khabar-satta-app
Home देश राजग कार्यकर्ताओं की दुविधा दूर कर सकती है PM मोदी की बिहार में पहली सभा

राजग कार्यकर्ताओं की दुविधा दूर कर सकती है PM मोदी की बिहार में पहली सभा

पटना। बिहार के महासमर में अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इंतजार है। 23 अक्टूबर को उनकी पहली जनसभा है। राजग के कार्यकर्ता खास तौर पर इस सभा का इंतजार इसलिए कर रहे कि गठबंधन की एकजुटता और भाजपा-लोजपा के रिश्तों को लेकर प्रधानमंत्री क्या कहते हैं। प्रधानमंत्री की चुनावी रैलियों से राजग के सुकून का गहरा रिश्ता है। दरअसल, लोजपा प्रमुख चिराग पासवान के बयानों से भ्रम का भाव और फैल रहा है। प्रधानमंत्री रोहतास जिला के सासाराम से रैलियों का आगाज करने जा रहे हैं, जिसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भी शिरकत करना है। राजग के नेता आश्वस्त हैं कि इसी जनसभा के साथ ही सियासत में फैल रही सारी गलतफहमियों पर विराम लग जाएगा।

जदयू को प्रधानमंत्री की पहली सभा का इंतजार

भाजपा से ज्यादा जदयू को बेसब्री है। जदयू को प्रधानमंत्री की पहली सभा का इंतजार इसलिए है कि रोहतास जिले की कुल सात विधानसभा सीटों में पांच पर उसके ही उम्मीदवार हैं। भाजपा के पास सिर्फ दो सीटें हैं। खास यह भी कि भाजपा के दो बड़े कद के बागी भी इसी क्षेत्र से जदयू प्रत्याशियों को चुनौती दे रहे हैं। सासाराम में खुद रामेश्वर चौरसिया हैं और दिनारा में राजेंद्र सिंह। पाला बदलने के पहले तक दोनों को भाजपा के बड़े नेताओं में शुमार किया जाता था, लेकिन अभी लोजपा के टिकट पर जदयू प्रत्याशियों की परेशानी बढ़ाने में जुटे हैं।

बागियों का बोलबाला

- Advertisement -

प्रधानमंत्री की सासाराम रैली से आसपास के जिलों के 25 विधानसभा क्षेत्रों को वर्चुअल तरीके से जोड़ा गया है। इनमें दोनों दलों की भागीदारी 12-12 सीटों की है और एक सीट वीआइपी के हिस्से में। जमीनी रिपोर्ट है कि लोजपा के टिकट पर भाजपा और जदयू के सबसे ज्यादा बागी इन्हीं 25 सीटों पर हैं। रोहतास में रामेश्वर चौरसिया और राजेंद्र सिंह की खुली बगावत के अलावा भितरघात का भी खेल है। आरा में भाजपा के बागी हाकिम प्रसाद हैं। संदेश में लोजपा के टिकट पर भाजपा महिला मोर्चा पदाधिकारी श्वेता सिंह मैदान में उतर आई हैं। कई सीटों पर जदयू अपने ही बागियों से परेशान है। डुमरांव में जदयू ने विधायक ददन पहलवान को बेटिकट कर दिया तो निर्दलीय ही ताल ठोक दी। जगदीशपुर में श्रीभगवान सिंह जदयू के बागी हैं। टिकट नहीं मिला तो लोजपा से उतर गए। 2015 के विधानसभा चुनाव में राजपुर से भाजपा के प्रत्याशी रह चुके विश्वनाथ राम को अबकी कांग्र्रेस ने प्रत्याशी बना दिया है। वीआइपी के हिस्से में गई प्रथम चरण की एकमात्र सीट ब्रह्मïपुर पर हुलास पांडेय भी ताल ठोक रहे हैं। पहले जदयू के विधान पार्षद थे। अबकी लोजपा ने उन्हें अंगीकार कर लिया है।

- Advertisement -

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Khabar Satta Deskhttps://khabarsatta.com
खबर सत्ता डेस्क, कार्यालय संवाददाता

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

11,007FansLike
7,044FollowersFollow
783FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

Seoni Bhukamp News: सिवनी में कल रात्रि 3.3 रिक्टर के भूकंप के झटके दर्ज, अगले 24 घंटे सावधान रहें

Seoni Bhukamp News: सिवनी में दिनांक 26 अक्टूबर 2020 की रात्रि में 3.3 रिक्टर के भूकंप झटके...

नितिन गडकरी बोले, NHAI में बोझ बने अफसरों से छुटकारा पाने का समय

नई दिल्ली। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआइ) में काम की सुस्त रफ्तार पर नाराजगी जताई है।...

Arnab Goswami मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कहा, कुछ लोगों को अधिक संरक्षण की है जरूरत

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को कहा कि कुछ व्यक्तियों को अधिक गंभीरता से निशाना बनाया जाता है और उन्हें अधिक संरक्षण की...

महबूबा मुफ्ती को परिवार के साथ पाकिस्तान चले जाना चाहिए: नितिन पटेल

अनुच्छेद 370 समाप्त करने को लेकर पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती के हालिया बयान पर नाराजगी जताते हुए गुजरात के उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने...

CDS जनरल बिपिन रावत, सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवाने ने राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर अर्पित की श्रद्धांजलि

नई दिल्ली। चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत और सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवाने ने मंगलवार को इन्फैंट्री डे पर राष्ट्रीय युद्ध...