MP News: भाजपा नेतृत्व गंभीर, पलटवार के संकेत

0
124

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश में कांग्रेस द्वारा भाजपा के दो विधायकों को तोडऩे की घटना से भाजपा नेतृत्व सकते में हैं। पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा है कि यह मामला उनके ध्यान में हैं और इसे गंभीरता से लिया गया है।केंद्रीय नेतृत्व ने इस पर प्रदेश नेतृत्व से रिपोर्ट मांगी है और प्रमुख नेताओं के साथ वह विचार विमर्श भी कर रहा है। भाजपा ने इस पर पलटवार के संकेत दिए हैं, लेकिन वह इसके लिए उचित समय का इंतजार करेगी।

भाजपा नेतृत्व इसका कारण प्रदेश के पार्टी नेताओं के बीच समन्वय न होना मान रही है।प्रदेश के तीन बड़े नेताओं शिवराज सिंह चौहान, कैलाश विजयवर्गीय व नरेंद्र सिंह तोमर के केंद्रीय राजनीति में आने के बाद नए प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह, नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव और नरोत्तम मिश्रा के बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। सूत्रों के अनुसार इस घटना के लिए प्रदेश के नेता एक दूसरे को जिम्मेदार बता रहे हैं।

भाजपा में ही हैं दोनों विधायकदो विधायकों का पालाबदल करा कांग्रेस ने अपनी मजबूती की कोशिश की है। भाजपा के एक नेता ने कहा है कि चूंकि दोनों विधायकों ने व्हिप का उल्लंघन नहीं किया है और उन्होंने इस्तीफा दिया है, इसलिए वे भाजपा में ही हंै।

यह भी पढ़े :  MPBSE : माध्यमिक शिक्षा मंडल मार्कशीट में सुधार हेतु होंगे ऑनलाइन आवेदन @mpbse.nic.in

शिवराज सरकार के समय आए थे भाजपा मेंविधानसभा में एक विधेयक पर मतदान के दौरान भाजपा के नारायण त्रिपाठी व शरद कौल ने सरकार के पक्ष में मतदान किया था। चूंकि इस विधेयक पर किसी का विरोध नहीं था, इसलिए भाजपा ने मतदान में भाग नहीं लिया। उसने व्हिप भी जारी नहीं किया था। यह दोनों विधायक भाजपा की शिवराज सिंह चौहान की सरकार के समय भाजपा में आए थे। इनको लाने में शिवराज सिंह की अहम भूमिका रही थी।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.