खाकी बनी पालनहार

0
45

बीच राह पत्नी और बच्चे को छोड़ जब पति हुआ फरार, तब सामने आई खाकी बनी दोनों की पालनहार

खाकी बनी पालनहार

एटा : जी हां एक ऐसा ही वाकया आज पुलिस कार्यालय एटा पर देखने को मिला, जहां एक गरीब महिला अपनी गोद में करीब एक साल के मासूम बच्चे को ले अपनी फरियाद लेकर पुलिस कार्यालय पहुंची। पुलिस कार्यालय की शाखा शिकायत प्रकोष्ठ में तैनात महिला आरक्षी वर्षा पाल ने जब उस महिला की आंखों में आसूं देखे तो उससे उसकी समस्या पूछीं, महिला ने बताया कि उसका नाम विनीता है और उसके पति का नाम विनोद है, वह घंटाघर, थाना कोसीकलां, जनपद मथुरा की रहने वाली है,

आज उसका पति उसे मथुरा से अपनी मौसी के घर ले चलने की कहकर लाया था, एटा में किसी बात को लेकर दोनों में झगड़ा हो गया और उसका पति दोनों को यूं ही अकेला छोड़कर चला गया, उसके पास पैसे नहीं थे तो किसी राहगीर से मदद की गुहार लगाई तो उसने पुलिस कार्यालय का रास्ता दिखा दिया, उसके पास इतने पैसे भी नहीं थे कि वह अपने भूखे बच्चे को दूध भी पिला सके, भूख से रोते बच्चे को दूध की बोतल में पानी भरकर उसे चुप करा रही थी।

उस महिला की दर्द भरी दास्तां सुनकर महिला आरक्षी वर्षा पाल ने मानवीय संवेदनाओं से वशीभूत होकर पास की ही चाय की दुकान से उसके बच्चे के लिए दूध का प्रबंध कराया, तथा उसको वापस उसके घर तक जाने का किराया भी दिया।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.