Home देश Private अस्पताल में मरीज की मौत, परिवार ने डॉक्टरों पर लगाए गंभीर आरोप

Private अस्पताल में मरीज की मौत, परिवार ने डॉक्टरों पर लगाए गंभीर आरोप

जालंधर:  जे.पी. नगर स्थित अग्रवाल अस्पताल एक बार फिर उस समय सुर्खियों में आ गया जब यहां डाक्टर की लापरवाही के कारण एक सरकारी कर्मचारी की मौत हो गई। मृतक के परिजनों ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि डाक्टरों की लापरवाही के कारण उनके घर के सदस्य की जान गई है। मृतक की पहचान सत्तपाल पुत्र बलदेव कुमार निवासी बस्ती गुज़ा के रूप में हुई है। सत्तपाल बस्ती दानिशमंदा स्थित सरकारी डिस्पेंसरी में दर्जा चार का कर्मचारी था।

जानें क्या है पूरा मामला
मृतक के भाई ने बताया कि सत्तपाल को सोमवार सेहत ख़राब होने के कारण अग्रवाल हस्पताल में दाख़िल करवाया गया था और शाम को डाक्टरों की तरफ से छुट्टी दे दी गई थी। उस समय डाक्टरों ने अगले दिन फिर से अस्पताल लेकर आने के लिए कहा। उन्होंने बताया कि मंगलवार जब फिर से अस्पताल में दाख़िल करवाया गया तो डाक्टरों ने खून चढ़ाने की बात कही।

- Advertisement -

स्टाफ ने बताया ब्लड ग्रुप गलत
यहां लैब की तरफ से टैस्ट करने के बाद स्टाफ ने ‘ए’ पॉजिटिव ब्लड लाने के लिए कहा। इसके बाद परिवार वाले जब सिविल अस्पताल ब्लड लेने गए तो वहां की लेबोरेटरी की तरफ से टैस्ट करने के बाद मरीज़ का ब्लड ग्रुप ‘ओ’ पॉजिटिव बताया गया। बाद में डाक्टरों को जब आकर यहां बताया गया तो यहां से डाक्टर मुनीश अग्रवाल ने सिविल अस्पताल की कारगुज़ारी पर भी सवाल खड़े किए। बाद में बाहर से किसी प्राईवेट लैब में से टैस्ट करवाया गया तो फिर ‘ओ’ पॉजिटिव ही निकला जबकि इस अस्पताल की तरफ से ‘ए’ पॉजिटिव लाने के लिए कहा गया था। उन्होंने कहा कि फिर साढ़े 3 बजे के करीब ब्लड लाया गया, जोकि मरीज़ को चढ़ाया ही नहीं गया। डाक्टरों ने शाम करीब साढ़े 7 बजे के बाद में किसी अन्य अस्पताल में मरीज़ को लेकर जाने के लिए कह दिया। उन्होंने बताया कि मरीज़ को जब किसी अन्य अस्पताल में ले जाने के लिए एंबुलेंस लाई गई और बाहर करीब आधे घंटे तक एंबुलेंस भी खड़ी रही।

यह भी पढ़े :  संविधान दिवस पर आज पीएम मोदी करेंगे संबोधित, देश भर के भाजपा कार्यकर्ताओं से करेंगे संवाद
यह भी पढ़े :  नगरोटा साजिश के पीछे था पाक का हाथ! आतंकियों के पास से मिले डिवाइस ने खोले कई राज

बाद में मरीज़ को डिसचार्ज करने के दौरान पता लगा कि मरीज़ की पहले ही मौत हो चुकी थी जबकि डाक्टरों की तरफ से मरीज़ की मौत के बारे कुछ नहीं बताया गया। परिवार वालों का आरोप है कि अस्पताल प्रशासन ने उन्हें यह तक नहीं बताया कि मरीज़ की मौत हो चुकी है। बाद में परिवार वालों की तरफ से अस्पताल के बाहर जमकर हंगामा किया गया। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे थाना बस्ती बावा खेल की पुलिस ने शव को कब्ज़े में लेकर सिविल अस्पताल में रखवा दिया है, जहां पोस्टमार्टम के बाद लाश परिवार के हवाले की जाएगी। बस्ती थाना बावा खेल के एस.एच. ओ. ने अनिल कुमार ने बताया कि मृतक के परिवार वालों की तरफ से उन्हें इस संबंधित शिकायत दे दी गई है और पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद अगली कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि इससे पहले भी इस निजी अस्पताल में से ऐसे केस सामने आ चुके हैं।

- Advertisement -

Leave a Reply

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Khabar Satta Deskhttps://khabarsatta.com
खबर सत्ता डेस्क, कार्यालय संवाददाता

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

11,263FansLike
7,044FollowersFollow
785FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

उत्तर प्रदेश में धर्मांतरण संबंधी कानून आज से लागू, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने दी मंजूरी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विधि विरुद्ध धर्म परिवर्तन प्रतिषेध अध्यादेश 2020 लागू हो गया है। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने...
यह भी पढ़े :  संविधान दिवस पर आज पीएम मोदी करेंगे संबोधित, देश भर के भाजपा कार्यकर्ताओं से करेंगे संवाद

राज्यों सरकारों से सुप्रीम कोर्ट नाराज, कहा- राजनीति से ऊपर उठकर कोविड-19 को करो काबू

देश में कोरोना के लगातार बिगड़ रहे हालात को लेकर  उच्चतम न्यायालय ने राज्य सरकारों का फटकार लगाई। कोर्ट ने कहा क कोविड-19 के...

PM मोदी के अहंकार ने जवान और किसान को आमने सामने खड़ा कर दिया: राहुल गांधी

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने किसानों को दिल्ली आने से रोकने के लिए सैनिकों के इस्तेमाल की आलोचना करते हुए कहा है...

CM शिवराज के निर्देश के बाद ईरानियों के अवैध कब्जे पर चला बुल्डोजर, भारी पुलिस बल तैनात

भोपाल: भोपाल में ईरानियों के अवैध कब्जे पर आज जिला प्रशासन की टीम बड़ी कार्रवाई कर रही है। इसके मद्देनजर पुलिस की टीम ने...

सरकार की सख्ती पर भड़के किसान, जैजी बी और दिलजीत ने ‘वाहेगुरु’ के आगे की अरदास

जालंधर: केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ 'दिल्ली चलो' मार्च के तहत किसानों का आंदोलन जारी है। इस बीच दिल्ली सरकार ने...
x