Home देश भारतीय नौसेना की बढ़ी ताकत, समुद्र में शान से उतरी ‘वागिर’ तो चीन की चिंता बढ़ी

भारतीय नौसेना की बढ़ी ताकत, समुद्र में शान से उतरी ‘वागिर’ तो चीन की चिंता बढ़ी

नई दिल्‍ली। लद्दाख में सीमा पर चीन से तनातनी के बीच भारत लगातार अपनी सैन्य ताकत में इजाफा कर रहा है। इसी क्रम में गुरुवार को भारतीय नौसेना की स्कॉर्पीन श्रेणी की पांचवीं पनडुब्बी वागिर को मुंबई स्थित मझगांव डॉकयार्ड से मुख्य अतिथि व रक्षा राज्यमंत्री श्रीपद नाइक की पत्नी विजया ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये लांच किया।

ऐसे पड़ा नाम : वागिर हिंंद महासागर में पाई जाने वाली एक शिकारी मछली है, जो बेहद खतरनाक होती है। पहली वागिर पनडुब्बी रूस से आई थी। उसे 3 दिसंबर, 1973 को नौसेना में शामिल किया गया था और 7 जून, 2001 को सेवामुक्त कर दिया गया।

- Advertisement -

कलवरी श्रेणी

  • वागिर कलवरी श्रेणी की छह पनडुब्बियों का हिस्सा है, जिनका निर्माण भारत में किया जा रहा है।
  • इन्हें फ्रांसीसी नौसेना एवं ऊर्जा कंपनी डीसीएनएस ने डिजाइन किया है।
  • इनका निर्माण भारतीय नौसेना के प्रोजेक्ट-75 के अंतर्गत मेक इन इंडिया अभियान के तहत किया जा रहा है।
  • इस श्रेणी की पहली पनडुब्बी कलवरी है। अन्य तीन पनडुब्बियां खंडेरी, करंज व वेला हैं।
  • कलवरी व खंडेरी नौसेना में शामिल हो चुकी हैं, जबकि करंज का समुद्री ट्रायल चल रहा है।
  • चौथी पनडुब्बी वेला का समुद्री ट्रायल हो चुका है, जबकि छठी वागशीर को भी जल्द लांच किया जाएगा।

खासियत

  • सतह व पनडुब्बी रोधी युद्ध, खुफिया सूचना एकत्र करने, सुरंग बिछाने व निगरानी में माहिर।
  • दुश्मन के रडार को आसानी से चकमा देने में माहिर।
  • टारपीडो हमले के साथ ट्यूब के जरिये छोड़ी जानी वाली पोतरोधी मिसाइल भी लांच करने में सक्षम।
  • अन्य पनडुब्बियों से अलग पानी में छिपने में माहिर।
  • आवाज कम करती है और इसका आकार इसे पानी में तेजी से चलने में मदद करता है।
- Advertisement -
यह भी पढ़े :  चीन के साथ तनाव के बीच भारत को मिला श्रीलंका और मालदीव का साथ

इनका क्‍‍‍‍या है कहना 

स्‍‍‍‍कार्पीन निर्माण हमारे लिए चुनौती थी। इस सरल कार्य की जटिलता बढ़ गई थी, क्योंकि सभी काम कम जगह में पूरे करने थे।

- Advertisement -

मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लि.

यह भी पढ़े :  किसानों का 'दिल्ली चलो' विरोध प्रदर्शन आज, दिल्ली- हरियाणा बॉर्डर पर भारी पुलिस बल तैनात, ड्रोन से रखी जा रही नजर

आइएनएस वागिर के लांच पर भारतीय नौसेना व मझगांव डॉक को बधाई। रक्षा उद्योग में भारत व फ्रांस की पुरानी साझेदारी की एक और बड़ी उपलब्धि।

इमैनुएल लेनिन, भारत में फ्रांस के राजदूत

कलवरी श्रेणी की दो पनडुब्बियां नौसेना की सेवा में हैं। उम्मीद है कि बाकी चारों भी जल्द शामिल हो जाएंगी।

वाइस एडमिरल आरबी पंडित, पश्चिमी नौसेना कमान प्रमुख

- Advertisement -

Leave a Reply

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Khabar Satta Deskhttps://khabarsatta.com
खबर सत्ता डेस्क, कार्यालय संवाददाता

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

11,273FansLike
7,044FollowersFollow
783FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

भारत में कोरोना की वैक्सीन जनवरी तक आने की उम्मीद, ट्रायल अंतिम चरण मेंः गुलेरिया

नई दिल्ली। भारत में कोरोना की वैक्सीन को लेकर एम्स दिल्ली के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया ने करोड़ों लोगों को...
यह भी पढ़े :  किसान आंदोलन: कनाडा के PM ट्रूडो को भारत का जवाब- हमारे मामलों में दखल देने की ना करो कोशिश

अमेरिकी में स्थायी निवास और ग्रीन कार्ड में भी अब राहत

वाशिंगटन। अमेरिका में रहने वाले भारतीय पेशेवरों के लिए सीनेट ने एक प्रस्ताव पारित कर राहत भरी खबर दी है। सीनेट से सर्वसम्मति से प्रस्ताव...

हाफिज सईद के बाद जमात-उद-दावा के प्रवक्ता को पाक अदालत ने सुनाई सजा, 15 साल रहेगा जेल में

लाहौर। पाकिस्तान में मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के बाद जमाद-उद-दावा के प्रवक्ता, याहया मुजाहिद को पाकिस्तान अदालत ने सजा सुनाई है। एब...

रेट्रो के सफ़र पर ले जाएगा कियारा आडवाणी की फ़िल्म ‘इंदू की जवानी’ का नया गाना, देखें वीडियो

नई दिल्ली। हिंदी सिनेमा चाहे जिस दौर में पहुंच जाए, मगर रेट्रो का सुरूर ज़हन से नहीं जाता। फ़िल्ममेकर्स किसी ना किसी बहाने दर्शकों को...

Bigg Boss 14: एजाज़ ख़ान और जैस्मिन भसीन ने एक दूसरे के कैरेक्टर पर उछाला कीचड़, बोले- ‘भाड़े का कैरेक्टर’

नई दिल्ली। टीवी एक्ट्रेस जैस्मिन भसीन जब ‘बिग बॉस 14’ में आई थीं तब दर्शकों को उनकी एक अलग पर्सनैलिटी देखने को मिली थी।...
x