Homeमध्य प्रदेशMP में हार के बाद निशाने पर नाथ और दिग्विजय, कांग्रेस नेता...

MP में हार के बाद निशाने पर नाथ और दिग्विजय, कांग्रेस नेता ने कहा- इन्हें मार्गदर्शक मंडल में भेजो

- Advertisement -

भोपाल: उपचुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद कांग्रेस में विरोध के सुर उठने लगे हैं। इसी बीच सीहोर से कांग्रेस नेता हरपाल ठाकुर ने कहा है कि कांग्रेस को चुनाव में मिली करारी हार के बाद नैतिकता के आधार पर कमलनाथ और दिग्विजय सिंह को पार्टी नेतृत्व से इस्तीफा दे देना चाहिए। उन्होंने कहा है कि जिस प्रकार पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव में नैतिकता दिखाते हुए अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया था, ठीक वैसे ही कमलनाथ को भी अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

कमलनाथ और दिग्विजय दिखाएं नैतिकता…
कांग्रेस नेता हरपाल ठाकुर ने कहा कि कांग्रेस के कार्यकर्तओं ने बिना गुटबाजी की कांग्रेस प्रत्याशियों को जितवाने का प्रयास किया। ये सभी जानते हैं कि इस बार की तरह 2019 लोकसभा चुनाव में भी भाजपा ने धनबल औऱ तिकड़मबाजी से सरकार बनाई थी, तब कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी थे। इस दौरान कांग्रेस की करारी हार के बाद राहुल गांधी ने कहा कि इस वक्त मैं कांग्रेस का अध्यक्ष हूं, और अपनी पार्टी की हार की जिम्मेदारी लेते हुए अपने पद से इस्तीफा देना चाहता हूं, तब देश भर के कांग्रेस नेता और कार्यकर्ताओं ने राहुल गांधी से निवेदन किया कि वे ऐसा न करें। लेकिन इसके बाद भी तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। अब जब मध्यप्रदेश के उपचुनाव में कांग्रेस की करारी हार हुई है, इस वक्त कमलनाथ प्रदेशाध्यक्ष और नेताप्रतिपक्ष के पद पर हैं, तो कमलनाथ को भी नैतिकता दिखाते हुए अपने पदों से इस्तीफा दे देना चाहिए। साथ ही दिग्विजय सिंह को भी अब नेतृत्व पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

यह भी पढ़े :  CM सामने आकर Corona Vaccine खत्म होने को लेकर प्रदेशवासियों को स्थिति स्पष्ट करें : कमलनाथ
- Advertisement -
यह भी पढ़े :  Covid 19 की तीसरी लहर रोकने के लिए बेहद आवश्यक है वैक्सीनेशन : CM SHIVRAJ

कमलनाथ और दिग्विजय को मार्गदर्शक बनाया जाए…
कांग्रेस नेता हरपाल यहीं नहीं रुके। उन्होंने कांग्रेस हाईकमान से अपील करते हुए कहा कि कमलनाथ और दिग्विजय सिंह को परामर्श दाता बना देना चाहिए। कांग्रेस की प्रदेश ईकाई में अभी कई बेहतर नेता हैं, जैसे सज्जन सिंह वर्मा, जीतू पटवारी, उमंग सिंघार, प्रियव्रत सिंह, अरुण यादव, अजय सिंह। कांग्रेस को ऐसे अनुभवी नेताओं को आगे आने का मौका देना चाहिए।

- Advertisement -
spot_img
spot_img
Khabar Satta Deskhttps://khabarsatta.com
खबर सत्ता डेस्क, कार्यालय संवाददाता
- Advertisment -