khabar-satta-app
Home विदेश India-China Tension: भारत की उत्तरी सीमा पर चीन ने की 60 हजार सैनिकों की तैनाती, अमेरिका का दावा

India-China Tension: भारत की उत्तरी सीमा पर चीन ने की 60 हजार सैनिकों की तैनाती, अमेरिका का दावा

वाशिंगटन। भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा(एलएसी) पर गतिरोध जारी है।12 अक्टूबर को भारत और चीन के कोर कमांडरों की बैठक होने वाली है, जिसमें पूर्वी लद्दाख के सभी टकराव वाले बिंदुओं से सैनिकों को हटाने की रुपरेखा तय करने के एजेंडे पर बातचीत होनी है। यह भारत और चीन के बीच सातवें दौर की कोर कमांडर स्तर की बातचीत होगी। चीन के अड़ियल रुख की वजह से सीमा पर अब तक गतिरोध जारी है, भारत इस तनाव को कम करने की पूरी कोशिश कर रहा है।

इस बीच, अमेरिका ने चीन को लेकर एक बड़ा दावा किया है। उसने चीन पर एक बार फिर करारा हमला बोला है। अमेरिका ने कहा है कि भारत-चीन सीमा पर गतिरोध के बीच चीन ने वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर 60,000 से ज्यादा सैनिकों को जमा कर रखा है। उन्होंने चीन के इस बुरे रवैये और क्वाड देशों के लिए चेतावनी खड़ी करने को लेकर उस पर निशाना साधा है।

- Advertisement -

पोंपियो ने सीमा पर तनाव को लेकर चीन के व्यवहार पर ना केवल उसे फटकार लगाई बल्कि यह भी कहा कि बीजिंग क्वाड देशों के लिए खतरा बन गया है। बता दें हिंद-प्रशांत देशों के विदेश मंत्रियों के समूह को क्वाड के तौर पर जाना जाता है। इस समूह में भारत, जापान, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया शामिल हैं। इन देशों के विदेश मंत्री मंगलवार को जापान की राजधानी टोक्यो में मिले थे। कोरोना महामारी के शुरू होने के बाद यह विदेश मंत्रियों की पहली मुलाकात थी। विदेश मंत्रियों की यह बैठक हिंद-प्रशांत, दक्षिण चीन सागर में चीन के आक्रामक सैन्य रवैये और पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर भारत के साथ तनाव के बीच हुई।

टोक्यो में भारत, जापान और ऑस्ट्रेलिया के अपने समकक्षों के साथ दूसरी क्वाड बैठक में भाग लेने के बाद अमेरिका लौटे पोंपियो ने शुक्रवार को ‘द गाइ बेंसन’ शो में कहा कि भारतीय सेना उत्तरी सीमा पर 60 हजार चीनी जवानों की तैनाती को देख रही है। उन्होंने कहा, ‘पिछले सप्ताह मैं भारत, ऑस्ट्रेलिया, और जापान के अपने समकक्षों के साथ था। मैं क्वाड की बैठक में भाग लेने गया था। यह एक ऐसा प्रारूप है, जिसमें बड़े लोकतंत्र और शक्तिशाली अर्थव्यवस्थाओं वाले चार देश शामिल हैं। इनमें से हर एक देश को चीनी कम्युनिस्ट पार्टी द्वारा खतरे का अंदेशा है।’ पोंपियो ने मंगलवार को टोक्यो में भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ मुलाकात को फलदायी बताया। एक अन्य साक्षात्कार में पोंपियो ने कहा कि चीन के साथ इस लड़ाई में क्वाड देशों को अमेरिका को सहयोगी बनाने की आवश्यकता है।

- Advertisement -

भारत-चीन की सेनाएं बॉर्डर पर तैनात

पूर्वी लद्दाख में चीन के अड़ियल रवैये के चलते गतिरोध अब तक बरकरार है। दोनों देशों के सैनिक सीमा पर डटे हुए हैं। इस बीच, भारत और चीन के बीच सोमवार को होने वाली कोर कमांडर की बैठक से पहले चाइना स्टडी ग्रुप (सीएसजी) की बैठक हुई। इसमें पूर्वी लद्दाख के मौजूदा हालात की समीक्षा करने के साथ ही कोर कमांडरों की बैठक में भारत की तरफ से उठाए जाने वाले मुख्य मुद्दों पर चर्चा हुई। सीएसजी में विदेश मंत्री एस जयशंकर, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और सेना के तीनों अंगों के प्रमुख शामिल हैं। सोमवार को होने वाली कोर कमांडर की बैठक में भारतीय दल का नेतृत्व लेह स्थित 14वीं कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह करेंगे।

- Advertisement -

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Khabar Satta Deskhttps://khabarsatta.com
खबर सत्ता डेस्क, कार्यालय संवाददाता

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

11,007FansLike
7,044FollowersFollow
796FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

Diwali 2020 Date: नर्क चतुर्दशी 2020 कथा, उद्देश्य, तारिख यहाँ जाने पूरी जानकारी

शनिवार, 14 नवंबर नर्क चतुर्दशी 2020 (भारत) यह त्यौहार नरक चौदस (Narak Chaudas) या नर्क चतुर्दशी (Narak Chaturdashi) या नर्का...

Diwali 2020 Date: जानें इस बार छोटी और बड़ी दिवाली, नरक चतुर्दशी की क्या है सही तारीख

Diwali 2020 Date: इस बार 14 नवंबर को नरक चतुर्दशी यानी छोटी दिवाली और बड़ी दिवाली एक ही दिन है। दरअसल कार्तिक मास की...

Seoni Bhukamp News: सिवनी में कल रात्रि 3.3 रिक्टर के भूकंप के झटके दर्ज, अगले 24 घंटे सावधान रहें

Seoni Bhukamp News: सिवनी में दिनांक 26 अक्टूबर 2020 की रात्रि में 3.3 रिक्टर के भूकंप झटके रिकॉर्ड हुए हैं एवं अगले...

नितिन गडकरी बोले, NHAI में बोझ बने अफसरों से छुटकारा पाने का समय

नई दिल्ली। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआइ) में काम की सुस्त रफ्तार पर नाराजगी जताई है।...

Arnab Goswami मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कहा, कुछ लोगों को अधिक संरक्षण की है जरूरत

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को कहा कि कुछ व्यक्तियों को अधिक गंभीरता से निशाना बनाया जाता है और उन्हें अधिक संरक्षण की...