Home देश याेगी सरकार ने लव जिहाद कानून काे दी मंजूरी, साधू संतों ने फैसले का किया स्वागत

याेगी सरकार ने लव जिहाद कानून काे दी मंजूरी, साधू संतों ने फैसले का किया स्वागत

प्रयागराज: उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने जबरन धर्म परिवर्तन मामले को लेकर सख्त है। इसे देखते हुए सरकर ने कैबिनेट में एक अध्यादेश लाया है। जिसे पूर्ण बहुमत से पास भी कर दिया गया है। वहीं सरकार के इस फैसले से साधू संतों की सबसे बड़ी संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है। बता दें कि इस कानून की मांग संत समाज, विश्व हिन्दू परिषद के लोग कर रहे थे जिसे योगी सरकार की कैबिनेट में इस पर मुहर लगा दी है।

महंत नरेन्द्र गिरी ने कहा है कि इस नये कानून के अस्तित्व में आ जाने से लव जिहादज् और जबरन धर्म परिवर्तन की घटनाओं पर भी रोक लगेगी।  इस अभियोग को प्रथम श्रेणी मजिस्ट्रेट के न्यायालय में ट्रायल का प्राविधान किया गया है। इसके तहत उल्लंघन करने पर कम से कम 1 वर्ष अधिकतम 5 वर्ष की सजा का प्रावधान किया गया है और जुर्माने की राशि 15,000 रुपए से कम नहीं होने का प्रावधान किया गया है,

- Advertisement -

जबकि अवयस्क महिला, अनुसूचित जाति या अनुसूचित जनजाति की महिला के सम्बन्ध में कारावास कम से कम 02 वर्ष अधिकतम 10 वर्ष तक का होगा और जुर्माने की राशि 25,000 रुपए से कम नहीं होगी।

यह भी पढ़े :  Republic Day Parade में राफेल विमान की दस्तक, पहली महिला फाइटर पायलट होंगी भावना कंठ
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Khabar Satta Deskhttps://khabarsatta.com
खबर सत्ता डेस्क, कार्यालय संवाददाता

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

12,576FansLike
7,044FollowersFollow
781FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

Kangana Ranaut के चैट वाले ट्वीट पर स्वरा भास्कर ने किया रिएक्ट, कहा- ‘आपका सेंस ऑफ ह्यूमर सबसे…’

नई दिल्ली। इन दिनों टीवी पत्रकार अर्नब गोस्वामी की व्हाट्सएप चैट काफी चर्चा में हैं। इन चैट्स में बॉलीवुड...
यह भी पढ़े :  Agra-Lucknow Expressway Bus Accident: आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर हुआ बड़ा बस हादसा, एक की मौत

ओडिशा की राजधानी में अब किन्नर वसूलेंगे पार्किंग शुल्क, बीएमसी की अनूठी पहल