Sunday, February 5, 2023
Homeजॉब्सGK की द्रष्टि से 02 जनवरी का इतिहास: चौराहे पर सफदर हाशमी...

GK की द्रष्टि से 02 जनवरी का इतिहास: चौराहे पर सफदर हाशमी का ‘हल्ला बोल’ कौन भूलेगा

GK की द्रष्टि से 02 जनवरी का इतिहास: चौराहे पर सफदर हाशमी का 'हल्ला बोल' कौन भूलेगा

- Advertisement -

GK की द्रष्टि से 02 जनवरी का इतिहास: देश-दुनिया के इतिहास में 02 जनवरी की तारीख तमाम अहम वजह से दर्ज है। रंगकर्म के इतिहास में यह ऐसी तारीख है, जिसने नुक्कड़ नाटक ‘हल्ला बोल’ के साथ रंगकर्मी सफदर हाशमी को अमर कर दिया।

हुआ यूं था कि 01 जनवरी 1989 को दिल्ली के पास गाजियाबाद के झंडापुर में अंबेडकर पार्क के नजदीक जन नाट्य मंच माकपा उम्मीदवार रामानंद झा के समर्थन में नुक्कड़ नाटक कर रहा था। नाटक का नाम था- ‘हल्ला बोल’। तभी कांग्रेस उम्मीदवार मुकेश शर्मा का काफिला वहां से निकला।

- Advertisement -

उन्होंने रंगकर्मी सफदर हाशमी से रास्ता देने को कहा। इस पर सफदर ने उन्हें थोड़ी देर रुकने या दूसरे रास्ते से निकलने को कहा। इससे शर्मा के समर्थक नाराज हो गए। उन्होंने नाटक मंडली पर हमला कर दिया।

इस हमले में सफदर बुरी तरह जख्मी हो गए। उन्हें राम मनोहर लोहिया अस्पताल ले जाया गया। वहां 02 जनवरी को उन्होंने दम तोड़ दिया। सफदर हाशमी ने जब दुनिया को अलविदा कहा, तब उनकी उम्र मात्र 34 साल थी।

- Advertisement -

अगले दिन सफदर हाशमी का जब अंतिम संस्कार हुआ, तब दिल्ली की सड़कों पर 15 हजार से ज्यादा लोग उमड़ पड़े थे। सफदर की मौत के 48 घंटे बाद उनकी पत्नी मौली श्री और उनके साथियों ने अंबेडकर पार्क जाकर हल्ला बोल नाटक का मंचन पूरा किया। उस दिन तारीख थी 4 जनवरी। उन्होंने कई कविताएं भी लिखीं।

उनकी मशहूर कविताओं में से एक है-किताबें करती हैं बातें, बीते जमाने की, दुनिया की इंसानों की…।’ 12 अप्रैल 1954 को जन्मे सफदर हाशमी ने दिल्ली यूनिवर्सिटी के सेंट स्टीफंस कॉलेज से इंग्लिश लिटरेचर में एमए किया था। पढ़ाई पूरी करने के बाद वह सूचना अधिकारी बने।

- Advertisement -

बाद में नौकरी से इस्तीफा देकर मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी की सदस्यता ली। 1978 में जन नाट्य मंच की स्थापना की। उनकी मौत के 14 साल बाद 2003 को गाजियाबाद कोर्ट ने कांग्रेस नेता मुकेश शर्मा समेत 10 लोगों को उम्रकैद की सजा सुनाई।

02 जनवरी का इतिहास और महत्वपूर्ण घटनाचक्र

  • 1757ः राबर्ट क्लाइव ने नवाब सिराजुद्दौला से कलकत्ता (अब कोलकाता) को वापस छीना।
  • 1839ः फ्रांस के फोटोग्राफर लुई दागुएरे ने चांद की पहली फोटो प्रदर्शित की।
  • 1843ः ऑस्ट्रिया की राजधानी विएना में नियमित डाक सेवा शुरू।
  • 1882ः लंदन में दुनिया का पहला कोयला आधारित बिजली उत्पादक स्टेशन शुरू।
  • 1890ः ऐलिस सेंगर व्हाइट हाउस में पहली महिला कर्मचारी बनीं।
  • 1899ः रामकृष्ण परमहंस के आदेश के बाद साधु कलकत्ता (कोलकाता) स्थित बेलूर मठ में रहने लगे।
  • 1941ः द्वितीय विश्व युद्ध में जर्मनी के हमले से ब्रिटेन के कार्डिफ शहर स्थित लेनडॉफ कैथेड्रल को भारी नुकसान।
  • 1942ः दूसरे विश्व युद्ध के दौरान जापान की सेना ने फिलीपींस की राजधानी मनीला पर कब्जा किया।
  • 1954ः भारत के सबसे बड़े नागरिक सम्मान भारत रत्न को देने की शुरुआत।
  • 1973ः जनरल एसएफए जे. मानिक शॉ को फील्ड मार्शल बनाया गया।
  • 1975ः बिहार के समस्तीपुर जिले में बम विस्फोट में तत्कालीन रेलमंत्री ललित नारायण मिश्र घायल।
  • 1975ः पुलिस हिरासत में बांग्लादेश के क्रांतिकारी नेता सिराज सिक्कर की हत्या।
  • 1989ः तत्कालीन प्रधानमंत्री प्रेमदासा ने श्रीलंका के तीसरे राष्ट्रपति के रूप में पदभार ग्रहण किया।
  • 1991ः केरल के तिरुवनंतपुरम हवाई अड्डे को अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के तौर पर मान्यता।
  • 1998ः नाइजर के तत्कालीन प्रधानमंत्री हामा अमादाउ को तत्कालीन राष्ट्रपति इब्राहीम बारेमआनससेरा की हत्या की साजिश के आरोप में गिरफ्तार किया गया।
  • 2002ः काठमांडू में दक्षेस विदेश मंत्रियों की बैठक। पाकिस्तान आतंकवादियों को सौंपने के लिए सशर्त तैयार।
  • 2008ः बलिया लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार और पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के बेटे नीरज शेखर विजयी।
  • 2009ः भारत के सौरभ घोषाल स्कवैश रैकिंग में कैरियर की सर्वश्रेष्ठ रैकिंग हासिल करने वाले पहले खिलाड़ी बने।
  • 2016ः सऊदी अरब के जाने-माने शिया मौलवी निम्र अल निम्र और 46 अन्य साथियों को फांसी दी गई।
  • 2020ः भारत सरकार ने चंद्रयान-3 अभियान को मंजूरी दी।

02 जनवरी का इतिहास – जन्म

  • 1878ः केरल के प्रसिद्ध समाज सुधारक मन्नत्तु पद्मनाभन।
  • 1899ः भारत के प्रथम मुख्य चुनाव आयुक्त सुकुमार सेन।
  • 1905ः हिन्दी साहित्य के प्रसिद्ध मनोवैज्ञानिक कथाकार और उपन्यासकार जैनेन्द्र कुमार।
  • 1906ः प्रसिद्ध भारतीय उद्यमी डी. एन. खुरोदे।
  • 1940ः भारतीय अमेरिकी गणितज्ञ एसआर श्रीनिवास वर्द्धन।
  • 1970ः प्रसिद्ध तैराक बुला चौधरी।

02 जनवरी का इतिहास – निधन

  • 1944ः महाराष्ट्र के प्रसिद्ध समाज सुधारक विट्ठल रामजी शिंदे।
  • 1950ः स्वतंत्रता सेनानी मौलाना मजहरुल हक।
  • 1950ः प्रसिद्ध महिला स्वतंत्रता सेनानी डॉ. राधाबाई।
  • 1977ः स्वतंत्रता सेनानी अजित प्रसाद जैन।
  • 2011ः पूर्व लोकसभा अध्यक्ष बली राम भगत।
  • 2014ः राजस्थान के प्रसिद्ध साहित्यकार अन्नाराम सुदामा।
  • 2018ः मशहूर शायर अनवर जलालपुरी।

02 जनवरी का इतिहास – दिवस

  • अमेरिका का राष्ट्रीय विज्ञान कथा दिवस
- Advertisement -
Shubham Sharma
Shubham Sharmahttps://shubham.khabarsatta.com
Shubham Sharma is an Indian Journalist and Media personality. He is the Director of the Khabar Arena Media & Network Private Limited , an Indian media conglomerate, and founded Khabar Satta News Website in 2017.
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments