Homeदेशसुप्रीम कोर्ट से घर खरीदारों को बड़ी राहत, रेरा के बावजूद में...

सुप्रीम कोर्ट से घर खरीदारों को बड़ी राहत, रेरा के बावजूद में उपभोक्ता अदालत में कर सकते हैं रिफंड की मांग

- Advertisement -

नई दिल्ली। बिल्डर परियोजनाओं में देरी या समय पर कब्जा नहीं मिलने से परेशान होम बायर्स (घर खरीदार) को बड़ी राहत देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने एक अहम फैसले में सोमवार को कहा कि 2016 के रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवलपमेंट एक्ट (रेरा) के बावजूद होम बायर्स अपनी शिकायतों के लिए उपभोक्ता अदालतों का दरवाजा खटखटा सकते हैं। इनमें कब्जा मिलने में देरी के लिए ऐसी कंपनियों से मुआवजा और रिफंड हासिल करना शामिल है।

रियल एस्टेट कंपनी की दलील खारिज

- Advertisement -

जस्टिस यूयू ललित और जस्टिस विनीत सरन की पीठ ने अपने 45 पेज के फैसले में रियल एस्टेट कंपनी मैसर्स इम्पीरिया स्ट्रक्चर्स लिमिटेड की इस दलील को खारिज कर दिया कि रेरा लागू होने के बाद निर्माण और पूर्णता से संबंधित सभी सवालों का इस कानून के तहत निपटारा करना होगा और राष्ट्रीय उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग (एनसीडीआरसी) को उपभोक्ताओं की शिकायत पर सुनवाई नहीं करनी चाहिए थी।

आयोग कोई दीवानी अदालत नहीं

- Advertisement -

रेरा और उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम के विभिन्न प्रावधानों का जिक्र करते हुए पीठ ने विभिन्न फैसलों का हवाला दिया और कहा यद्यपि एनसीडीआरसी के समक्ष कार्यवाही न्यायिक है, फिर भी दीवानी प्रक्रिया संहिता (सीपीसी) के प्रावधानों के तहत आयोग दीवानी अदालत नहीं है। पीठ ने कहा, ‘रेरा कानून की धारा-79 किसी भी तरह उपभोक्ता संरक्षण कानून के प्रावधानों के तहत आयोग या फोरम को किसी शिकायत की सुनवाई करने से प्रतिबंधित नहीं करती।’

रियल एस्टेट कंपनियों की दलील ठुकराई

- Advertisement -

रेरा कानून लागू होने के बाद से रियल एस्टेट कंपनियां कहती रही हैं कि उपभोक्ता अदालतों को उनके खिलाफ होम बायर्स की शिकायतों की सुनवाई करने का अधिकार नहीं है। शीर्ष अदालत ने इस मसले का निपटारा करते हुए कहा कि यद्यपि 2016 के इस विशेष कानून में होम बायर्स के फायदे के कई प्रावधान है, इसके बावजूद उपभोक्ता अदालतों को होम बायर्स की शिकायतों की सुनवाई करते रहने का अधिकार है बशर्ते वे कानून के तहत उपभोक्ता की परिभाषा में आते हों।

संसद ने होम बायर्स को दिया विकल्प

पीठ ने कहा रेरा किसी व्यक्ति को ऐसी किसी शिकायत को वापस लेने के लिए कानूनन बाध्य नहीं करता और न ही रेरा के प्रावधानों में ऐसी लंबित शिकायतों को इस कानून के तहत स्थापित प्राधिकारियों को ट्रांसफर करने का तंत्र बनाया गया है। इससे संसद की मंशा स्पष्ट हो जाती है कि विकल्प या विवेक का अधिकार आवंटी को दिया गया है कि वह उपभोक्ता संरक्षण कानून के तहत कार्यवाही शुरू करना चाहता है या रेरा के तहत।

यह है मामला

मैसर्स इम्पीरिया स्ट्रक्चर्स लिमिटेड के खिलाफ हरियाणा के गुरुग्राम स्थित ईएसएफईआरए आवासीय योजना के दस होम बायर्स ने एनसीडीआरसी में शिकायत दर्ज कराई थी। उनका कहना था कि यह परियोजना 2011 में लांच हुई थी और 2011-12 में उन्होंने बुकिंग राशि का भुगतान किया था। कंपनी ने 42 हफ्ते में परियोजना पूरी करने का वादा किया था। कंपनी के साथ समझौते के मुताबिक प्रत्येक होम बायर्स ने करीब 63.5 लाख रुपये का भुगतान कर दिया था, लेकिन चार साल बाद भी उन्हें परियोजना पूरी होने के आसार दिखाई नहीं दिए तो 2017 में उन्होंने एनसीडीआरसी का दरवाजा खटखटाया। 2018 में एनसीडीआरसी ने कंपनी को नौ प्रतिशत ब्याज दर से होम बायर्स का पैसा चार हफ्ते में लौटाने और प्रत्येक को 50 हजार रुपये कानून खर्च के रूप में देने का आदेश दिया था। चार हफ्ते में राशि नहीं लौटाने पर ब्याज दर 12 प्रतिशत हो जाती। कंपनी ने इस फैसले को चुनौती दी थी, लेकिन शीर्ष अदालत ने इस फैसले को बरकरार रखा है।

- Advertisement -
spot_img
spot_img
Khabar Satta Deskhttps://khabarsatta.com
खबर सत्ता डेस्क, कार्यालय संवाददाता

Popular (Last 7 Days)

seoni-rishwat-case

सिवनी: जिला चिकित्सालय में कार्यरत ठेकेदार से रिश्वत लेते NRHM का कार्यपालन यंत्री Bhopal...

0
सिवनी 20 जुलाई (लोकवाणी) मध्यप्रदेश की विशेष स्थापना पुलिस लोकायुक्त जबलपुर ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन में पदस्थ प्रभारी कार्यपालन यंत्री ऋषभ जैन को सिवनी...
bijli

सिवनी: बंडोल परासिया में गिरी आसमानी बिजली, 4 झुलसे, 2 गंभीर

0
सिवनी। जनपद पंचायत सिवनी थाना क्षेत्र बंडोल के ग्राम पंचायत परासिया में मंगलवार को दोपहर आसमानी बिजली गिरने से 4 लोग झुलस गए।प्राप्त जानकारी के...
mp police vacancy

सिवनी का आरक्षक Chhindwara में कार से शराब Smuggling करता धराया, 5 लाख की...

0
छिंदवाड़ा। देहात पुलिस ने शनिवार देर रात उमरेठ मार्ग पर घेराबंदी कर एक कार और बाइक सवार को पकड़ा. तलाशी के दौरान कार में 60...

सिवनी से छिंदवाड़ा ले जा रहे थे Black Dog शराब, छिंदवाड़ा-नागपुर के आरोपित गिरफ्तार

0
सिवनी। पुलिस अधीक्षक सिवनी कुमार प्रतीक द्वारा अवैध गतिविधियों में नियंत्रण हेतु कारगर कार्यवाही हेतु सभी थाना प्रभारियो को निर्देशित किया गया हैं.जिसके पालन में...
aaropan-seoni

सिवनी: आरोपण पौधरोपण मुहिम में आज से जन जागरूकता अभियान की शुरुआत…!

0
सिवनी। आज दिनांक 18 जुलाई 2021 आरोपण संगठन द्वारा जैतपुर कला जिला सिवनी में किया गया पौधरोपण । पौधरोपण स्कूल, मंदिर में किया गया। साथ...
T-11-Baagh

सिवनी से भोपाल भेजा गया टी-11 बाघ की उपचार के दौरान मौत

0
भोपाल/ सिवनी । मध्यप्रदेश के सिवनी जिले के पेंच नेशनल पार्क से 13 जुलाई को घायल अवस्था में उपचार के लिये वन विहार भोपाल...
DHS Chhattisgarh Recruitment 2021

DHS Chhattisgarh Recruitment 2021: स्टाफ नर्स के 267 पदों पर हो रही भर्ती, जल्द...

0
DHS Chhattisgarh Recruitment 2021: स्वास्थ्य सेवा (डीएचएस) छत्तीसगढ़ भर्ती 2021: स्वास्थ्य सेवा (डीएचएस) निदेशालय, छत्तीसगढ़ द्वारा स्टाफ नर्स (Staff Nurse) के 267 पदों पर आवेदन...
mvm-seoni

सिवनी: कोरोना पॉजिटिव अभ्यर्थियों की परीक्षा होगी महर्षि विद्या मंदिर में – MPPSC Exam

0
सिवनी: म.प्र. लोक सेवा आयोग, इन्दौर के द्वारा राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा-2020 दिनांक 25 जुलाई 2021 दिन रविवार को जिला मुख्यालय सिवनी के 19 परीक्षा...
seoni kotwali

सिवनी: गोवंश के कुख्यात अपराधी हाकिम जमील का किया गया NSA, 08 नग गौवंश...

0
सिवनी। पुलिस अधीक्षक सिवनी कुमार प्रतीक द्वारा सभी राजपत्रित अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों को गौवंश की घटनाओं पर अंकुश लगाने हेतु निर्देशित किया गया है।दिनांक...
MP Police GK In Hindi 2020

MP Police GK In Hindi 2020 : म0प्र0 पुलिस भर्ती के लिए जरूरी जनरल...

0
MP Police GK In Hindi 2020 : म0प्र0 पुलिस जनरल नॉलेज 2020 MP Police GK In Hindi 2020 Hindi | मध्य प्रदेश पुलिस सामान्य...
- Advertisment -