Home देश न गोली का डर न सर्दी की परवाह, वोट डालने के लिए मतदान केंद्रों में लगी हैं कतारें

न गोली का डर न सर्दी की परवाह, वोट डालने के लिए मतदान केंद्रों में लगी हैं कतारें

जम्मू। जम्मू-कश्मीर में पहली बार हाे रहे जिला विकास परिषद के चुनाव के पहले चरण के मतदान शुरू हो गए हैं। सुबह 7 बजे मतदान केंद्रों के खुलने के बाद से ही वोट डालने के लिए लोगों का पहुंचना शुरू हो गया है। अभी तक आ रहे चुनावी रूझान भी यह बता रहे हैं कि कड़ाके की ठंड के बावजूद मैदानी व पहाड़ी इलाकों में लोग वोट डालने के लिए मतदान केंद्रों में पहुंच रहे हैं। मतदान की यह प्रक्रिया दोपहर 2 बजे तक चलेगी।

पहले चरण में यह मतदान 43 सीटों के लिए हो रहा है। इनमें जम्मू की 18 और कश्मीर की 25 सीटें शामिल हैं। इसके साथ ही कुछ इलाकों में पंचायत उपचुनाव के लिए भी वोटिंग हो रही है। पहले चरण में करीब 296 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं।

- Advertisement -

जम्मू-कश्मीर में जिला विकास परिषद के यह चुनाव आठ चरणों में हाेने हैं। आज 28 नवंबर को शुरू हुई यह चुनावी प्रक्रिया 19 दिसंबर तक चलेगी। 22 दिसंबर को वोटों की गिनती होगी। चुनावी मैदान में करीब 1475 उम्मीदवार हैं, जिनके भाग्य का फैसला उसी दिन सुनाया जाएगा। कश्मीर संभाग के सभी मतदान केंद्रों के अलावा जम्मू संभाग के पहाड़ी इलाकों में बनाए गए मतदान केंद्रों में सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं।

Jammu Kashmir DDC Elections Update: 

- Advertisement -

Baramulla: जिला बारामुला में पिछले दो घंटों के दौरान 1.51 प्रतिशत मतदान हुआ है। सी वानीगाम में अभी तक 0.41 प्रतिशत, खाइपोरा में 0.90 प्रतिशत, टंगमर्ग में 2.17 प्रतिशत, वाइलू में 0.88 प्रतिशत मतदान हुआ है। इसके अलावा इसी जिले में पड़ने वाले केबी रफियाबाद में 5.84 प्रतिशत, रफियाबाद में 0.52 प्रतिशत मतदान हुआ है। मौसम में सुधार होने के बाद अब यहां भी मतदान केंद्रों पर लोगों की संख्या बढ़ने लगी है।

Shopian : कश्मीर के आतंकवाद ग्रस्त इलाके शोपियां के मतदान केंद्रों का नजारा देख आप भी दंग रह जाएंगे। यहां वोट डालने के लिए पुरुष हो या महिलाएं काफी संख्या में पहुंच हुई थी। आपको जानकारी हो कि विधानसभा चुनावों के दौरान भी यहां के लोगों ने आतंकवादियों व अलगावादियों की धमकियों के बावजूद अपने मताधिकार का प्रयाेग किया था परंतु मतदान प्रतिशत काफी कम था परंतु आज मतदान केंद्रों पर लगी लोगों की भीड़ से ये स्पष्ट हो रहा है कि अब इन लोगों को किसी का डर नहीं है।

- Advertisement -

Kathua: जिला कठुआ के बनी-1 में अब सुबह 10 बजे तक 11.91 प्रतिशत, लहोई मल्हार में 5.68 प्रतिशत मतदान हुआ है। नियंत्रण रेखा से सटे गांवों में भी मतदान केंद्रों में सुबह से लोगों की कतारें लगी हुई हैं। लोगों की जिला विकास परिषद के चुनावों में भागीदारी को देख यह कहा जा सकता है कि लोग भी अब विकास को ही तरजीह दे रहे हैं। जिला किश्तवाड़ में भी सुबह 10 बजे तक 7 प्रतिशत, जिला राजौरी में 12 प्रतिशत मतदान हो चुका है।

Kashmir: कश्मीर में धूप खिलने के साथ ही मतदान केंद्रों में लोगों की संख्या भी बढ़ती नजर आ रही है। खानसाहिब, बडगाम के रायथन गांव में लोग वोट डालने के लिए कतारों में खड़े नजर आ रहे हैं। मतदान डालने वालों में केवल पुरुष ही नहीं काफी संख्या में महिलाएं भी शामिल हैं। वोट डालने के लिए पहुंचे लोगों का कहना है कि अब न तो उन्हें गोलियों की परवाह है और न ही सर्दी की परेशानी। अब उन्हें कश्मीर को फिर से जन्नत बनता हुआ देखना है।

Reasi: जिला रियासी चसाना में सुबह 9 बजे तक 8.65 प्रतिशत, चसाना-ए में 9.92 प्रतिशत, हसोती-बी में 9.16 प्रतिशत, खानगा नम्ब में 3.54 प्रतिशत जबकि गली सोहब में अब तक 11.88 प्रतिशत मतदान हो चुका है।

Kashmir: प्रशासन का कहना है कि सभी 43 सीटों पर मतदान सुचारू रूप से चल रहा है। कश्मीर में कड़ाके की ठंड होने के बावजूद लोग मतदान केंद्रों में वोट डालने के लिए पहुंच रहे हैं। श्रीनगर के हरवान इलाके की शमीमा जो सुबह साढ़े आठ बजे ही मतदान केंद्र में वोट डालने के लिए पहुंच गई थी, का कहना था कि हम लोग आतंकवाद से तंग आ चुके हैं। बच्चों की जिंदगी बर्बाद हो रही है। केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद विकास तेज हुआ है। आतंकवादी घटनाएं कम हुई हैं। उन्हें बदलाव नजर आ रहा है। उन्हें उम्मीद है कि जिला विकास परिषद के गठन के बाद इसे और गति मिलेगी। इसी उम्मीद के साथ वह मतदान केंद्र में अपना वोट डालने के लिए आई हैं।

Udhampur: जिला ऊधमपुर में भी मतदान को लेकर लोगों में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है। डूडू बसंतगढ़ की 17 पंचायतों में सुबह 9 बजे तक 4.42 प्रतिशत मतदान हो चुका है। वहीं लाटी मोराथी की 15 पंचायतों में मतदान प्रतिशत 7.36 पहुंच गया है। यहां भी सर्दी काफी है परंतु मतदान डालने के लिए केंद्रों के बाहर लोगों की कतारें देखी जा रही हैं।

Udhampur: मतदान केंद्रों में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए सभी जरूरी दिशा-निर्देशों का पालन किया जा रहा है। कतारों में खड़े लोग जहां शारीरिक दूरी बनाए हुए हैं, वहीं केंद्रों के बाहर सुरक्षाकर्मी भी मतदाता को कक्ष में भेजने से पहले उसे सेनेटाइज कर रहे हैं। यही नहीं कई केंद्रों में तो मताधिकारी ने पीपीई कीट पहनी हुई है।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Khabar Satta Deskhttps://khabarsatta.com
खबर सत्ता डेस्क, कार्यालय संवाददाता

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

12,576FansLike
7,044FollowersFollow
781FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

Kangana Ranaut के चैट वाले ट्वीट पर स्वरा भास्कर ने किया रिएक्ट, कहा- ‘आपका सेंस ऑफ ह्यूमर सबसे…’

नई दिल्ली। इन दिनों टीवी पत्रकार अर्नब गोस्वामी की व्हाट्सएप चैट काफी चर्चा में हैं। इन चैट्स में बॉलीवुड...
यह भी पढ़े :  Republic Day 2021: इतिहास, और महत्व के बारे में दिलचस्प तथ्य

ओडिशा की राजधानी में अब किन्नर वसूलेंगे पार्किंग शुल्क, बीएमसी की अनूठी पहल