाएगा। पीएलए की वेस्टर्न थियेटर कमांड के प्रवक्ता सीनियर कर्नल झांग शुइली ने दावा किया कि चीनी सैनिक 18 अक्टूबर की शाम को चीन-भारत सीमा पर उस वक्त लापता हो गया था, जब वह स्थानीय लोगों के अनुरोध पर उनके याक को खोजने में मदद कर रहा था।

भारत ने चीनी सैनिक को लौटाने का किया था वादा

- Advertisement -

पीएलए के सीमा पर तैनात सैनिकों ने इसकी जानकारी भारतीय सेना को दी और उम्मीद जताई कि भारतीय पक्ष उसकी खोज और बचाव में मदद करेगा। भारतीय पक्ष ने लापता सैनिक को खोजकर उसकी मदद करने और लौटाने का वादा किया है। कर्नल झांग ने कहा, भारतीय पक्ष से मिली ताजा जानकारी के मुताबिक लापता चीनी सैनिक को खोज लिया गया है और चिकित्सकीय जांच के बाद उसे चीन के हवाले कर दिया जाएगा। उन्होंने उम्मीद जताई कि भारतीय पक्ष जल्द से जल्द अपना वादा निभाएगा और दोनों देशों के वरिष्ठ कमांडरों के बीच सातवें दौर की वार्ता में बनी सहमति को लागू करेगा ताकि सीमावर्ती क्षेत्रों में शांति बनी रहे।

यह भी पढ़े :  महान फुटबॉलर डिएगो माराडोना की 60 वर्ष की उम्र में म्रत्यु | Diego Maradona Dies Aged 60
यह भी पढ़े :  जी 20 सम्मेलन में लद्दाख पर शी जिनपिंग बोले- बातचीत के जरिए हो विवादों का समाधान

भारतीय सेना ने पेश की इंसानियत की मिसाल

रिपोर्टों के मुताबिक, वह पूर्वी लद्दाख के डेमचोक सेक्टर में भटक गया था। समाचार एजेंसी एएनआई ने जानकारी दी है कि हिरासत में लेने के बाद भारतीय सेना ने इंसानियत की मिसाल पेश करते हुए इस चीनी सैनिक को अत्यधिक ऊंचाई और कठोर जलवायु परिस्थितियों से बचाने के लिए ऑक्सीजन, खाना और गर्म कपड़े समेत अन्‍य जरूरी चिकित्सा मदद मुहैया कराई गई। माना जा रहा है कि वह अनजाने में भारतीय क्षेत्र में प्रवेश कर गया होगा।

- Advertisement -

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Khabar Satta Deskhttps://khabarsatta.com
खबर सत्ता डेस्क, कार्यालय संवाददाता

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

11,263FansLike
7,044FollowersFollow
785FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

उत्तर प्रदेश में धर्मांतरण संबंधी कानून आज से लागू, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने दी मंजूरी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विधि विरुद्ध धर्म परिवर्तन प्रतिषेध अध्यादेश 2020 लागू हो गया है। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने...
यह भी पढ़े :  ईरान पर और प्रतिबंध लगा सकते हैं ट्रंप, बाइडन को भी इसी राह पर चलने की सलाह

राज्यों सरकारों से सुप्रीम कोर्ट नाराज, कहा- राजनीति से ऊपर उठकर कोविड-19 को करो काबू

देश में कोरोना के लगातार बिगड़ रहे हालात को लेकर  उच्चतम न्यायालय ने राज्य सरकारों का फटकार लगाई। कोर्ट ने कहा क कोविड-19 के...

PM मोदी के अहंकार ने जवान और किसान को आमने सामने खड़ा कर दिया: राहुल गांधी

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने किसानों को दिल्ली आने से रोकने के लिए सैनिकों के इस्तेमाल की आलोचना करते हुए कहा है...

CM शिवराज के निर्देश के बाद ईरानियों के अवैध कब्जे पर चला बुल्डोजर, भारी पुलिस बल तैनात

भोपाल: भोपाल में ईरानियों के अवैध कब्जे पर आज जिला प्रशासन की टीम बड़ी कार्रवाई कर रही है। इसके मद्देनजर पुलिस की टीम ने...

सरकार की सख्ती पर भड़के किसान, जैजी बी और दिलजीत ने ‘वाहेगुरु’ के आगे की अरदास

जालंधर: केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ 'दिल्ली चलो' मार्च के तहत किसानों का आंदोलन जारी है। इस बीच दिल्ली सरकार ने...
x