Home देश यूपी फिल्म सिटी निर्माण पर बोले सीएम योगी आदित्यनाथ- हम यहां कुछ...

यूपी फिल्म सिटी निर्माण पर बोले सीएम योगी आदित्यनाथ- हम यहां कुछ लेने नहीं, नया बनाने आए

0
42

मुंबई। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) में बेल रिंगिंग सेरेमनी का आयोजन हमारे लिए ऐतिहासिक है, क्योंकि यह उत्तर भारत के किसी म्युनिसिपल कॉरपोरेशन द्वारा जारी किया गया पहला बॉन्ड है। उत्तर प्रदेश के नगर निकायों की कार्य पद्धति में रिफॉर्म की दृष्टि से यह एक क्रांतिकारी कदम है। मुंबई यात्रा के दौरान बुधवार को पत्रकारों से बातचीत में सीएम योगी ने कहा कि नगर निगम बॉन्ड जारी करने से ना सिर्फ इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट में मदद मिलेगी बल्कि जनता को बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने की शासन की प्रतिबद्धता पर भी हम खरा उतर पाएंगे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी फिल्म सिटी निर्माण पर कहा कि हम यहां कुछ लेने नहीं बल्कि नया बनाने आए हैं। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति को बड़ा बनना पड़ेगा, बड़ी सोच पैदा करनी होगी और बेहतर सुविधाएं देनी होंगी। जो सुविधाएं दे पाएगा, लोग वहां जाएंगे और उत्तर प्रदेश इसके लिए तैयार है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश में जो कार्यक्रम हम लोगों ने प्रारंभ किए हैं, उसके कारण पिछले तीन वर्षों के दौरान प्रदेश में निवेश की संभावनाएं बढ़ी हैं। इसके परिणाम स्वरूप तीन लाख करोड़ से अधिक का निवेश प्रदेश में हुआ है। शासन की कार्यपद्धति में पारदर्शिता और शुचिता के कारण लोग भी उत्तर प्रदेश में और अधिक निवेश करने के इच्छुक हैं। इसको लेकर आज हमारी अलग-अलग क्षेत्र से जुड़े लोगों के साथ चर्चा हुई है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम उत्तर प्रदेश में विश्वस्तरीय फिल्म सिटी के निर्माण को आगे बढ़ा रहे हैं। इस विषय में फिल्म जगत से जुड़े निर्माताओं, निर्देशकों, एक्टरों और फिल्म जगत से जुड़े विभिन्न पक्षों के जानकारों के साथ हमारी व्यक्तिगत और सामूहिक रूप से चर्चा हुई है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में इतनी बड़ी आबादी को सुरक्षित करने के साथ ही अब अधिक निवेश के माध्यम से भारत की इकॉनमी को पांच ट्रिलियन डॉलर की बनाने की दृष्टि से हम यह कार्यक्रम कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि यूपी में फिल्म सिटी निर्माण के लिए न तो हम किसी के निवेश को नुकसान पहुंचा रहे हैं और न ही हम किसी के विकास में बाधा डाल रहे हैं। हम सभी का उद्देश्य देश की इकोनॉमी उन्नति करे और निवेशकों आकर्षित है। यह निवेशकों को आकर्षित करते हुए ‘पिक एंड चूज’ नहीं है. क्योंकि सरकार ने सरार्टोरियल पॉलिसी बनाई है जिसके आधार पर कोई भी निवेशक कहीं भी निवेश करने का फैसला करता है। यह सरकार में विश्वास के बारे में है।

यह भी पढ़े :  अयोध्या ढांचा ध्वंस केस के फैसले के खिलाफ याचिका पर सुनवाई टली, हाई कोर्ट ने कहा- पहले दुरुस्त करें गलतियां

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here