Sunday, January 29, 2023
HomeदेशCigarette Ban In India: देश में लगने वाली है 'सिंगल सिगरेट सेल'...

Cigarette Ban In India: देश में लगने वाली है ‘सिंगल सिगरेट सेल’ पर रोक? बड़ा फैसला लेने को तैयार मोदी सरकार?

खुली सिगरेट की बिक्री: केंद्र सरकार ने तीन साल पहले ई-सिगरेट की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया था

- Advertisement -

खुली सिगरेट की बिक्री बंद कर सकती है केंद्र सरकार: इस बात की प्रबल संभावना है कि केंद्र सरकार खुली सिगरेट यानी सिंगल सिगरेट की बिक्री पर रोक लगाएगी. 

यह निर्णय तंबाकू उत्पादों की खपत को नियंत्रित करने के उद्देश्य से लिए जाने की संभावना है। कई समाचार पत्रों ने बताया है कि संसद की स्थायी समिति ने देश में तम्बाकू उत्पादों की खपत को सीमित करने के उद्देश्य से सरकार को एक सिफारिश की है।

- Advertisement -

एक संसदीय स्थायी समिति ने संसद को सौंपी अपनी रिपोर्ट में एकल सिगरेट की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने की सिफारिश की है। समिति ने रिपोर्ट में कहा है कि तंबाकू उत्पादों के सेवन को कम करने के लिए यह फैसला फायदेमंद होगा. 

समिति अप्रत्यक्ष रूप से मानती है कि एकल सिगरेट की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने से धूम्रपान करने वालों की संख्या में कमी आएगी। समिति का अनुमान है कि केंद्र सरकार द्वारा तंबाकू सेवन के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान में एकल सिगरेट की बिक्री पर प्रतिबंध एक बहुत महत्वपूर्ण और मात्रात्मक निर्णय हो सकता है। 

- Advertisement -

केंद्र सरकार ने तीन साल पहले ई-सिगरेट की बिक्री और इस्तेमाल पर रोक लगा दी थी। यह घोषणा वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने की। यह फैसला स्वास्थ्य मंत्रालय ने लिया है।

समिति ने यह भी कहा है कि केंद्र सरकार को विश्व स्वास्थ्य संगठन के नियमों का हवाला देते हुए तंबाकू उत्पादों के आयात पर 75 फीसदी जीएसटी लागू करना चाहिए. 

- Advertisement -

अभी बीड़ी पर 22 फीसदी और सिगरेट पर 55 फीसदी जीएसटी लगता है। जबकि धुंआ रहित तंबाकू पर 64 प्रतिशत जीएसटी लगाया जाता है।हालांकि जीएसटी के माध्यम से कर संरचना में बदलाव किया गया है, समिति ने देखा है कि तंबाकू उत्पादों पर कर नहीं बढ़ाया गया है।

इस कमेटी की रिपोर्ट में भी इस बात का जिक्र किया गया है कि तंबाकू और शराब के सेवन से कैंसर का खतरा बढ़ जाता है। भारत में सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान करना अपराध है। 

सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान करते पाए जाने पर 200 रुपए तक का जुर्माना लगाया जा सकता है। साथ ही तंबाकू उत्पादों के विज्ञापन पर भी कुछ प्रतिबंध लगाए गए हैं।

- Advertisement -
Khabar Satta
Khabar Sattahttps://khabarsatta.com
खबर सत्ता डेस्क, कार्यालय संवाददाता
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments