Home देश Bihar Assembly Election: मुजफ्फरपुर की बोचहां विधायक ने सिंबल वापसी का बदला सिंबल वापस कर लिया या यह उनका...

Bihar Assembly Election: मुजफ्फरपुर की बोचहां विधायक ने सिंबल वापसी का बदला सिंबल वापस कर लिया या यह उनका हृदय परिवर्तन था?

Bihar Assembly Election: Did the Bochhan MLA from Muzaffarpur withdraw the symbol or was it his change of heart?

मुजफ्फरपुर। बिहार विधानसभा चुनाव 2020 (Bihar Assembly Elections)के दौरान मुजफ्फपुर (Muzaffarpur) चुनाव से पहले ही शीर्ष स्तर के राजनीतिक घटनाक्रम का गवाह बना हुआ है। पिछले एक सप्ताह के दौरान हर बदलते दिन के साथ राजनीति का बिल्कुल नया रूप ही सामने होता था। हालांकि अब बहुचर्चित बोचहां (Bochhan) विधायक बेबी कुमारी (Baby Kumari) प्रकरण का पटाक्षेप हो गया लगता है। बावजूद, जनता के मन में एक अनुत्तरित सा सवाल है कि लोजपा (LJP) को सिंबल वापस करना हृदय परिवर्तन था या फिर सिंबल वापसी का बदला सिंबल वापस कर लिया गया।

Bihar Assembly Election भाजपा (BJP) व लोजपा के नेताओं से बात करने की कोशिश

जब इस मुद्​दे पर खुद बेबी कुमारी, भाजपा (BJP) व लोजपा के नेताओं से बात करने की कोशिश की गई तो किसी ने भी आधिकारिक रूप से कुछ भी कहने से साफ तौर पर इंकार कर दिया। एक-दो मुंह खोलने के लिए तैयार भी हुए तो उन्होंने नाम नहीं छापने की शर्त रख दी। खैर, सबने एक कॉमन बात कही। वह यह कि वर्ष 2015 में लोजपा ने जिस तरह से बेबी कुमारी से सिंबल वापस लिया था, वह असहज करने वाली स्थिति थी। यही वजह थी कि उसका परिणाम भी उस चुनाव में अप्रत्याशित ही देखने को मिला। लेकिन, इसका यह कतई अर्थ नहीं लगाया जाना चाहिए कि बेबी कुमारी ने इस बार लोजपा को जो सिंबल वापस किया, उसमें कहीं से भी बदला लेने की बात थी। इसे एक सहज राजनीतिक प्रक्रिया कहना ही बेहतर होगा।

- Advertisement -
यह भी पढ़े :  देश में कोरोना से अब तक 86 लाख से ज्यादा लोग हुए ठीक, एक्टिव केस बढ़े

प्रेक्षकों का मानना है कि यदि इस घटना को एक संदर्भ के रूप में देखा जाए तो चीजें साफ हो जाएंगी। तमाम प्रयास के बाद भी जब बेबी का टिकट कट जाता है तो वह भावावेश में आ जाती हैं। जो सहज भी है। इसके बाद प्रेस कांफ्रेंस कर कई तरह के आरोप लगाती हैं और वहीं वैशाली सांसद वीणा देवी (Veena Devi) उन्हें लोजपा से सिंबल दिलाने की बात कह देती हैं। इसके बाद उन्हें सिंबल मिल भी जाता है।

यह भी पढ़े :  अभी टला नहीं तूफान का खतरा, चेन्नई में चल रही तेज हवा; बंद रहेगा एयरपोर्ट

सूत्रों का कहना है कि इस समय तक घटनाक्रम जो बाहर दिख रहा था, वैसा ही अंदर भी था। लेकिन, असली कहानी इसके बाद शुरू हुई। बेबी कुमारी के वीआइपी (VIP) पर आक्रामक रुख को देखते हुए यहां भाजपा नेताओं का हस्तक्षेप शुरू होता है। क्योंकि बेबी कुमारी प्रकरण से एक मैसेज यह भी जा रहा था कि भाजपा अपने कार्यकर्ता को बैकअप नहीं देती है। ख्याल नहीं रखती। जब भाजपा नेताओं ने डैमेज कंट्रोल शुरू किया तो बेबी कुमारी को बोचहां का पूरा गणित बताया गया। खासकर, मुकेश सहनी (Mukesh Sahni) पर आक्रामक होने के बाद वहां के निषाद समाज की प्रतिक्रिया को समझाया गया। वर्ष 2015 और आज की स्थिति के अंतर को बताया गया। इसके साथ ही सरकार बनने की स्थिति में समायोजित करने का आश्वासन भी दिया गया। इसके बाद सिंबल वापस करने और पार्टी में ही बने रहने का उन्होंने फैसला किया।

- Advertisement -

Web Title : Bihar Assembly Election: Did the Bochhan MLA from Muzaffarpur withdraw the symbol or was it his change of heart?

- Advertisement -

Discount Code : ks10

NEWS, JOBS, OFFERS यहां सर्च करें

Khabar Satta Deskhttps://khabarsatta.com
खबर सत्ता डेस्क, कार्यालय संवाददाता

सोशल प्लेटफॉर्म्स में हमसे जुड़े

11,268FansLike
7,044FollowersFollow
785FollowersFollow
4,050SubscribersSubscribe

More Articles Like This

- Advertisement -

Latest News

Coolie No. 1 : क्रिसमस 2020 पर वरुण और सारा की कुली नं. 1 मचाएगी धमाल

Coolie No. 1 : क्रिसमस 2020 पर वरुण धवन और सारा अली ख़ान की कुली नं. 1 मचाएगी धमाल...
यह भी पढ़े :  अभी टला नहीं तूफान का खतरा, चेन्नई में चल रही तेज हवा; बंद रहेगा एयरपोर्ट

Durgamati Download: दुर्गामती मूवी डाउनलोड Telegram Link

Durgamati /Durgavati Movie Download: दुर्गामती/दुर्गावती मूवी टेलीग्राम से हो रही डाउनलोड Durgamati /Durgavati Movie Download: Full Movie Downloading Durgamati /Durgavati Movie Download: यहाँ से...

हैदराबाद नगर निगम के चुनाव में चर्चा का विषय बना यह मंदिर, जानें क्या है वजह?

हैदराबादः शहर में ऐतिहासिक चारमीनार के पास स्थित भाग्यलक्ष्मी मंदिर एक दिसंबर को होने वाले ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) के चुनाव प्रचार के दौरान...

चीन के साथ तनाव के बीच भारत को मिला श्रीलंका और मालदीव का साथ

भारत, श्रीलंका और मालदीव के शीर्ष सुरक्षा अधिकारियों ने सहयोग को और मजबूत बनाने तथा आम हितों के लिए शांति का माहौल सुनिश्चित करने...

किसानों के समर्थन में अन्ना हजारे, बोले- अन्नदाता की बात सुने सरकार…वो पाकिस्तानी नहीं

 केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों के समर्थन में सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे आगे आए हैं। अन्ना हजारे...
x