Tuesday, September 27, 2022
Homeदेशनिकिता हत्याकांड पर फूटा कंगना का गुस्सा, कहा- इस्लाम स्वीकार नहीं किया...

निकिता हत्याकांड पर फूटा कंगना का गुस्सा, कहा- इस्लाम स्वीकार नहीं किया तो लड़की को उतार दिया मौत के

- Advertisement -

हरियाणा के फरीदाबाद जिले के बल्लभगढ़ शहर में कॉलेज से पेपर देकर बाहर निकली एक छात्रा निकिता तोमर(21) की मुस्लिम समुदाय के एक युवक तौसीफ ने सोमवार शाम दिन दहाड़े गोली मार कर हत्या कर दी। इस मामलें में अब कंगना रनौत ट्वीट करते हुए गुस्सा जाहिए किया है। उन्होंने कहा कि फ्रांस में जो हुआ उस पर पूरी दुनिया अचंभित रह गई थी, इसके बावजूद इन जिहादियों को कोई शर्म और लॉ एंड आर्डर का कोई भय नहीं है। एक हिन्दू लड़की की दिनदहाड़े कॉलेज के सामने हत्या इसलिए कर दी गई कि उसने इस्लाम स्वीकार करने से इंकार कर दिया था। तत्काल कार्रवाई हो।

क्या है मामला
आपकों बतां दे कि घटना अग्रवाल कॉलेज के सामने की सड़क पर हुई जब पेपर देने के बाद बाहर निकली बीकॉम अंतिम वर्ष की छात्रा निकिता का तौसीफ ने पिस्तौल की नोक पर अपहरण करने और कार में बिठाने का प्रयास किया। लेकिन निकिता के विरोध करने पर आरोपी जब अपने मंसूबों को अंज़ाम देने में विफल रहा तो उसने छात्रा को गोली मार दी जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। इस दौरान आरोपी का दूसरा साथी कार में बैठा हुआ था। निकिता को उसकी सहयोगी ने बचाने का प्रयास किया लेकिन वह इसमें नाकाम रही। आरोपी वारदात के बाद फरार हो गये। यह पूरी घटना वहां लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। सूत्रों के अनुसार पुलिस ने उनमें से तौसीफ को बाद में गिरफ्तार कर लिया और दूसरे युवक की तलाश कर रही है। आरोपी मेवात के रोजका मेव गांव का रहने वाला बताया जाता है।

- Advertisement -

 निकिता का किया गया था अपरहण का प्रयास
उधर परिजनों का कहना है कि आरोपी ने वर्ष 2018 में ही निकिता के अपहरण का प्रयास किया था। वह उसे मुस्लिम बना कर उससे शादी करने का दबाव बना रहा था। उस वक्त पुलिस में आरोपी की शिकायत की गई थी। लेकिन उस समय पुलिस के कथित दबाव और कोई आरोपी के खिलाफ कोई कारर्वाई नहीं किये जाने पर उन्होंने लोकलाज के चलते समझौता कर लिया। उन्होंने कहा कि पुलिस की इस ढिलाई की निकिता को अपनी जान देकर कीमत चुकानी पड़ी। इस घटना से गुस्साये परिजन, सम्बंधी और अनेक संगठनों के लोग धरने पर बैठ गए हैं। उनकी मांग है कि प्रशासन एसआईटी गठित कर इस मामले में जल्द जांच पूरी करे और फास्टट्रैक अदालत में मामला चला कर आरोपियों को फांसी की सज़ा सुनिश्चित करे। छात्रा के एक रिश्तेदार हाकिम सिंह ने बताया,च्वह लड़की पर बार-बार मुस्लिम बनने के लिए दबाव डाल रहा था। तीन साल पहले भी उसने वारदात की थी लेकिन तब हमने पंच फैसले से मामला निपटा लिया था। अब लड़के ने फिर लड़की को फोन किया कि मुसलमान बन जा हम शादी कर लेंगे। लड़की ने इनकार कर दिया तो अपहरण की कोशिश की गई। अपहरण में नाकाम रहने पर गोली मारकर हत्या कर दी। प्रशासन से हमारी मांग है कि एसआईटी गठित कर मामले की जांच कराई जाए और फास्ट ट्रैक कोर्ट में मामले की सुनवाई कराई जाए।

- Advertisement -
Khabar Satta Desk
Khabar Satta Deskhttps://khabarsatta.com
खबर सत्ता डेस्क, कार्यालय संवाददाता
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments

WhatsApp Join WhatsApp Group