Home मध्य प्रदेश हार के बावजूद भी मंत्री बनी रहेगी इमरती देवी ! कहा- मैं हारी नहीं हूं... जीती हूं

हार के बावजूद भी मंत्री बनी रहेगी इमरती देवी ! कहा- मैं हारी नहीं हूं… जीती हूं

भोपाल: उपचुनाव में 110% जीत का दावा करने वाली इमरती देवी भले ही चुनाव हार गई हो लेकिन उनके तेवर ज्यों के त्यों बरकरार है। अपने समधी से चुनाव हारने के बावजूद भी उन्होंने इस्तीफा देने से इंकार कर दिया। बुधवार को उन्होंने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि, मैं मंत्रिमंडल में इस्तीफा नहीं दूंगी मैं, हारी नहीं हूं.. जीती हूं। सत्ता सरकार मेरी है, जो जीते हैं वह एक हैंडपंप भी नहीं लगवा पाएंगे। इमरती देवी ने कहा, विधायक निधि का सारा पैसा कोरोना फंड में चला गया। अब वह क्या खर्च कर पाएंगे। हालांकि उनके साथ कांग्रेस छोड़ आए पीएचई मंत्री एंदल सिंह कंसाना भी चुनाव हार गए हैं और उन्होंने नैतिकता के आधार पर सबसे पहले मंत्रिमंडल से इस्तीफा दिया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को सौंप दिया।

अपनी हार को किया स्वीकार, वहीं कमलनाथ पर साधा निशाना…
इमरती देवी ने अपनी हार स्वीकार करते हुए कहा कि कुछ गलतियां हुई है जिनसे मुझे हार का सामना पड़ा। लेकिन मैं हारी नहीं हूं। कांग्रेस वोटर्स को बीजेपी वोटर्स में तबदील करना कोई छोटी बात नहीं है। बहुत बड़े स्तर पर बदलाव हुआ है। कमलनाथ को तो मुंह काला हुआ है। सरकार हमारी बनी है। कमलनाथ तो मुंह धोकर ले गए।

- Advertisement -

सिंधिया की बेहद करीबी मानी जाने वाली इमरती देवी की इस ना के पीछे नियम है जिनके मुताबिक मंत्रिपद की शपथ लेने की तारीख से 6 महीने की अवधि में बिना विधायक रहे मंत्री पद पर बने रहने का प्रावधान है। इमरती सहित अन्य मंत्रियों ने 2 जुलाई 2020 को मंत्री पद की शपथ ली थी। उनका 6 महीने का कार्यकाल 1 जनवरी को पूरा होगा।

यह भी पढ़े :  MP News: नगरीय निकायों एवं पंचायत निर्वाचन के प्रति मतदाताओं को जागरूक करने प्रचार-प्रसार के निर्देश

नियम अनुसार चुनाव हारने के बाद भी इमरती देवी, एंदल सिंह कंसाना व गिरिराज दंडोतिया 1 जनवरी तक मंत्री पद पर रह सकते हैं। इमरती देवी ने भले ही अपने मंत्रिमंडल से इस्तीफा देने से इंकार कर दिया हो लेकिन 6 महीने बाद उन्हें मंत्रिमंडल से इस्तीफा देना ही पड़ेगा। वहीं सूत्रों की माने तो सीएम शिवराज दोनों वरिष्ठ नेताओं का सम्मान बरकरार रखने के लिए उन्हें निगम मंडल में एडजस्ट करेंगे, ताकि दोनों के बंगले भी बचे रहे।

- Advertisement -

Leave a Reply

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Khabar Satta Deskhttps://khabarsatta.com
खबर सत्ता डेस्क, कार्यालय संवाददाता

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

11,261FansLike
7,044FollowersFollow
787FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

कोरोना काल में MP के कड़कनाथ मुर्गे की बढ़ी मांग, शासन ने तैयार की कड़कनाथ पालन योजना

भोपाल , मध्यप्रदेश : कोरोना काल में प्रदेश के प्रसिद्ध कड़कनाथ की देश में बढ़ती माँग को देखते हुए...
यह भी पढ़े :  पीएम मोदी ने मुलायम सिंह यादव को किया फोन, बोले- अनुभवी नेता को जन्मदिन की बधाई

नरोत्तम बोले- लव जिहाद कानून पर अपनी स्थिति स्पष्ट करे कांग्रेस, किसान आंदोलन पर भी साधा निशाना

भोपाल: मध्य प्रदेश के राजनीति में अहम भूमिका निभाने वाले गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा इन दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गुणगाण करते नजर आ रहे...

नेता प्रतिपक्ष को लेकर कमलनाथ वर्सेस दिग्विजय ! खुलकर सामने आई तकरार…पूरा विश्लेषण

भोपाल: प्रदेश की सियासत बहुत कुछ या यूं कहें, कि सबकुछ गंवाने के बाद भी कांग्रेस अपनी गलतियों से कोई सीख नहीं ले रही...

लालू यादव की जमानत पर सुनवाई टली, कस्टडी को सत्यापित करने के लिए मांगा समय

रांची। लालू प्रसाद यादव की जमानत पर आज हाई कोर्ट में सुनवाई हुई। इस दौरान लालू के अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने सीबीआइ के जवाब...

अर्नब को अंतरिम बेल देने के कारणों को SC ने किया स्पष्ट, कहा- पुलिस FIR में लगाए गए आरोप नहीं हुए साबित

नई दिल्ली। टेलीविजन पत्रकार अर्नब गोस्वामी को आत्महत्या के लिए उकसावे के वर्ष 2018 के एक मामले में अग्रिम जमानत देने के करीब 15 दिनों...
x