Home देश परिहार में एनडीए और महागठबंधन के वोट में रालोसपा की सेंधमारी का परिदृश्य

परिहार में एनडीए और महागठबंधन के वोट में रालोसपा की सेंधमारी का परिदृश्य

सीतामढ़ी। परिहार विधानसभा सीट सीतामढ़ी जिले के अंतर्गत आती है। इस सीट का गठन 2008 में हुआ। सीट पर विधानसभा चुनावों की शुरुआत के साथ ही बीजेपी का कब्जा रहा है। कहा जा सकता है कि यह सीट दो बार के विधानसभा चुनावों में पार्टी के लिए सुरक्षित गढ़ के तौर पर उभरी है। अब तीसरी बार भाजपा की प्रतिष्ठा यहां दांव पर लगी है। दूसरी बार 2015 में इस सीट पर विधानसभा चुनाव हुआ। इस चुनाव में भी भारतीय जनता पार्टी सत्ता हासिल करने में कामयाब रही थी। भाजपा की गायत्री देवी को भारी जीत मिली थी। भाजपा ने इस बार अपने सीटिंग कैंडिडेट गायत्री देवी को मैदान में उतारा है तो राजद से रितु जायसवाल मैदान में हैं। रितु जायसवाल सोनबरसा की सिंहवाहिनी पंचायत की मुखिया हैं।

 वहीं, रालोसपा से पूर्व सांसद स्व. अनवारूल हक के पुत्र अमजद हुसैन अनवर प्रत्याशी हैं, जिससे अल्पसंख्यक मतों का बिखराव हो रहा है। राजद के टिकट के कई दावेदार थे, जिन्हेंं टिकट नहीं मिला तो वे नाराज हैं। जदयू महिला प्रकोष्ठ की जिलाध्यक्ष के पद से इस्तीफा देकर रितु जायसवाल ने सीधे राजद का टिकट हासिल कर लिया। रितु को टिकट देने के लिए राजद ने अपने कद्दावर नेता डॉ. रामचंद्र पूर्वे को मायूस कर दिया। वे यहां से अपनी पत्नी डॉ. रंजना पूर्वे को टिकट चाहते थे। यहां भाजपा-राजद की सीधी लड़ाई को रालोसपा के अमजद हुसैन अनवर व जनाधिकार पार्टी की सरिता यादव आमने-सामने आने से रोक रही हैं। यहां जातीय गोलबंदी एवं अल्पसंख्यक मतों का ध्रुवीकरण साफ दिख रहा है। ऐसे में यहां जीत के लिए वोटों के बिखराव को रोकने की आवश्यकता होगी।

- Advertisement -
यह भी पढ़े :  कभी न भूलने वाली है 26/11 की वो घटना जब पाकिस्‍तान के इशारे पर दहल उठी थी मुंबई

कुल प्रत्याशी : 13

प्रमुख प्रत्याशी

- Advertisement -

गायत्री देवी (भाजपा)

रितु जायसवाल( राजद)

- Advertisement -

आजम हुसैन अनवर (रालोसपा)

सरिता यादव (जाप)

2015 में विजेता, उप विजेता और मिले मत :

गायत्री देवी (भाजपा) : 66,388

डॉ. रामचन्द्र पूर्वे (राजद) : 62,371

यह भी पढ़े :  दिल्ली में कोरोना का कहर, गृह मंत्रालय के आदेश पर बढ़ाई गई 10 हजार RT-PCR जांच

2010 में विजेता, उपविजेता और मिले मत

राम नरेश यादव (भाजपा) : 32,987

डॉ राम चन्द्र पूर्वे (राजद) : 28,769

कुल वोटर :  317477

पुरुष वोटर :  166977 (52.59 प्रतिशत)

महिला वोटर : 150228 (47.33 प्रतिशत)

ट्रांसजेंडर वोटर : 21 (0.006 प्रतिशत)

जीत का गणित :

यहां सबसे अधिक संख्या यादव मतदाताओं की है। इसके बाद दूसरे नंबर पर मुस्लिम वोटर आते हैं। हालांकि ब्राह्मणों की भूमिका भी यहां अहम है। वैश्य व सूड़ी जाति की बहुलता भी है। इस तरह जातीय गोलबंदी जिधर होगी, उसकी जीत पक्की मानी जा रही।

प्रमुख मुद्दे : 

— तटबंधों के दूरूस्त नहीं रहने से हर साल बाढ़ से बड़े पैमाने पर क्षति होती है।

— सिंचाई सुविधा नाकाफीं है। अधिकांश राजकीय नलकूप ठप रहने से क्षेत्र के किसान हलकान हैं।

 — कई गांवों में आज भी ढंग के सड़क-नाले नहींं हैं, जिससे बाढ़-बरसात के दिनों में मुश्किल होती है। भारत-नेपाल सीमा पर स्थित उसरैना व मोहनपुर गांव में भी सड़क नहीं है।

— सरकारी विद्यालयों में आधारभूत संरचना मजबूत हुई, लेकिन पठन-पाठन की स्थिति बेहतर नहीं हो सकी।

- Advertisement -

Leave a Reply

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Khabar Satta Deskhttps://khabarsatta.com
खबर सत्ता डेस्क, कार्यालय संवाददाता

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

11,261FansLike
7,044FollowersFollow
787FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

संजय दत्त से कंगना रनौत ने की हैदराबाद में मुलाकात

हैदराबाद : कंगना रनौत एक पहेली हैं! एक ओर, उसने हाल ही में संजय दत्त की नशीली दवाओं की लत के...
यह भी पढ़े :  धर्मांतरण अध्यादेश पर योगी सरकार की मुहर, नाम छिपाकर शादी की तो होगी 10 साल कैद

कोरोना काल में MP के कड़कनाथ मुर्गे की बढ़ी मांग, शासन ने तैयार की कड़कनाथ पालन योजना

भोपाल , मध्यप्रदेश : कोरोना काल में प्रदेश के प्रसिद्ध कड़कनाथ की देश में बढ़ती माँग को देखते हुए राज्य शासन ने इसके उत्पादन...

नरोत्तम बोले- लव जिहाद कानून पर अपनी स्थिति स्पष्ट करे कांग्रेस, किसान आंदोलन पर भी साधा निशाना

भोपाल: मध्य प्रदेश के राजनीति में अहम भूमिका निभाने वाले गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा इन दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गुणगाण करते नजर आ रहे...

नेता प्रतिपक्ष को लेकर कमलनाथ वर्सेस दिग्विजय ! खुलकर सामने आई तकरार…पूरा विश्लेषण

भोपाल: प्रदेश की सियासत बहुत कुछ या यूं कहें, कि सबकुछ गंवाने के बाद भी कांग्रेस अपनी गलतियों से कोई सीख नहीं ले रही...

लालू यादव की जमानत पर सुनवाई टली, कस्टडी को सत्यापित करने के लिए मांगा समय

रांची। लालू प्रसाद यादव की जमानत पर आज हाई कोर्ट में सुनवाई हुई। इस दौरान लालू के अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने सीबीआइ के जवाब...
x